China

अमरीका और चीन के बीच बढता तनाव

अमरीका-चीन के बीच जारी तनाव के कारण नया शीतयुद्ध शुरू होगा – अमरिकी कुटनीतिज्ञ हेन्री किसिंजर वॉशिंग्टन – अमरीका और चीन के बीच निर्माण हुआ तनाव विश्‍व की सबसे बड़ी समस्या साबित होती है। इस समस्या का हल निकालना संभव नहीं हुआ तो इससे पूरे विश्‍व के लिए खतरा निर्माण होगा। क्योंकि, यह तनाव कम करने में नाकामी हासिल हुई तो अमरीका और चीन के बीच अलग तरह का शीतयुद्ध

International Community comes together to resist China's aggression

Japan-Indonesia sign defence agreement due to increasing Chinese threat The Japanese foreign ministry said, ‘The consistent efforts to make changes unilaterally, in the South China Sea by using force, has become a cause for major concern. The concerns felt by Japan and Indonesia are identical.’ The Japanese foreign ministry underlined the Chinese threat without directly taking names during the two-plus-two talks between the Foreign and Defence Minister of both the

चीन की आक्रामकता के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय सक्रिय

चीन का खतरा बढ़ते समय, जापान-इंडोनेशिया रक्षा सहयोग समझौता ‘साऊथ चायना सी क्षेत्र मे ताकत का इस्तेमाल करके एकतरफ़ा बदलाव करने के लिए लगातार जारी कोशिशें चिंताजनक साबित होती हैं। जापान और इंडोनेशिया इन दोनों देशों को इस मामले में प्रतीत हो रही चिंता एकसमान है’, ऐसा जापान के विदेश मंत्रालय ने कहा है। दोनों देशों के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्रियों में हुई ‘टू प्लस टू’ चर्चा के दौरान,

India-US-Ties

India-US cooperation scaling new heights while distrust increasing between India-China, claims US Admiral Aquilino Washington: – US Admiral John Aquilino made a very suggestive statement, ‘Military cooperation between India and the United States has reached unprecedented heights. Simultaneously, the trust between India and China has gone to an unbelievably low level.’  Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/english/indias-cooperation-us-reaching-new-heights/ Visit of the US Secretary of Defence concludes New Delhi: After holding discussions with Indian Defence

India-US-cooperation

भारत-चीन में अविश्‍वास बढ़ते समय, भारत का अमरीका के साथ सहयोग अधिक ऊँचाई को छू रहा है – अमरीका के ऍडमिरल ऍक्विलिनो का दावा वॉशिंग्टन – ‘भारत और अमरीका के बीच लष्करी सहयोग, पहले कभी नहीं था इतनी ऊँचाई पर पहुँचा है। उसी समय, भारत और चीन में अविश्वास, पहले कभी नहीं था इतने निचले स्तर पर गया है’, ऐसा सूचक बयान अमरीका के ऍडमिरल जॉन ऍक्विलिनो ने किया। जल्द

QUAD

Immediately after institutionalizing Quad with 1st #QuadSummit, its 4 members announce joint #NavalExercise with France in Bay of Bengal in April. This exercise points at first step towards expansion of Quad to #QuadPlus with 7+ nations keen to join. A serious warning to China. pic.twitter.com/8fKL9eBDhn — Samir Dattopadhye (@samirsinh189) March 16, 2021 QUAD cooperation to strengthen in the space sector, ISRO space projects with US, Japan and Australia Bengaluru: –

QUAD-India

अंतरिक्ष क्षेत्र में ‘क्वाड’ का सहयोग मज़बूत होगा – अमरीका, जापान, ऑस्ट्रेलिया की अंतरिक्ष संगठनों के साथ ‘इस्रो’ के प्रकल्प बंगलुरू – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इस्रो) ‘क्वाड’ के अपने सहयोगी देशों के साथ अंतरिक्ष सहयोग का विस्तार कर रही हैं। भारत, अमरीका, जापान और ऑस्ट्रेलिया अलग अलग अंतरिक्ष प्रकल्पों पर काम कर रहे हैं। इसमें इस्रो और नासा के ‘निसार’ उपग्रह प्रकल्प का, जापान के साथ हो रही चांद

Ladakh-India-China

Tension diffused but the problem persists on LAC: Army Chief General Naravane New Delhi: Chief of the Army Staff, General Manoj Mukund Naravane, said that the solution to the tension on the LAC in Ladakh was to the satisfaction of both countries. The Army Chief pointed out that the LAC tension in Ladakh has not ended completely and there is a lot more to be achieved on that front.  Read

India-Ladakh-China

‘एलएसी’ पर तनाव कम हुआ, लेकिन समस्या अभी दूर नहीं हुई – सेना प्रमुख जनरल नरवणे नई दिल्ली – लद्दाख की ‘एलएसी’ पर बने तनाव पर निकला हल दोनों देशों को सन्तोष देनेवाला है, ऐसा सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकूंद नरवणे ने कहा है। लेकिन, लद्दाख की ‘एलएसी’ का तनाव अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है, अभी भी इस मोर्चे पर काफी कुछ प्राप्त करना है, इस बात का

Coup in Myanmar by military junta

Post-coup, US slaps sanctions against Myanmar military junta Washington: – The United States announced sanctions against the Myanmar military, who revolted to overthrow the elected government. As per the sanctions, Myanmar military will not utilise nearly $1 billion deposited in the United States. Sanctions have also been imposed against the military officials behind the revolt, along with their families.  Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/english/us-sanctions-rebel-forces-myanmar/ Myanmar sees widespread protests against the coup by