Search results for “भारत”

चीन और पाकिस्तान को रोकने के लिए भारत की तैय्यारी

लद्दाख के निकट चीन की सेना की हरकतें – भारत कडी नजर रखकर है लद्दाख: लद्दाख के डेमचोक की नियंत्रण रेखा के निकट चीन की सेना रास्ते का निर्माण कर रही है| इस निर्माण कार्य पर हम कडी नजर रखकर है, यह जानकारी भारतीय सेना ने दी है| साथ ही नियंत्रण रेखा के निकट भारतीय सेना ने भी रास्ते का निर्माण कार्य शुरू किया है, यह बताया जा रहा है|

भारत की रक्षाविषयक तैय्यारी

अमरिकी ‘अपाचे हेलिकॉप्टर’ भारतीय वायुसेना में शामिल नई दिल्ली: अमरिका ने भारत को पहला ‘अपाचे गार्डियन एएच-६४ ई (आई)’ यह हेलिकॉप्टर हस्तांतरित किया है| वर्ष २०१५ के सितंबर महीने में भारत ने अमरिका की बोईंग कंपनी के साथ समझौता करके २२ अपाचे हेलिकॉप्टर्स खरीद ने के लिए समझौता किया था| इसमें से पहला हेलिकॉप्टर बोईंग कंपनीने भारतीय वायुसेना के हाथ सौंप दिया है| अमरिका के एरिझोना राज्य में बोईंग की

भारत की ओर से रक्षाविषयक तैय्यारी पर जोर

स्वदेशी सेंसर्स देश की लष्करी तकनीक में बदलाव करेंगे – ‘डीआरडीओ’ प्रमुख नई दिल्ली: पाकिस्तान के सैनिक और आतंकियों की सीमा क्षेत्र में बढ रही घुसपैठ एवं लद्दाख से अरूणाचल के सीमा तक चीन की लष्करी गतिविधियों में बढोतरी होने की पृष्ठभुमि पर भारत ने अपने रक्षा बल को आधुनिक और अद्ययावत करने के लिए विशेष महत्व दिया है| इस के लिए भारतीय रक्षा बल सीमा पर ‘लेझर फेंसिंग’ का

भारतीय उपखण्ड से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियां

पाकिस्तान के लष्कर प्रमुख द्वारा भारत के लिए शांति प्रस्ताव कराची – शांति का लाभ सभी को होगा| इस वजह से गरिबी, निरक्षरता और बिमारी से लढना संभव होगा| इसी लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री भारत के सामने दोस्ती का हाथ बढा रहे है| उनके इन कोशिशों को पाकिस्तान की लष्कर का भी समर्थन है| लेकिन इस संबंधी किए जा रहे कोशिशों की ओर पाकिस्तान की कमजोरी समझने की नजर से

इंडो-पसिफिक क्षेत्र में चीन से प्रभाव बढाने की कोशिश हो रही है तभी

चीन का प्रभाव रोकने के लिये भारत-ऑस्ट्रेलिया द्विपक्षीय सहयोग व्यापक करने पर सहमत   मेलबर्न – चीन का बढता प्रभाव रोकने के लिये ‘इंडो-पैसिफिक के प्रमुख देशों ने एक दुसरे के साथ सहयोग बढाने पर जोर दिया है और भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद इनकी ऑस्ट्रेलिया यात्रा इसी कोशिष का हिस्सा माना जाता है| बुधवार के दिन सिडनी में दाखिल हुए राष्ट्रपति कोविंद इन्होंने गुरूवार के दिन प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसर

अमरीका और भारत का पाकिस्तान पर बढ़ता दबाव

अमरिका से अरबों डॉलर्स लूटकर भी पाकिस्तान ने अमरिका के लिए कुछ नही किया – राष्ट्राध्यक्ष ट्रम्प   वॉशिंगटन/इस्लामाबाद – अमरिका से अरबो डॉलर्स ऐंठने के बाद भी पाकिस्तान ने अमरिका के लिये अल्प मात्रा में भी काम किया नही है। उल्टा अल कायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन पाकिस्तान की सेना की अकैडमी के पास पूरी तरह सुख में रह रहा था, इन कडे शब्दों में अमरिका के राष्ट्राध्यक्ष डोनाल्ड

भारत की तरफ से सामरिक और रक्षविषयक सज्जता पर विशेष ध्यान

भारत रशिया से २ विध्वंसक की खरीदारी करेगा नई दिल्ली: एस-४०० इस हवाई सुरक्षा यंत्रणा के लिए भारत और रशिया में हुए करार के बाद अमरिका से भारत पर प्रतिबंध जारी करने की चेतावनी दी जा रही है। पर इसे नजरअंदाज करते हुए भारत एवं रशिया में एक और महत्वपूर्ण करार संपन्न हुआ है। ९५ करोड़ डॉलर्स के इस करार के अंतर्गत भारत अपने नौदल के लिए रशिया से एडमिरल

भारत ने पाकिस्तान पर दबाव बढाया

संयुक्त राष्ट्रसंघ के आम सभा में – विदेश मंत्री स्वराज ने पाकिस्तान की धज्जियां उड़ाई संयुक्त राष्ट्रसंघ: अमरिका पर ९/११ का हमला करने वाले ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में ढेर किया गया है, पर मुंबई पर २६/११ का भीषण हमला करनेवाला हाफिज सईद पाकिस्तान में मुक्त घूम रहा है, इसकी तरफ ध्यान केंद्रित करते हुए विदेश मंत्री स्वराज ने पाकिस्तान ने आतंकवादी कार्रवाइयों पर आजतक किए नजरअंदाजी पर कड़ी

पाकिस्तान पुरस्कृत आतंकवाद रोकने के लिए भारत और अमरीका के प्रयास

  ३० करोड़ डॉलर्स की लष्करी सहायता रद्द करने का निर्णय लेकर – अमरिका का पाकिस्तान को और एक झटका वॉशिंगटन: तालिबान का ‘हक्कानी गुट’ और ‘लष्कर ए तोयबा’ जैसे आतंकवादी संगठनों पर निर्णायक कार्रवाई के लिए देर लगाने वाले पाकिस्तान को अमरिका ने और एक झटका दिया है। अमरिका का रक्षा विभाग पेंटागन ने पाकिस्तान को दी जाने वालो ३० करोड़ डॉलर्स की सहायता को रद्द कि है। इसके

भारत की रक्षाविषयक सज्जता

मालदीव के सागरी क्षेत्र में भारत और मालदीव के नौदल की संयुक्त गश्ती माले: हिंद महासागर में मालदीव के विशेष आर्थिक क्षेत्र में भारत और मालदीव के नौदल संयुक्त गश्ती करने वाले हैं पिछले कई वर्षों में मालदीव पर चीन का प्रभाव बढ़ा है। तथा ३ महीनों में मालदीव में इमरजेंसी के बाद यह देश चीन के पक्ष से अधिक झुकता दिखाई दे रहा है। इस पृष्ठभूमि पर दोनों देशों