ईरान और इस्रायल के बीच अघोषित युद्ध की तीव्रता बढ़ रही है

ईरान-इस्रायल के बीच अघोषित युद्ध की तीव्रता बढ़ रही है – आन्तर्राष्ट्रीय माध्यमों की चिंता

दुबई – पाँच दिन पहले ‘रेड सी’ के क्षेत्र में ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्ड्स का तैरता अड्डा होनेवाले ‘एमव्ही साविझ’ जहाज पर हमला हुआ। इस एक घटना के कारण, पिछले कुछ सालों से खाड़ी क्षेत्र में ईरान और इस्रायल के बीच जारी अघोषित छुपा युद्ध अब भड़कने लगा है। आनेवाले समय में इन दोनों देशों के बीच के हमले-प्रतिहमलों के कारण इस क्षेत्र में तनाव बढ़कर परिस्थिति नियंत्रण से बाहर हो सकती है, ऐसी चेतावनी अन्तर्राष्ट्रीय माध्यमों ने दी है।

सन २०१९ से पर्शियन खाड़ी, ओमान की खाड़ी इस सागरी क्षेत्र में विदेशी जहाजों पर संदिग्ध हमलों का सत्र शुरू हुआ है। सऊदी, युएई तथा विदेशी ईंधन और मालवाहक जहाजों पर होने वाले हमलों के लिए ईरान ज़िम्मेदार होने का आरोप किया जा रहा था। इसके अलावा ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्ड्स ने विदेशी जहाजों का अपहरण करने के बात भी सामने आई थी।

आगे पढे : http://worldwarthird.com/index.php/2021/04/11/iran-israel-undeclared-war-hindi/

ईरान के नातांज़ परमाणु प्रकल्प में संदिग्ध ब्लैकआउट

तेहरान/दुबई/जेरूसलेम – ईरान के नातांज़ परमाणु प्रकल्प की बिजली सप्लाई खंड़ित होने की खबरें प्राप्त हुई हैं। दुर्घटना के कारण यहां की बिजली सप्लाई खंड़ित होने की प्राथमिक वजह ईरान ने बताई है। इस मामले की जाँच जारी होने का ऐलान ईरान ने किया। लेकिन, ईरान के परमाणु कार्यक्रम में बड़ी अहमियत वाले नातांज़ प्रकल्प में यह घटना संदिग्ध होने की बात दिख रही है। इस्रायल ने इस खबर को बड़ी अहमियत दी है और इसके पीछे सायबर हमला होने की कड़ी आशंका व्यक्त की है। वर्ष २०१० में इसी परमाणु प्रकल्प पर सायबर हमले करके इस्रायल और अमरीका ने ईरान को जोरदार झटका दिया था।

शनिवार की रात नातांज़ परमाणु प्रकल्प के १६४ ‘आयआर-६’ और ३० ‘आयआर-५’ सेंट्रिफ्यूजेस कैसकेड में युरेनियम हेक्साफ्लोराईड इंजेक्ट करने की प्रक्रिया शुरू करने की जानकारी ईरान के राष्ट्राध्यक्ष हसन रोहानी ने साझा की। इस वजह से वर्णित परमाणु प्रकल्प में युरेनियम संवर्धन की गति बढ़ेगी, ऐसा कहा जा रहा था।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/suspected-blackout-in-iran-natanz-nuclear-project/

युएई के तटवर्ती इलाके के पास इस्रायली कंटेनर जहाज़ पर क्षेपणास्त्र दागा – खाड़ी क्षेत्र के माध्यमों का दावा

दुबई/जेरूसलेम – पर्शियन खाड़ी से लेकर भूमध्य सागरी क्षेत्र के पट्टे में ईरान और इस्रायल के बीच भड़के अघोषित युद्ध की तीव्रता बढ़ी है। मंगलवार को इस्रायल के ‘हायपेरियॉन रे’ इस कंटेनर जहाज़ पर क्षेपणास्त्र हमला हुआ। ईरान ने ही यह हमला करवाया होने का गहरा शक ज़ाहिर किया जा रहा है। पिछले डेढ़ महीने में इस्रायली कंटेनर जहाज पर हुआ यह तीसरा हमला है। नातांझ के न्यूक्लियर प्लांट पर हुए हमले के जवाब के रूप में ईरान ने इस्रायल जहाज को लक्ष्य किया, ऐसी चर्चा शुरू हुई है।

लेबेनॉन के ‘अल मयादीन’ इस न्यूज़ चैनल ने दी जानकारी के अनुसार, कुवैत से युएई जानेवाले ‘हायपेरियॉन रे’ इस कंटेनर जहाज पर मंगलवार को क्षेपणास्त्र हमला हुआ। युएई के फुजैरा शहर के तटवर्ती इलाके के पास यह हमला होने की जानकारी अल मयादीन इस हिजबुल्लाह से जुड़े न्यूज़ चैनल ने दी। वहीं, ईरान के ‘अल-आलम’ न्यूज़ चैनल ने भी इस्रायल जहाज पर हुए हमले की खबर दी है। उसके बाद इस्रायली माध्यमों में इस खबर का चर्चा रहा।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/attack-on-israeli-container-ship-near-the-coast-of-the-uae/

इराक में स्थित मोसाद के ‘सेफ हाउस’ पर हुआ हमला

इरबिल/तेहरान – ईरान के नातांज़ परमाणु प्रकल्प में हुए विस्फोट की गूँज इराक में सुनाई देने का दावा किया जा रहा है। इस्रायली गुप्तचर यंत्रणा ‘मोसाद’ के इराक में स्थित ‘सेफ हाउस’ पर ईरान से जुड़े गुटों ने हमला करके मोसाद के एजंट्स को मार गिराया। इराक में स्थित ईरान से जुड़ी वृत्तसंस्था ने यह खबर जारी की है और जल्द ही इस हमले के फोटो जारी करने का ऐलान किया है। लेकिन, इराक में स्थित मोसाद के सेफ हाउस पर हमला होने का इराकी वृत्तसंस्था ने किया यह दावा यहां की कुर्द सरकार ने ठुकराया है।

इराक के उत्तरी हिस्से के कुर्दिस्तान में मोसाद का सेफ हाउस होने का दावा इराक स्थित ‘हकरकत हिज़बुल्लाह अल-नुजाबा’ नामक ईरान से संबंधित संगठन की वृत्तसंस्था ने किया। बुधवार की सुबह इस सेफ हाउस पर ईरान से जुड़े गुट ने हमला करके वहां पर छुपे मोसाद के एजंट्स को मार गिराया। 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/attack-on-mossad-safe-house-in-iraq/

 

Related Post

Leave a Reply