Search results for “अफगानिस्तान”

India-US-cooperation

भारत-चीन में अविश्‍वास बढ़ते समय, भारत का अमरीका के साथ सहयोग अधिक ऊँचाई को छू रहा है – अमरीका के ऍडमिरल ऍक्विलिनो का दावा वॉशिंग्टन – ‘भारत और अमरीका के बीच लष्करी सहयोग, पहले कभी नहीं था इतनी ऊँचाई पर पहुँचा है। उसी समय, भारत और चीन में अविश्वास, पहले कभी नहीं था इतने निचले स्तर पर गया है’, ऐसा सूचक बयान अमरीका के ऍडमिरल जॉन ऍक्विलिनो ने किया। जल्द

Afghanistan

अफ़गानिस्तान में मौजुदा वर्ष के पहले छह महीनों में हुई हिंसा में १,२०० से अधिक लोग ढ़ेर – संयुक्त राष्ट्रसंघ की रपट काबुल/संयुक्त राष्ट्रसंघ – वर्ष २०२० के पहले छह महीनों के दौरान अफ़गानिस्तान में हिंसा में मारे गए हुए एवं घायल हुए लोगों की संख्या ३,५०० से अधिक होने का दावा संयुक्त राष्ट्रसंघ की रपट में किया गया है। यह रपट जारी करके अफ़गानिस्तान में बढ़ रही हिंसा पर

Afghanistan-Peace-Violence

अफ़गानिस्तान में तालिबान के हमलों में ३२ सैनिक मारे गए काबुल – तालिबान ने एक ही रात में अफ़गानिस्तान के दस से अधिक ज़गहों पर किए हमलों में सुरक्षा बल के ३२ सैनिक मारे गए। इन हमलों की ज़िम्मेदारी स्वीकारके तालिबान ने इस जंग के बुनियादी कारणों पर बातचीत के बगैर यह हमले बंद नहीं होंगे, यह ऐलान किया है।  आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/32-soldiers-killed-in-taliban-attacks-in-afghanistan/ अफ़गान शांति प्रक्रिया पर भारत और

पाकिस्तान के बिगड़ते हालात

पाकिस्तान के सेनाप्रमुख सौदी से खाली हात लौटे इस्लामाबाद – पाकिस्तान के सेनाप्रमुख जनरल कमर बाजवा सौदी अरब का नाकाम दौरा करके स्वदेश लौटे हैं। सौदी अरब की नाराज़गी दूर करने के लिए सौदी पहुँचे सेनाप्रमुख बाजवा से भेंट करने से क्राउन प्रिन्स मोहम्मद बिन सलमान ने इन्कार कर दिया। साथ ही किसी भी बड़े ऐलान के बिना उनका यह दौरा खत्म होने की बात पर पाकिस्तान के माध्यम ध्यान

दुनिया से जुडी महत्वपूर्ण खबरें

जापान की ‘मित्सुबिशी’ कंपनी पर हुआ बडा सायबर हमला – चीन का हाथ होने की आशंका टोकियो/बीजिंग: जापान के साथ दुनिया के शीर्ष बहुराष्ट्रीय कंपनी के तौर पर जानी जा रही ‘मित्सुबिशी’ कंपनी पर बडा सायबर हमला हुआ है| ‘मित्सुबिशी ग्रुप’ का हिस्सा होनेवाली ‘मित्सुबिशी इलेक्ट्रिक’ कंपनी को लक्ष्य किया गया है| और यह सायबर हमला करने में चीन के हैकर्स शामिल होने की आशंका व्यक्त की जा रही है|

भारत-अमरिका सहयोग नये मोड़ पर

अमरिकी प्रतिबंधों से ‘चाबहार’ को सहुलियत – भारत ने किया निर्णय का स्वागत वॉशिंग्टन – भारत से विकसित हो रहे ईरान के चाबहार बंदरगाह को अमरिका ने अपने प्रतिबंधों से सहुलियत प्रदान की है| अफगानिस्तान को ईंधन एवं अन्य जरूरी सामान की आपुर्ति करने के लिए यह बंदरगाह उपयोगी साबित हो रहा है और इसी कारण यह सहुलियत देने की जानकारी अमरिका के वरिष्ठ अफसरों ने साझा की है| पर,

आतंकवादी संगठन 'आयएस' के हमलें और गतिविधियां बढ़ी

अमरिका, यूरोप में दावानल शुरू करें – ‘आयएस’ ने समर्थकों को उकसाया वॉशिंगटन: ‘पश्‍चिमी देशों को दर्द देना है तो अमरिका, फ्रान्स, ब्रिटेन और जर्मनी में जंगल में आग लगा दो| इससे शुरू होनेवाले दावानल का दर्द वह बर्दाश्त नही होगा’, यह कहकर ‘आयएस’ ने अमरिका और यूरोप के अपने समर्थकों को उकसाया है| अमरिका के कैलिफोर्निया के जंगलों में दावानल भडकने से पहले ‘आयएस’ ने यह आदेश दिए थे| ‘अल कायदा’, ‘आयएस’, ‘तालिबान’ एवं दुनिया भर के आतंकी संगठनों

भारत की रक्षाविषयक तैय्यारी

अमरिकी ‘अपाचे हेलिकॉप्टर’ भारतीय वायुसेना में शामिल नई दिल्ली: अमरिका ने भारत को पहला ‘अपाचे गार्डियन एएच-६४ ई (आई)’ यह हेलिकॉप्टर हस्तांतरित किया है| वर्ष २०१५ के सितंबर महीने में भारत ने अमरिका की बोईंग कंपनी के साथ समझौता करके २२ अपाचे हेलिकॉप्टर्स खरीद ने के लिए समझौता किया था| इसमें से पहला हेलिकॉप्टर बोईंग कंपनीने भारतीय वायुसेना के हाथ सौंप दिया है| अमरिका के एरिझोना राज्य में बोईंग की

दुनिया भर में आतंकवाद का धोखा बढ़ा

तालिबान ने अफगानिस्तान में युद्ध विराम करने की मांग ठुकराई काबुल – अफगानिस्तान में सभी वांशिक समुदाय और गुटों के प्रतिनिधि होनेवाले ‘लोया जिरगा’ ने तालिबान के सामने युद्ध विराम का प्रस्ताव रखा था| लेकिन, तालिबान ने यह प्रस्ताव ठुकराया है| अमरिका ने अफगानिस्तान से पूरी सेना पीछे हटाए बिना युद्ध विराम को तैयार नही होंगे, यह ऐलान तालिबान ने किया है| इस वजह से अफगानिस्तान में युद्धविराम की संभावना

भारत की ओर से रक्षाविषयक तैय्यारी पर जोर

स्वदेशी सेंसर्स देश की लष्करी तकनीक में बदलाव करेंगे – ‘डीआरडीओ’ प्रमुख नई दिल्ली: पाकिस्तान के सैनिक और आतंकियों की सीमा क्षेत्र में बढ रही घुसपैठ एवं लद्दाख से अरूणाचल के सीमा तक चीन की लष्करी गतिविधियों में बढोतरी होने की पृष्ठभुमि पर भारत ने अपने रक्षा बल को आधुनिक और अद्ययावत करने के लिए विशेष महत्व दिया है| इस के लिए भारतीय रक्षा बल सीमा पर ‘लेझर फेंसिंग’ का