Search results for “सामर्थ्य”

रामनाम भय की नामोनिशानी मिटा देता है - भाग २

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘रामनाम भय की नामोनिशानी मिटा देता है’ इस बारे में बताया। और ये भी जान लीजिये, कोई भी भय जो है, जो शरीर के साथ जुड़ा है, उसका नाश किससे होता है? रामनाम लेने से होता है। मूलाधार चक्र, स्वाधिष्ठान चक्र और मणिपूर चक्र ये तीन चक्र प्रबल होने के कारण, सामर्थ्यवान होने के कारण इस भय का नाश होता

भारत की रक्षाविषयक तैय्यारी

अमरिकी ‘अपाचे हेलिकॉप्टर’ भारतीय वायुसेना में शामिल नई दिल्ली: अमरिका ने भारत को पहला ‘अपाचे गार्डियन एएच-६४ ई (आई)’ यह हेलिकॉप्टर हस्तांतरित किया है| वर्ष २०१५ के सितंबर महीने में भारत ने अमरिका की बोईंग कंपनी के साथ समझौता करके २२ अपाचे हेलिकॉप्टर्स खरीद ने के लिए समझौता किया था| इसमें से पहला हेलिकॉप्टर बोईंग कंपनीने भारतीय वायुसेना के हाथ सौंप दिया है| अमरिका के एरिझोना राज्य में बोईंग की

रशिया आक्रामक मोड़ पर

रोमानिया में अमरिका ने ‘थाड’ तैनात करने पर रशिया ने जताई कडी आपत्ति मास्को/वॉशिंटन – ‘अस्थायी इस शब्द के अलावा लंबे समय तक चलेगा, ऐसा इस दुनिया में कुछ भी नही, इस मायने की एक रशियन पहेली है| इस वजह से अमरिका रोमानिया में कर रही थाड मिसाइल डिफेन्स की अस्थायी तैनाती यानी असल में क्या और किस लिए है, यह सवाल उपस्थित होते है| रोमानिया की मिसाइल यंत्रणाओं का

श्रीअनिरुद्ध उपासना

सद्गुरु श्री अनिरुद्धांनी आपल्या प्रवचनांमधून अनेक वेळा सांघिक उपासनेचे महत्व सांगितले आहे. सांघिक उपासनेचा फायदा प्रत्येक श्रद्धावानास मिळावा या हेतूने श्री अनिरुद्ध उपासना केंद्रांवर आठवड्यातून एक दिवस श्रीअनिरुद्ध उपासना केली जाते. श्रद्धावान स्वतःच्या व समाजाच्या सामर्थ्यवृद्धीसाठी आणि सद्गुरुंप्रती असलेला कृतज्ञतेचा भाव व्यक्त करण्यासाठी या उपासनेत सहभागी होत असतात. तसेच अनेक ठिकाणी घरगुती उपासना केंद्रांवरही उपासना केली जाते. या उपासनेचा सर्वांना अधिक चांगल्या प्रकारे लाभ घेता यावा व इतर दिवशी देखील

China-threatens-to-increase

तैवान के बाद चीन अन्य एशियाई देशों पर कब्जा करेगा – तैवानी राष्ट्राध्यक्षा की चेतावनी तैपेई: ‘राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग इनके नेतृत्व में चीन से तैवान के लिए बना लष्करी खतरा हर दिन बढ रहा है| आज चीन अपने लष्करी सामर्थ्य के बल पर तैवान पर कब्जा करने की कोशिश कर रहा है| इसके बाद एशिया के अन्य देशों पर भी इसी खतरे का सामना करने की नौबत आ सकती है|

Sadguru Shree Aniruddha's Pitruvachan (Part 1) - 31st January 2019

हरि ॐ. श्रीराम. अंबज्ञ. नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌    आज 10th और 12th के बहुत स्टुडंट्स आये हुए हैं….मस्त। Exam मे कोई फिक्र नहीं करना, Exams तो आती रहती हैं, जाती रहती हैं।    कितने लोग क्रिकेट खेले हुए हैं यहाँ? कितने लोगों ने क्रिकेट देखा हुआ है? व्हेरी गुड….एक्सलन्ट। यह हमारी ज़िंदगी भी एक क्रिकेट का खेल है। क्रिकेट जैसी ही चलती है। लेकिन यहाँ प्रॉब्लेम क्या है ना….Routine cricket

Bapu’s grace

अगदी लहानपणापासून प्रत्येकाला काही करायचे असते आणि काही बनायचे असते, म्हणजेच काहीतरी बदलायचे असते. हा हवा असणारा बदल ही त्या त्या मानवासाठी त्याच्या अपेक्षित प्रगतीची पाऊलवाट असते. अगदी दहा वर्षाच्या बालकापासून ते सत्तर वर्षाच्या वृद्धावस्थेत येऊन पोहोचलेल्या प्रौढापर्यंत प्रत्येकाला आहे त्या स्थितीत, आपण आणखी काही चांगले करायला हवे होते, मिळवायला हवे होते असे वाटतच राहते. मानवाची ही स्वत:च्या परिस्थितीत अधिक चांगले बदल घडवून आणण्याची इच्छाच त्याच्या विकासाला कारणीभूत ठरते. परंतु

खाड़ी क्षेत्र में संघर्ष की संभावना बढ़ी

गाझापट्टी में इस्राइल का ‘स्पेशल ऑपरेशन’ कार्यवाही में हमास के कमांडर सहित ७ लोग ढेर   जेरूसलेम – इस्राइली सेना की विशेष दलों ने रविवार रात गाझापट्टी में घुंसकर की कारवाई में हमास के वरिष्ठ कमांडर सहित ७ लोग ढेर हुए। दो घंटो से अधिक लंबी चली इस कार्यवाही में इस्राइली स्पेशल फोर्सेस का एक जवान भी मारा गया। इस्राइल की सुरक्षा के लिये यह कार्यवाही अत्यंत जरुरी थी, यह

दैनिक प्रत्यक्ष में इस्रायल पर प्रकाशित हो रही सिरीज़

सभी श्रद्धावान यह जानते ही हैं कि ‘दैनिक प्रत्यक्ष’ में पिछले १ साल से हम इस्रायल पर ‘इस्रायल: एक प्रवास – प्रदीर्घ, लेकिन यशस्वी’ यह मालिका प्रकाशित कर रहे हैं। इस मालिका की प्रस्तावना स्वयं डॉ. अनिरुद्ध धैर्यधर जोशी ने ही – हमारे प्रिय बापू ने ही लिखी थी। इस मालिका की शुरुआत, ज्यूधर्मियों का आद्यपूर्वज अब्राहम की कथा से होती है, जिसे ईश्वर ने दृष्टान्त देकर यह ‘पवित्र भूमी’

अमरिका सह पश्चिमी देश और रशिया में तनाव बढ़ने के आसार

रशिया की सीमा के पास युद्धाभ्यास के लिए नाटो के ४५ हजार सैनिकों की तैनाती भव्य युद्धाभ्यास में ‘इलेक्ट्रॉनिक वॉरफेअर’ का भी समावेश ब्रुसेल्स/मॉस्को – ‘सेव्हिएत संघराज्य’ के विघटन के बाद का सबसे बड़े युद्धाभ्यास के तौर पर पहचाने जाने वाले ‘ऑपरेशन ट्रायटंड जंक्चर १८’ के लिए नाटो लगभग ४५ हजार सैनिक रशियन सीमा के पास उतरने वाले हैं, यह सामने आया है।रशियन सीमा से जुड़कर स्थित नोर्वे, स्वीडन, फ़िनलैंड,