Why we should always stay within the boundary of Gokul

Sadguru Shree Aniruddha tells us in his Hindi discourse of 29th December 2005, why should we always stay within the boundary of the Gokul in any situation by keeping full faith in Bhagwan Shree Krishna. Along with this, the unique relationship between Kshama(क्षमा), Radha, and Gokul is explained in simple words.

सद्गुरु श्री अनिरुद्ध हमे २९ दिसंबर २००५ के हिंदी प्रवचन व्हिडिओ में हमेशा भगवान श्रीकृष्ण पर पूर्ण विश्वास रख कर हम जैसे भी है, उस हालात में, उसके क्षेत्र(सीमा) में यानी गोकुल में क्यूँ रहना चाहिए, यह बता रहे है| साथ ही में क्षमा, राधा और गोकुल इन तीनों का अनोखा संबंध सरल शब्दों में बता रहे है|

 

Related Post

Leave a Reply