India

India is witnessing a very deficient monsoon this year that is threatening agriculture, industry and people equally. Yet states in North East and Western India have recently experienced floods that not only led to loss of lives and property but also led to wastage of the most precious resource of the 21st century, ‘WATER’. After hearing disheartening news about these floods, recently there was a news which caught me very happy and satisfied.

The Indian state of Andhra Pradesh took a historic step of interlinking Godavari and Krishna, the two of the most important rivers of the Deccan Plateau together. It was a decades’ pending development that is being seen as a major boost especially to the farmers who have been consistently facing intense water shortage. Incidentally this project namely Pattiseema Lift Irrigation Project was completed in record eight months ever since the work had commenced recently.

The commissioning of the project happened by performing of poojan at the hands of Chief Minister of Andhra Pradesh, N. Chandrababu Naidu a couple of weeks back. The project is situated near Vijayawada where the water of Godavari and Krishna are made to meet under this project. This event is particularly path breaking as it is claimed to be the first ever success at river interlinking in India, which is part of the larger project namely National Water Grid or the National River Linking Project.

अमरीका और चीन के बीच बढता तनाव

अमरीका-चीन के बीच जारी तनाव के कारण नया शीतयुद्ध शुरू होगा – अमरिकी कुटनीतिज्ञ हेन्री किसिंजर वॉशिंग्टन – अमरीका और चीन के बीच निर्माण हुआ तनाव विश्‍व की सबसे बड़ी समस्या साबित होती है। इस समस्या का हल निकालना संभव नहीं हुआ तो इससे पूरे विश्‍व के लिए खतरा निर्माण होगा। क्योंकि, यह तनाव कम करने में नाकामी हासिल हुई तो अमरीका और चीन के बीच अलग तरह का शीतयुद्ध

India-US-Ties

India-US cooperation scaling new heights while distrust increasing between India-China, claims US Admiral Aquilino Washington: – US Admiral John Aquilino made a very suggestive statement, ‘Military cooperation between India and the United States has reached unprecedented heights. Simultaneously, the trust between India and China has gone to an unbelievably low level.’  Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/english/indias-cooperation-us-reaching-new-heights/ Visit of the US Secretary of Defence concludes New Delhi: After holding discussions with Indian Defence

India-US-cooperation

भारत-चीन में अविश्‍वास बढ़ते समय, भारत का अमरीका के साथ सहयोग अधिक ऊँचाई को छू रहा है – अमरीका के ऍडमिरल ऍक्विलिनो का दावा वॉशिंग्टन – ‘भारत और अमरीका के बीच लष्करी सहयोग, पहले कभी नहीं था इतनी ऊँचाई पर पहुँचा है। उसी समय, भारत और चीन में अविश्वास, पहले कभी नहीं था इतने निचले स्तर पर गया है’, ऐसा सूचक बयान अमरीका के ऍडमिरल जॉन ऍक्विलिनो ने किया। जल्द

QUAD

Immediately after institutionalizing Quad with 1st #QuadSummit, its 4 members announce joint #NavalExercise with France in Bay of Bengal in April. This exercise points at first step towards expansion of Quad to #QuadPlus with 7+ nations keen to join. A serious warning to China. pic.twitter.com/8fKL9eBDhn — Samir Dattopadhye (@samirsinh189) March 16, 2021 QUAD cooperation to strengthen in the space sector, ISRO space projects with US, Japan and Australia Bengaluru: –

QUAD-India

अंतरिक्ष क्षेत्र में ‘क्वाड’ का सहयोग मज़बूत होगा – अमरीका, जापान, ऑस्ट्रेलिया की अंतरिक्ष संगठनों के साथ ‘इस्रो’ के प्रकल्प बंगलुरू – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इस्रो) ‘क्वाड’ के अपने सहयोगी देशों के साथ अंतरिक्ष सहयोग का विस्तार कर रही हैं। भारत, अमरीका, जापान और ऑस्ट्रेलिया अलग अलग अंतरिक्ष प्रकल्पों पर काम कर रहे हैं। इसमें इस्रो और नासा के ‘निसार’ उपग्रह प्रकल्प का, जापान के साथ हो रही चांद

Ladakh-India-China

Tension diffused but the problem persists on LAC: Army Chief General Naravane New Delhi: Chief of the Army Staff, General Manoj Mukund Naravane, said that the solution to the tension on the LAC in Ladakh was to the satisfaction of both countries. The Army Chief pointed out that the LAC tension in Ladakh has not ended completely and there is a lot more to be achieved on that front.  Read

India-Ladakh-China

‘एलएसी’ पर तनाव कम हुआ, लेकिन समस्या अभी दूर नहीं हुई – सेना प्रमुख जनरल नरवणे नई दिल्ली – लद्दाख की ‘एलएसी’ पर बने तनाव पर निकला हल दोनों देशों को सन्तोष देनेवाला है, ऐसा सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकूंद नरवणे ने कहा है। लेकिन, लद्दाख की ‘एलएसी’ का तनाव अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है, अभी भी इस मोर्चे पर काफी कुछ प्राप्त करना है, इस बात का

india-economy-budget

बजट २०२१-२२ नई दिल्ली – विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता देकर, इसके लिए बड़े पैमाने पर सरकारी खर्चे का प्रावधान करने वाला २०२१-२२ साल का बजट केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन ने प्रस्तुत किया। कोरोना के संकट के कारण धीमी हुई विकास की प्रक्रिया को गतिमान बनाने के लिए किए हुए साहसिक फैसले, यह इस बजट की सबसे बड़ी विशेषता मानी जाती है। स्वास्थ्य, बुनियादी सुविधा, कृषि, रक्षा इन क्षेत्रों के

India-Defence

भारतीय सेना को होगी स्वदेशी ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ की आपूर्ति नई दिल्ली – रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक ने सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को एक लाख ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ प्रदान किए। यह सभी जैकेट स्वदेशी निर्माण के हैं और इन्हें ‘मेक इन इंडिया’ के तहत बनाया गया है। साथ ही निर्धारित समय से पहले ही इन ‘जैकेट्स’ की सेना को आपूर्ति की गई है। देश के सैनिकों की सुरक्षा के

Indian-Navy

वायुसेना ने किया ‘आकाश’ और ‘इग्ला’ का परीक्षण मुंबई – भारतीय वायुसेना ने आंध्र प्रदेश के सूर्यालंका एअरफोर्स स्टेशन से स्वदेशी ‘आकाश’ और रशियन निर्माण के ‘इग्ला’ मिसाइलों का परीक्षण किया। वायुसेना के अड्डे पर २३ नवंबर से २ दिसंबर के दौरान युद्धाभ्यास का आयोजन हुआ। इस दौरान इन मिसाइलों का परीक्षण किए जाने की बात कही जा रही है। इन मिसाइलों के परीक्षण के समय उप-वायुसेना प्रमुख एअर मार्शल