Aniruddha Bapu

श्रद्धावानों की सुविधा के लिए उपासना इंटरनेट रेडिओ के द्वारा सुनने की व्यवस्था

हरि ॐ, आज से शुभंकरा नवरात्रि यानी चैत्र नवरात्रि की शुरुआत हुई है। इसीलिए हम हररोज़ उपासना होने के बाद २ मिनट का ब्रेक लेकर उसके बाद सुंदरकांड पठण (साधारणत: १ घण्टा दस मिनट का पठण) aniruddha.tv इस वेबसाईट और अ‍ॅप के माध्यम से दिखाने जा रहे हैं। विद्यमान हालातों में Internet पर आनेवाले Extra Load को मद्देनज़र रखते हुए और इस उपासना के लिए श्रद्धावानों के बढ़ते प्रतिसाद को

Matruvatsalyavindanam

हरि ॐ, आज से मोठी आई (मां चण्डिका) के उत्सव का यानी चैत्र नवरात्री का आरंभ हुआ है। श्रद्धावानो की सुविधा के लिए, बापूजी ने लिखे ग्रंथों की किंडल (Amazon Kindle) आवृत्ति की  लिंक्स आगे दे रहे हैं – १) मातृवात्सल्यविन्दानम्‌ अर्थात् मातरैश्वर्यवेद: (मराठी आवृत्ति) – https://www.amazon.in/dp/B07ZTSL47V/ref=cm_sw_r_apa_i_rGXEEbHAS2WC5 २) मातृवात्सल्यविन्दानम्‌ अर्थात् मातरैश्वर्यवेद: (इंग्लिश आवृत्ति) – https://www.amazon.in/dp/B07YG8L1VG/ref=cm_sw_r_apa_i_E8XEEb2BG48KY ३) श्रीरामरसायन (अंग्रेजी भाषा में) – https://www.amazon.in/dp/B07VLN38NZ/ref=cm_sw_r_apa_i_l9XEEb66XAR4S ————————————————————————– हरि ॐ, आजपासून मोठ्या आईचा उत्सव म्हणजेच

Aniruddha TV

हरि ॐ, आज दुनिया के सामने खड़े हुए करोना वायरस, “कोविद – १९” के जागतिक संकट की पार्श्वभूमि पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी देश को संबोधित करनेवाले हैं और सभी देशवासियों के लिए उसे सुनना उचित होगा । इस बात को मद्देनज़र रखते हुए अनिरुद्ध टी.व्ही. पर प्रसारित होनेवाली विभिन्न स्तोत्र एवं उपासना आज रात ८.०० के बजाय ९.०० बजे होगी, इसपर सभी श्रद्धावान ग़ौर करें । ——————————————————– हरि ॐ,

अनिरुद्ध टी.व्ही. पर प्रसारित होनेवाली गुरुवार की नित्य उपासना के संदर्भ में सूचना

हरि ॐ, आज दुनिया के सामने खड़े हुए करोना वायरस, “कोविद – १९” के जागतिक संकट की पार्श्वभूमि पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी देश को संबोधित करनेवाले हैं और सभी देशवासियों के लिए उसे सुनना उचित होगा I इस बात को मद्देनज़र रखते हुए अनिरुद्ध टी.व्ही. पर प्रसारित होनेवाली गुरुवार की नित्य उपासना आज रात ८.०० के बजाय ९.०० बजे होगी, इसपर सभी श्रद्धावान ग़ौर करें I ———————————————————– हरि ॐ,

Aniruddha TV

हरि ॐ, हमने पहले भेजी हुई सूचना के अनुसार, हर गुरुवार शाम ८:०० बजे गुरुवार की नित्य उपासना, श्रीस्वस्तिक्षेम संवाद तथा आरती एवं दर्शन और हर शनिवार शाम ७:३० बजे अनिरुद्ध उपासना (मराठी, हिन्दी एवं अँग्रेज़ी भाषा में), श्रीस्वस्तिक्षेम संवाद तथा अभंग aniruddha.tv के माध्यम से हम दिखा ही रहे हैं। उसी के साथ, आज से गुरुवार एवं शनिवार के अलावा हर दिन शाम ८:०० बजे हम विभिन्न स्तोत्र एवं

Aniruddha Gurukshetram

हरि ॐ, शनिवार, दि. ०७ मार्च २०२० को संस्था ने, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९” के सिलसिले में श्रद्धावानों को एक महत्त्वपूर्ण सूचना भेजी थी; जिसमें सावधानता और जागरूकता के उपाय के रूप में, हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली और शनिवार को विभिन्न स्थानों पर उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय सूचित किया था। इसी

Aniruddha TV

हरि ॐ, जैसा कि पहले ही सूचित किया जा चुका है, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९”  संबंधित खबरों को मद्देनज़र रखते हुए और सावधानी तथा जागरूकता के उपाय के तौर पर, संस्था ने कुछ समय के लिए हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली नित्य उपासना और शनिवार को विभिन्न उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक अनिरुद्ध उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय

Devotional-Sentience-website-Hindi-Screen

  हरि ॐ, सद्‌गुरु श्रीअनिरुद्ध (बापू) १९९६ से विष्णुसहस्रनाम, राधासहस्रनाम, ललितासहस्रनाम, रामरक्षा, साईसच्चरित जैसे विषयोपर प्रवचन के माध्यमसे श्रद्धावानोंसे संवाद करते हैं।  हर श्रद्धावान के दिल को छू जानेवाली बात है – बापु का हर गुरुवार का प्रवचन। लगभग सभी श्रद्धावान इस प्रवचन के माध्यम से ही बापु से जुड़ते गये हैं। बापु के प्रवचन, ‘अध्यात्म एवं व्यवहार दोनों में उचित संतुलन कैसे प्राप्त कर सकते हैं’ इसका सीधे-सादे आसान

'अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य' महासत्संग समारोह के व्हिडीओज्‌ संबंधी सूचना

  हरि ॐ, अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य – महासत्संग समारोह के पश्चात् श्रद्धावान आतुरता से प्रतीक्षा कर रहे थे, इस समारोह के व्हिडीओज्‌ की। श्रद्धावानों की इस माँग को मद्देनज़र रखते हुए ९ फ़रवरी को हमने महासत्संग के पहले सत्र (सेशन) के व्हिडीओज्‌ अपनी www.aniruddha-devotionsentience.com इस वेबसाईट पर उपलब्ध करा दिए हैं। ये व्हिडीओज्‌ सबके लिए खुले तथा विनामूल्य हैं। फिर भी, ऐसा ज्ञात हुआ है कि कुछ लोग ये व्हिडीओज्‌

Aniruddha Bapu

– Dattatray Shelar, Titwala I am an Auto Rickshaw driver by profession. In the year 2002, as my friends were getting ready to go to Param Poojya Bapu’s discourse, they invited me to come along, but  I refused. From thereon, every Thursday, they would insist that I go with them.  However, I never felt like attending the discourse. I later began to tell them, “whenever Bapu thinks it is an