Current Affairs

अर्थव्यवस्था

फेडरल रिजर्व के दावे के बाद अमरिकी डॉलर के मूल्य में बढ़ोतरी – लेकिन सोने की किमतें और एशियाई शेअर बाज़ार की गिरावट वॉशिंग्टन – महंगाई पर काबू पाने के लिए ब्याजदर की बढ़ोतरी कुछ समय तक जारी रखने के संकेत अमरीका की फेडरल रिजर्व ने दिए हैं। इस बयान के बाद अमरिकी डॉलर का मूल्य अन्य मुद्राओं की तुलना में काफी बढ़ा है। एशियाई बाजार में बड़े उछाल के

नैन्सी पेलोसी

हमारी ताइवान यात्रा की वजह से चीन के राष्ट्राध्यक्ष असुरक्षित हुए हैं – नैन्सी पेलोसी की फटकार  वॉशिंग्टन – ‘हमारी ताइवान यात्रा के बाद चीन ने ताइवान के इर्दगिर्द शुरू किए युद्धाभ्यास चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग असुरक्षित होने की बात दिखा रहे हैं। राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग की स्थिति कमज़ोर हुई हैं, यह हम महसूस करते हैं’, ऐसी फटकार अमरिकी सभापति नैन्सी पेलोसी ने लगाई। साथ ही अवसर मिला तो हम

श्रीलंका में अराजकता

 सरकार स्थापित करने के लिए श्रीलंका के विपक्षी दल तैयार कोलंबो – घोषणा के अनुसार १३ जुलाई को हम इस्तीफा देंगे, ऐसा श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे ने कहा है। इसी दौरान रानिल विक्रमसिंघ ने पहले ही अपने प्रधानमंत्री पद के इस्तीफे का ऐलान किया है। इस वजह से विपक्षी दलों ने संयुक्त सरकार गठित करके श्रीलंका में राजनीतिक अस्थिरता खत्म करने की तैयारी शुरू की है। इस प्रक्रिया का

बढ़ता महत्त्व

छाबहार और अफ़गानिस्तान पर भारत-ईरान की चर्चा  नई दिल्ली – भारत विकसित कर रहें ईरान के छाबहार बंदरगाह के मुद्दे के साथ ही, अफ़गानिस्तान की स्थिति पर भारत और ईरान की चर्चा हुई। भारत के विदेश सचिव विनय क्वात्रा और ईरान  के राजनीतिक कारोबार विभाग के उपमंत्री अली बाघेरी-कानी ने फोन पर की हुई यह चर्चा ध्यान आकर्षित कर रही है। भारत और रशिया के बीच सामान की यातायात एवं

ईरान से जुड़ा खतरा बढ़ने लगा

परमाणु कार्यक्रम पर तनाव बढ़ने की स्थिति में अमरीका और ईरान के युद्धपोत आमने-सामने वॉशिंग्टन/तेहरान – ईरान के परमाणु कार्यक्रम पर जारी बातचीत स्थगित होने से अमरीका और ईरान के बीच तनाव बढ़ रहा है और इसी दौरान दोनों देशों के युद्धपोत खतरनाक तरिके से आमने-सामने आने की घटना सामने आयी है। अमरीका के ‘फिफ्थ फ्लीट’ ने इस घटना की जानकारी प्रदान की है। इसके अनुसार अमरिकी युद्धपोत होर्मूझ की

भारतीय अर्थव्यवस्था

एक दशक बाद भारतीय अर्थव्यवस्था दस ट्रिलियन डॉलर्स की होगी – प्रमुख आर्थिक सलाहकार का दावा नई दिल्ली – ‘फिलहाल ३.३ ट्रिलियन डॉलर्स की होनेवाली भारतीय अर्थव्यवस्था आर्थिक वर्ष २०२६-२७ में पांच ट्रिलियन डॉलर्स की हो जाएगीऔर आर्थिक वर्ष २०३३-३४ के दौरान भारतीय अर्थव्यवस्था छलांग लगाकर दस ट्रिलियन डॉलर्स की हो जाएगी’, ऐसा विश्‍वास प्रमुख आर्थिक सलाहकार अनंत नागेश्‍वर ने व्यक्त किया हैं। कोरोना की महामारी के कारण बनी स्थिति

भारत और चीन

सेनाप्रमुख के लद्दाख दौरे द्वारा चीन को संदेश लडाख – नए सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे ने लद्दाख के चीन से सटे सीमाभाग का दौरा करके यहाँ की सुरक्षा का जायज़ा लिया। कुछ ही दिन पहले सेना प्रमुख ने यह आरोप किया था कि चीन को सीमा विवाद का हल निकालने में दिलचस्पी नहीं है और सीमा विवाद को धधकता रखने की नीति चीन ने अपनाई है। उस पृष्ठभूमि पर,

भारत और अमरीका के बीच बढ़ता तनाव

भारत किसी को भी खूष करने के निर्णय नहीं करेगा – विदेशमंत्री एस.जयशंकर नई दिल्ली – यूक्रैन का युद्ध रोककर चर्चा शुरू करने पर सबका ध्यान केंद्रीत होना चाहिये| इसके लिए भारत ने यूक्रैन युद्ध पर अपनायी भूमिका सबसे बेहतर हैं’, ऐसा कहकर विदेशमंत्री एस.जयशंकर ने फिर एक बार भारत ने अपनायी तटस्थ भूमिका का समर्थन किया| साथ ही यूक्रैन के मुद्दे पर भारत को उपदेश और इशारें दे रहीं

आक्रामक

रशिया की सम्पत्ति का राष्ट्रीयकरण कर रहे देशों को राष्ट्राध्यक्ष पुतिन का इशारा मास्को/बर्लिन – ‘दूसरे देशों में मौजूद रशिया की संपत्ति का राष्ट्रीयकरण करने की बयानबाज़ी वे देश कर रहे हैं| लेकिन, यह दुधारी तलवार है, इसका अहसास इसका इस्तेमाल करनेवालों को होना चाहिए’, ऐसी कड़ी चेतावनी रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने दी है| जर्मनी ने रशिया की शीर्ष ईंधन कंपनी ‘गाज़प्रोम’ का जर्मनी में स्थित उपक्रम ‘गाज़प्रोम

ईरान परमाणु समझौता और जुडी ख़बरें

ईरान के परमाणु समझौते को रशिया कमज़ोर ना करे – अमरीका एवं यूरोपिय देशों का बयान वॉशिंग्टन/तेहरान/मास्को – यूक्रैन के संघर्ष के कारण पश्‍चिमी देशों ने रशिया पर लगाए प्रतिबंध ईरान के परमाणु समझौते के लिए बाधा बन सकते हैं, ऐसा इशारा रशिया ने कुछ दिन पहले दिया था| साथ ही, यह प्रतिबंध रशिया और ईरान के सहयोग को नुकसान पहुँचानेवाले साबित नहीं होंगे, इसकी पश्‍चिमी देश गारंटी दें, यह