Search results for “बदल”

‘अल्फा टू ओमेगा’ न्युजलेटर – अप्रैल २०१९

  अप्रैल २०१९ संपादक की कलम से   हरि ॐ श्रद्धावान सिंह / वीरा, हमारे देश में और हमारे आस पास के मौसम में तेजी से बदलाव हो रहे हैं। गर्मी की शुरुआत हो चुकी है और वह अपनी चरम सीमा की ओर बढ़ रही है। हम सब ने पिछले महीने में ही होली मना कर सर्दी से विदाई ली सभी श्रद्धावान मित्रों ने होलीपूर्णिमा उत्सव और महाशिवरात्रि उत्सव में

रशिया आक्रामक मोड़ पर

रोमानिया में अमरिका ने ‘थाड’ तैनात करने पर रशिया ने जताई कडी आपत्ति मास्को/वॉशिंटन – ‘अस्थायी इस शब्द के अलावा लंबे समय तक चलेगा, ऐसा इस दुनिया में कुछ भी नही, इस मायने की एक रशियन पहेली है| इस वजह से अमरिका रोमानिया में कर रही थाड मिसाइल डिफेन्स की अस्थायी तैनाती यानी असल में क्या और किस लिए है, यह सवाल उपस्थित होते है| रोमानिया की मिसाइल यंत्रणाओं का

ब्रिटेन और ब्रेक्जिट

ब्रेक्जिट की गडबडी की वजह से ब्रिटेन की हंसी हो रही है – बहुराष्ट्रीय कंपनी के प्रमुख का दावा लंदन – संपूर्ण दुनिया ब्रिटेन की तरफ ध्यान दे रही है| एक समय पर ब्रिटेन यह देश स्थिरता का दीपस्तंभ के तौर पर पहचाना जा रहा था| अब ब्रिटेन की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिमा प्रतिदिन हास्यजनक होती जा रही है| यह अब काफी है| उद्योग क्षेत्र की सहनशीलता खत्म हो रही

ईरान से जुडी घटनाएँ

ईरान पर अमरिका के नए प्रतिबंध वॉशिंगटन: अमरिका के विदेश एवं कोषागार विभाग ने शुक्रवार को ईरान के विरोध में नए प्रतिबंध जारी करने की घोषणा की है| इनमें ईरान के १४ नागरिक एवं १७ कंपनियों को लक्ष्य किया गया है| नए प्रतिबंध जारी करने की घोषणा करते हुए अमरिका के विदेश मंत्री माईक पोम्पिओ ने इससे पहले जारी किए प्रतिबंध सफल होने का दावा किया है| दो हफ्तों पहले

नामस्पर्श

हरि ॐ, श्रीराम, अंबज्ञ, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌. हम यह जो मंत्रगजर करते हैं – ‘रामा रामा आत्मारामा….’, वह कहाँ जाकर पहुँचता हैं? क्या हवा में घूमता रहता है इधर कहाँ? या पूरे ब्रह्मांड में या हवा में जाकर पहुँचता है? कहाँ जाता होगा? There is a definite place, where it goes….where it reaches….where it is absorbed….where it is pulled. Only one place. कौनसी जगह हैं वह? त्रिविक्रमनिलयम श्रीगुरुक्षेत्रम्‌॥ हम लोग

Sadguru Shree Aniruddha’s Pitruvachan (Part 1) – 21 March 2019

हरी ॐ. श्रीराम. अंबज्ञ. नाथसंविध्‌. नाथसंविध्‌. नाथसंविध्‌. So, होली खेलकर आये हुए हैं बहुत लोग। खेले कि नहीं खेले? खेले…नहीं खेले…क्यों? [आपके साथ खेलना था] अरे भाई, मैं तो बुढ्ढा हो चुका हूँ, कहाँ होली खेलनी हैं। रंग नहीं खेलते आप लोग? क्यों? जो नहीं खेला होगा, वो हात ऊपर करें। जिन्होंने रंग खेला, वो लोग हाथ ऊपर करें। Very good, ऍब्सोल्युटली, मस्त, क्लास। बाकी लोग क्यों नहीं खेले? हमारी

Sadguru Shree Aniruddha’s Pitruvachan (Part 2) – 07 March 2019

हरि ॐ. श्रीराम. अंबज्ञ. नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌। अभी जो मंत्रगजर हम लोग कर रहे थे – भक्तिभावचैतन्य की परिपूर्ण स्थिती, right? लेकिन है क्या यह मंत्रगजर? सबको सबकी परिभाषा चाहिए, definition चाहिए। Few things are very difficult to define, you have to understand! उनकी परिभाषा करना, व्याख्या करना, definition देना बहुत कठिन होता है, समझना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन जानना बहोत आसान होता है। देखिए, आजकल कितने लोग स्मार्ट

आतंकवाद से जुडी महत्वपूर्ण खबरें

ओसामा बिन लादेन का लडका ‘हमजा’ पर अमरिका ने रखा १० लाख डॉलर्स का इनाम वॉशिंगटन – ‘अल कायदा का मृत प्रमुख ओसामा बिन लादेन का लडका हमजा बिन लादेन यह आतंकी अल कायदा संगठन का नया नेता बनकर सामने आ रहा है| उसने इंटरनेट पर व्हिडिओ और ऑडिओ संदेशा प्रसारित किये है और इसमें उसके अनुयायी लोगों को अमरिका और अमरिका के मित्रदेशों पर हमले करने का निवेदन किया है|

China-threatens-to-increase

तैवान के बाद चीन अन्य एशियाई देशों पर कब्जा करेगा – तैवानी राष्ट्राध्यक्षा की चेतावनी तैपेई: ‘राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग इनके नेतृत्व में चीन से तैवान के लिए बना लष्करी खतरा हर दिन बढ रहा है| आज चीन अपने लष्करी सामर्थ्य के बल पर तैवान पर कब्जा करने की कोशिश कर रहा है| इसके बाद एशिया के अन्य देशों पर भी इसी खतरे का सामना करने की नौबत आ सकती है|

जयंती मंगला काली

हरि ॐ २१-०२-२०१९ हरि ॐ. श्रीराम. अंबज्ञ. नाथसंविध् नाथसंविध् नाथसंविध्. ‘रामा रामा आत्मारामा त्रिविक्रमा सद्गुरुसमर्था, सद्गुरुसमर्था त्रिविक्रमा आत्मारामा रामा रामा’ जो कोई भी यह जप करता है, मंत्रगजर करता है, (वह) भक्तिभावचैतन्य में रहने लगता है। कुछ लोगों के मन में प्रश्न उठा है। सही प्रश्न है – ‘बापू, यह मंत्रगजर तो सर्वश्रेष्ठ है, आपने बताया, मान्य है हमें Definitely। लेकिन ‘माँ’ का नाम नहीं है इसमें?’ यह मैंने पहले