Search results for “अमरीका”

चीन की आक्रामकता के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय सक्रिय

चीन का खतरा बढ़ते समय, जापान-इंडोनेशिया रक्षा सहयोग समझौता ‘साऊथ चायना सी क्षेत्र मे ताकत का इस्तेमाल करके एकतरफ़ा बदलाव करने के लिए लगातार जारी कोशिशें चिंताजनक साबित होती हैं। जापान और इंडोनेशिया इन दोनों देशों को इस मामले में प्रतीत हो रही चिंता एकसमान है’, ऐसा जापान के विदेश मंत्रालय ने कहा है। दोनों देशों के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्रियों में हुई ‘टू प्लस टू’ चर्चा के दौरान,

QUAD-India

अंतरिक्ष क्षेत्र में ‘क्वाड’ का सहयोग मज़बूत होगा – अमरीका, जापान, ऑस्ट्रेलिया की अंतरिक्ष संगठनों के साथ ‘इस्रो’ के प्रकल्प बंगलुरू – भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इस्रो) ‘क्वाड’ के अपने सहयोगी देशों के साथ अंतरिक्ष सहयोग का विस्तार कर रही हैं। भारत, अमरीका, जापान और ऑस्ट्रेलिया अलग अलग अंतरिक्ष प्रकल्पों पर काम कर रहे हैं। इसमें इस्रो और नासा के ‘निसार’ उपग्रह प्रकल्प का, जापान के साथ हो रही चांद

Saudi-Houthi-Iran

बायडेन प्रशासन की ईरान संबंधित भूमिका के कारण ही सौदी के ईंधन प्रकल्पों पर हमले – अमरिकी सिनेटर का दावा वॉशिंग्टन – ‘अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ने ईरान पर लगाए प्रतिबंध शिथिल करने के संकेत देते ही अमरीका और अमरीका के मित्रदेशों पर जारी हमलों में बढ़ोतरी होने लगी है। सौदी अरब के ईंधन प्रकल्पों पर हुए हमलों के लिए ईरान ही ज़िम्मेदार होने की बात दिखती है’, ऐसा

Gulf-Region-Violence

इराक स्थित अमरीका के अड्डे पर रॉकेट हमले – हमले के पीछे ईरान से जुड़े गुट होने की आशंका बगदाद – इराक स्थित ‘अइन अल-अस्साद’ हवाई अड्डे पर बुधवार को भी सेंड रॉकेट हमले हुए। अमरीका के अड्डे पर हुए इस हमले में एक कांट्रेक्टर की मृत्यु हुई। साल भर पहले अमरीका ने इराक में किए ड्रोन हमले में ईरान के वरिष्ठ लष्करी अधिकारी मेजर जनरल कासेम सुलेमानी को मार

France-Britain-Leftist

कट्टरपंथी और वामपंथी विचारधारा फ्रेंच समाज को निगल रही है – फ्रान्स की उच्च शिक्षामंत्री की चेतावनी पॅरिस – ‘कट्टरवाद तथा चरमसीमा की वामपंथी विचारधारा फ्रेंच समाज को पूरी तरह निगलती चली जा रही है। इससे विश्वविद्यालय भी सुरक्षित नहीं रहे हैं’, ऐसी चेतावनी फ्रान्स की उच्च शिक्षामंत्री फ्रेडरिक विदाल ने दी। इस कारण फ्रेंच विश्वविद्यालयों में संशोधक, समाज का विभाजन करने की दृष्टि से ही हर एक बात की

Myanmar-Army

म्यांमार में विद्रोह करनेवाली सेना पर अमरीका के प्रतिबंध वॉशिंग्टन – म्यांमार की सरकार का तख्तापलट करके विद्रोह करनेवाली सेना के विरोध में अमरीका ने प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया हैं। इसके अनुसार म्यांमार ने अमरीका में रखें करीबन १ अरब डॉलर्स की राशि का इस्तेमाल करना इस लष्करी हुकूमत के लिए संभव नही होगा। साथ ही इस विद्रोह के पीछे होनेवाले म्यांमार के सेना अधिकारियों पर एवं उनके परिवार

India-Defence

भारतीय सेना को होगी स्वदेशी ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ की आपूर्ति नई दिल्ली – रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक ने सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को एक लाख ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ प्रदान किए। यह सभी जैकेट स्वदेशी निर्माण के हैं और इन्हें ‘मेक इन इंडिया’ के तहत बनाया गया है। साथ ही निर्धारित समय से पहले ही इन ‘जैकेट्स’ की सेना को आपूर्ति की गई है। देश के सैनिकों की सुरक्षा के

Afghanistan

अफ़गान सेना की कार्रवाई में ४४ तालिबानी ढ़ेर काबुल – अफ़गान सेना ने नांगरहार और फराह प्रांत में कार्रवाई करके ४४ तालिबानी आतंकियों को मार गिराया है। कतार में अफ़गान सरकार और तालिबान की चर्चा शुरू होने के लिए महज़ कुछ ही दिन शेष हैं। ऐसी स्थिति में भी अफ़गान सेना और तालिबान के बीच जारी संघर्ष की तीव्रता बढ़ रही है। ऐसे में अफ़गान सेना की तालिबान के खिलाफ

Russia-aggression

‘वेस्टर्न सहारा’ से संबंधित अमरीका के निर्णय पर रशिया की आलोचना मॉस्को/अल्जिअर्स – ‘वेस्टर्न सहारा’ पर मोरोक्को की संप्रभुता को मंजूरी देने का अमरीका का निर्णय एकतरफा है। अमरीका का यह ऐलान अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करनेवाला है, ऐसी आलोचना रशिया के उप-विदेशमंत्री मिखाईल बोग्दानोव ने की है। रशिया के बाद मोरोक्को के पड़ोसी देश अल्जेरिया ने भी अमरीका के इस निर्णय की आलोचना की है।  आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/russia-criticism-of-america-decision-regarding-western-sahara/

China

चीन की शिकारी राजनीतिक नीति के खिलाफ़ अमरीका और युरोप एकजूट करें – युरोपिय महासंघ के राजदूत निकोलस शापूई बीजिंग/वॉशिंग्टन – ‘साऊथ चायना सी में चीन अपना रहे ‘वूल्फ वॉरियर डिप्लोमसी’ अर्थात् शिकारी राजनीतिक बीति के खिलाफ़ अमरीका और युरोपिय महासंघ ने एकसाथ आना आवश्यक है। साथ ही, ‘साऊथ चायना सी’ के इस क्षेत्र के देशों के साथ समन्वय बढ़ाकर चीन की ज़बरदस्ती रोकने के लिए प्रयास करने चाहिए’ ऐसा