कोरियन क्षेत्र में तनाव बढ़ा

कोरियन देशों की समुद्री सीमा पर गोलीबारी – कोरियन क्षेत्र में तनाव

सेऊल – विवादित समुद्री सीमा का उल्लंघन करने का एक-दूसरें पर आरोप लगाकर उत्तर और दक्षिण कोरियन देशों की नौसेना ने गोलियां बरसायी। १२ साल पहले दोनों कोरियन देशों की नौसेना की इसी क्षेत्र में आमना-सामना होने के बाद गोलियाँ चली थी। इसके बाद दक्षिण कोरिया की नौसेना का जहाज डुबा था। इससे ४६ नाविक मारे गए थे। इस पृष्ठभूमि पर सोमवार की घटना के बाद कोरियन क्षेत्र में फिर से तनाव बना था। 

समुद्री सीमासोमवार सुबह करीबन ३.४२ बजे ‘नॉर्दन लिमिट लाईन-एनएलएल’ इस कोरियन समुद्री सीमा के करीब गोलीबारी हुई। बारबार चेतावनी देने के बावजूद उत्तर कोरिया के व्यापारी जहाज ने दक्षिण कोरिया के समुद्री क्षेत्र में प्रवेश किया। इस वजह से कम्युनिस्ट कोरियन जहाज को रोकने के लिए वॉर्निंग शॉटस्‌ चलाने पड़े, ऐसा दक्षिण कोरिया की सेा ने कहा है। करीबन ९० मिनीट बाद उत्तर कोरिया की नौसेना ने दक्षिण कोरियन जहाज़ की दिशा में दस गोलें बरसाए। इससे किसी भी तरह से जान का नुकसान नहीं हुआ, ऐसा दक्षिण कोरिया ने कहा है। 

उत्तर कोरिया के संभावित परमाणु परीक्षण के खिलाफ अमरीका के ‘बॉम्बर’ विमान गुआम में तैनात

वॉशिंग्टन – ‘किसी भी संभावित उकसावे की कोशिश का जवाब देने के लिए अमरीका अपने मित्र और सहयोगी देशों के साथ है, ऐसा संदेश देने के लिए गुआम द्वीप पर ‘बॉम्बर’ विमानों की तैनाती की गई है’, ऐसा ऐलान पेंटॅगॉन ने किया। सीधे ज़िक्र ना किया हो, फिर भी उत्तर कोरिया के संभावित परमाणु परीक्षण के खिलाफ और ताइवान को आश्वस्त करने के लिए अमरीका ने यह तैनाती की है, ऐसा दावा स्थानीय माध्यम कर रहे हैं। इसी बीच चीन के खतरे को रेखांकित करके अमरीका अपने ‘बॉम्बर’ विमानों का आधुनिकीकरण कर रही है, ऐसी खबरें भी चार दिन पहले प्रसिद्ध हुई थीं। 

परमाणु परीक्षणपिछले कुछ महीनों से बैलेस्टिक मिसाइल का लगातार परीक्षण करने वाले उत्तर कोरिया जल्द ही परमाणु परिक्षण कर सकता है। ऐसा इशारा दक्षिण कोरियन सेना दे रही है। उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण के लिए जमावड़ा शुरू किया है। इसकी वजह से पिछले परमाणु परीक्षण की तुलना में उत्तर कोरिया का अगला परीक्षण सबसे बड़ा और अमरीका के लिए चुनौती देनेवाला होगा, यह दावा किया जा रहा है। अपनी सुरक्षा को चुनौती दे रहे अमरीका के काफी दूर के शहरों पर परमाणु बम से हमला करने की धमकी उत्तर कोरिया ने पहले ही दी थी।

उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण की गतिविधियाँ शुरू करने से कोरियन क्षेत्र में सनसनी

सेऊल – मिसाइल परीक्षण करके कोरियन क्षेत्र में सनसनी निर्माण करनेवाले उत्तर कोरिया ने अब परमाणु परीक्षण की तैयारी जुटाई हैं। पिछले कुछ दिनों से उत्तर कोरिया हमें होनेवाले खतरों पर परमाणु हमले से जवाब दिया जाएगा, ऐसा धमकाया था। इसके बाद इस देश ने परमाणु परीक्षण के लिए शुरू की हुई गतिविधियों की वजह से दक्षिण कोरिया चौकन्ना हुआ हैं और दक्षिण कोरियन राष्ट्राध्यक्ष का दफ्तर पूरे समय स्टैण्डबाय पर होने की खबरें प्राप्त हो रही हैं। लेकिन, अमरीका ने दक्षिण कोरिया की रक्षा करने के लिए किए वज्र निर्धार को कोई भी अनदेखा ना करें, यह सुरक्षा परमाणु परीक्षण उभरनेवाले खतरे के खिलाफ भी कायम होगा, ऐसा दक्षिण कोरिया में स्थित अमरिकी राजदूत फिलिप गोल्डबर्ग ने कहा हैं।

परमाणु परीक्षणउत्तर कोरिया ने पिछले कुछ दिनों से गैरज़िम्मेदारा ढ़ंग से मिसाइल परीक्षण किए थे। अमरीका और दक्षिण कोरिया के युद्धाभ्यास पर अपनी यह प्रतिक्रिया हो का दावा उत्तर कोरिया ने किया था। साथ ही दक्षिण कोरिया के साथ अमरीका को भी परमाणु हमले की धमकियाँ दे रहें उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण की गतिविधियाँ शूर करने के संकेत प्राप्त हो रहे हैं। इसी वजह से दक्षिण कोरिया काफी सावधानी से इसे देख रहा हैं। उत्तर कोरिया से होनेवाले परमाणु खतरे के मद्देनज़र दक्षिण कोरिया में अमरीका परमाणु अस्त्र तैनात करें, ऐसी माँग दक्षिण कोरिया कर रहा था। दक्षिण कोरिया की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध अमरीका ने इसपर स्पष्ट शब्दों में इन्कार किया।

Read full Articles: www.newscast-pratyaksha.com/hindi/

 

Related Post

Leave a Reply