Search results for “दिशा”

ब्रिटेन और ब्रेक्जिट

ब्रेक्जिट की गडबडी की वजह से ब्रिटेन की हंसी हो रही है – बहुराष्ट्रीय कंपनी के प्रमुख का दावा लंदन – संपूर्ण दुनिया ब्रिटेन की तरफ ध्यान दे रही है| एक समय पर ब्रिटेन यह देश स्थिरता का दीपस्तंभ के तौर पर पहचाना जा रहा था| अब ब्रिटेन की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिमा प्रतिदिन हास्यजनक होती जा रही है| यह अब काफी है| उद्योग क्षेत्र की सहनशीलता खत्म हो रही

नामस्पर्श

हरि ॐ, श्रीराम, अंबज्ञ, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌. हम यह जो मंत्रगजर करते हैं – ‘रामा रामा आत्मारामा….’, वह कहाँ जाकर पहुँचता हैं? क्या हवा में घूमता रहता है इधर कहाँ? या पूरे ब्रह्मांड में या हवा में जाकर पहुँचता है? कहाँ जाता होगा? There is a definite place, where it goes….where it reaches….where it is absorbed….where it is pulled. Only one place. कौनसी जगह हैं वह? त्रिविक्रमनिलयम श्रीगुरुक्षेत्रम्‌॥ हम लोग

significant-developments-related-to-afghanistan

अफगानिस्तान की वायव्य सीमा पर तालिबान की कार्रवाईयों में बढोतरी – २२ अफगान सैनिक ढेर, १५० सैनिकों का अपहरण मझार-ए-शरिफ – अफगानिस्तान के भविष्य को लेकर अमरिका के साथ शुरू बातचीत में सफलता प्राप्त होने का दावा किया हो फिर भी तालिबान ने अपनी आतंकी गतिविधियां रोकी नही है| अफगानिस्तान के वायव्य दिशा में ‘बदघिस’ प्रांत में तालिबानीयों ने अफगानी सेना पर किए हमले में २२ सैनिकों की मौत हुई

खाड़ी क्षेत्र में जंग की संभावना बढ़ी

लगातार तिसरे दिन इस्रायल ने हमास पर किए जोरदार हवाई हमलें तेल अविव – गाजापट्टी के हमास के आतंकवादी और समर्थकों से इस्रायल के सीमा भाग में किए जाने वाले मॉर्टर तथा ‘बलून बम’ के हमलें लगातार तीसरे दिन भी शुरू रहे है| तो हमास के इन हमलों को इस्रायल ने भी हवाई हमलों से उत्तर देने के सत्र शुरू रखें और इनमें हमास के लष्करी अड्डे ध्वस्त होने की

Sadguru Shree Aniruddha’s Pitruvachan (Part 2) – 07 March 2019

हरि ॐ. श्रीराम. अंबज्ञ. नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌। अभी जो मंत्रगजर हम लोग कर रहे थे – भक्तिभावचैतन्य की परिपूर्ण स्थिती, right? लेकिन है क्या यह मंत्रगजर? सबको सबकी परिभाषा चाहिए, definition चाहिए। Few things are very difficult to define, you have to understand! उनकी परिभाषा करना, व्याख्या करना, definition देना बहुत कठिन होता है, समझना बहुत मुश्किल होता है। लेकिन जानना बहोत आसान होता है। देखिए, आजकल कितने लोग स्मार्ट

‘अल्फा टू ओमेगा’ न्युजलेटर – फरवरी २०१९

‘अल्फा टू ओमेगा’ न्युजलेटर – हिन्दी संस्करण   फरवरी २०१९ संपादक की कलम से हरि ॐ श्रद्धावान सिंह / वीरा, सद्गुरु श्री अनिरुद्ध की कृपा से, हमारा यह वर्ष भक्तिभावच्चैतन्य और वर्धमान व्रतधीराज के आनंदमय वातावरण में आरम्भ हुआ। यह व्रत, सदगुरु के मार्गदर्शन के अनुसार मार्गशीर्ष में किया जाता है। श्रद्धावान बड़े ही प्रेम से इस व्रत का पालन करते हैं, जिससे हमारे जीवन में सकारात्मकता के साथ साथ

भारत की ओर से रक्षाविषयक तैय्यारी पर जोर

स्वदेशी सेंसर्स देश की लष्करी तकनीक में बदलाव करेंगे – ‘डीआरडीओ’ प्रमुख नई दिल्ली: पाकिस्तान के सैनिक और आतंकियों की सीमा क्षेत्र में बढ रही घुसपैठ एवं लद्दाख से अरूणाचल के सीमा तक चीन की लष्करी गतिविधियों में बढोतरी होने की पृष्ठभुमि पर भारत ने अपने रक्षा बल को आधुनिक और अद्ययावत करने के लिए विशेष महत्व दिया है| इस के लिए भारतीय रक्षा बल सीमा पर ‘लेझर फेंसिंग’ का

अनुचित विचारांना रोखा (Stop unwanted thoughts)

सद्गुरू श्री अनिरुद्ध बापूंनी त्यांच्या २४ जुलै २०१४ च्या मराठी प्रवचनात ‘अनुचित विचारांना रोखा’ याबाबत सांगितले.   …हा तुमच्या जीवात्म्याशी संवाद होणार लक्षात ठेवा. हा जीवात्म्याशी संवाद होत असतो, जीवात्म्याला प्रेरणा दिली जाते, डायरेक्शन दिलं जातं, दिशा दाखवली जाते, ताकद दिली जाते. पण हे सगळं कधी होऊ शकतं? जेव्हा, बघा, सगळं जग कशातून प्रकटलं? ॐ मधून प्रकटलं. म्हणजे शब्दातून प्रकटलं, बरोबर? या एका शब्दातून, या प्रणवातून प्रकटलं. तशीच आमच्या जीवनसृष्टीमध्ये

सीरिया में चल रहें संघर्ष का दायरा बढ़ने की संभावना

तुर्की ने सिरिया के सीमा के पास तैनाती बढ़ाई ताक्या – रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने सिरिया के इदलिब में कार्रवाई के बारे में शुक्रवार को अपनी सुरक्षा समिति से चर्चा की है और जल्द ही इदलिब पर हमलों की व्याप्ति बढेगी ऐसी आशंका जताई जा रही है। इस पृष्ठभूमि पर इदलिब में अपने हित संबंधों की सुरक्षा के लिए तुर्की ने गतिविधियां बढ़ाई है। तुर्की ने सिरिया के

सारे भय ये मूलत: भ्रम हैं (All the fears are basically delusions)

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने १५ मई २०१४ के पितृवचनम् में ‘सारे भय ये मूलत: भ्रम हैं’ इस बारे में बताया।   मैंने ये किया इसलिये भगवान ने ये किया, इस विश्वास पर अगर कभी जाओगे तो आप कहां जाओगे, गलत दिशा में जाओगे। डेव्हिल की दिशा में जाओगे, शैतान की दिशा में जाओगे। फिर वहां कारोबार ऐसे ही चलता है, लेनेदेन का। तुमने ये तंत्र मंत्र किया तो डेव्हिल