China

QUAD-India

अंतरिक्ष क्षेत्र में ‘क्वाड’ का सहयोग मज़बूत होगा – अमरीका, जापान, ऑस्ट्रेलिया की अंतरिक्ष संगठनों के साथ ‘इस्रो’ के प्रकल्प बंगलुरू – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इस्रो) ‘क्वाड’ के अपने सहयोगी देशों के साथ अंतरिक्ष सहयोग का विस्तार कर रही हैं। भारत, अमरीका, जापान और ऑस्ट्रेलिया अलग अलग अंतरिक्ष प्रकल्पों पर काम कर रहे हैं। इसमें इस्रो और नासा के ‘निसार’ उपग्रह प्रकल्प का, जापान के साथ हो रही चांद

Ladakh-India-China

Tension diffused but the problem persists on LAC: Army Chief General Naravane New Delhi: Chief of the Army Staff, General Manoj Mukund Naravane, said that the solution to the tension on the LAC in Ladakh was to the satisfaction of both countries. The Army Chief pointed out that the LAC tension in Ladakh has not ended completely and there is a lot more to be achieved on that front.  Read

India-Ladakh-China

‘एलएसी’ पर तनाव कम हुआ, लेकिन समस्या अभी दूर नहीं हुई – सेना प्रमुख जनरल नरवणे नई दिल्ली – लद्दाख की ‘एलएसी’ पर बने तनाव पर निकला हल दोनों देशों को सन्तोष देनेवाला है, ऐसा सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकूंद नरवणे ने कहा है। लेकिन, लद्दाख की ‘एलएसी’ का तनाव अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है, अभी भी इस मोर्चे पर काफी कुछ प्राप्त करना है, इस बात का

Coup in Myanmar by military junta

Post-coup, US slaps sanctions against Myanmar military junta Washington: – The United States announced sanctions against the Myanmar military, who revolted to overthrow the elected government. As per the sanctions, Myanmar military will not utilise nearly $1 billion deposited in the United States. Sanctions have also been imposed against the military officials behind the revolt, along with their families.  Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/english/us-sanctions-rebel-forces-myanmar/ Myanmar sees widespread protests against the coup by

Myanmar-Army

म्यांमार में विद्रोह करनेवाली सेना पर अमरीका के प्रतिबंध वॉशिंग्टन – म्यांमार की सरकार का तख्तापलट करके विद्रोह करनेवाली सेना के विरोध में अमरीका ने प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया हैं। इसके अनुसार म्यांमार ने अमरीका में रखें करीबन १ अरब डॉलर्स की राशि का इस्तेमाल करना इस लष्करी हुकूमत के लिए संभव नही होगा। साथ ही इस विद्रोह के पीछे होनेवाले म्यांमार के सेना अधिकारियों पर एवं उनके परिवार

India-Defence

भारतीय सेना को होगी स्वदेशी ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ की आपूर्ति नई दिल्ली – रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक ने सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को एक लाख ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ प्रदान किए। यह सभी जैकेट स्वदेशी निर्माण के हैं और इन्हें ‘मेक इन इंडिया’ के तहत बनाया गया है। साथ ही निर्धारित समय से पहले ही इन ‘जैकेट्स’ की सेना को आपूर्ति की गई है। देश के सैनिकों की सुरक्षा के

Afghanistan-China-Pakistan-US

In #Afghanistan: • China offered bounties to kill US troops: US NSA. • @NDSAfghanistan arrests Chinese spies, uncovers Pak-China espionage. • Pak sheltering Taliban leaders violates our sovereignty: @MFA_Afghanistan.#PakChina try to dominate Afg as #USwithdrawal approaches. pic.twitter.com/UqH4ExDPq6 — Samir Dattopadhye (@samirsinh189) January 4, 2021 44 Taliban terrorists killed in Afghan military action Kabul: The Afghan military killed 44 Taliban terrorists during actions taken in the Nangarhar and Farah provinces. There

Afghanistan

अफ़गान सेना की कार्रवाई में ४४ तालिबानी ढ़ेर काबुल – अफ़गान सेना ने नांगरहार और फराह प्रांत में कार्रवाई करके ४४ तालिबानी आतंकियों को मार गिराया है। कतार में अफ़गान सरकार और तालिबान की चर्चा शुरू होने के लिए महज़ कुछ ही दिन शेष हैं। ऐसी स्थिति में भी अफ़गान सेना और तालिबान के बीच जारी संघर्ष की तीव्रता बढ़ रही है। ऐसे में अफ़गान सेना की तालिबान के खिलाफ

China-World

US and Europe should align against predatory Chinese policies Beijing/Washington: The United States and the European Union (EU) must align against the Wolf Warrior Diplomacy or predatory diplomatic policies in the South China Sea. EU Ambassador for China, Nicolas Chapuis, said that at the same time, coordination with the countries in the South China Sea needs to be increased to stop Chinese bullying.  Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/english/us-europe-align-against-predatory-chinese-policies/ Chinese attempt to take

China

चीन की शिकारी राजनीतिक नीति के खिलाफ़ अमरीका और युरोप एकजूट करें – युरोपिय महासंघ के राजदूत निकोलस शापूई बीजिंग/वॉशिंग्टन – ‘साऊथ चायना सी में चीन अपना रहे ‘वूल्फ वॉरियर डिप्लोमसी’ अर्थात् शिकारी राजनीतिक बीति के खिलाफ़ अमरीका और युरोपिय महासंघ ने एकसाथ आना आवश्यक है। साथ ही, ‘साऊथ चायना सी’ के इस क्षेत्र के देशों के साथ समन्वय बढ़ाकर चीन की ज़बरदस्ती रोकने के लिए प्रयास करने चाहिए’ ऐसा