Featured Posts

Sadguru

In this discourse, Sadguru Shree Aniruddha expounds on how and what we should ask of God, who always showers His grace and mercy upon us. Further, Sadguru Bapu, using the example of Saint Chokhamela, also explains how all kinds of knowledge are gained with Bhakti. २९ सितंबर २००५ के इस प्रवचन में सद्गुरू श्री अनिरुद्ध हमें भगवान से क्या और कैसे माँगना चाहिए, यह बता रहे है। साथ ही, सद्गुरु

Dharana

In this discourse video dated 29th September 2005, Sadguru Shree Aniruddha explains why we should chant God’s name or pray for at least 24 minutes everyday. Along with this, Bapu further tells us about the correct definition of meditation and God’s immense love for His children. सद्गुरू श्री अनिरुद्ध हमें २९ सितंबर २००५ के प्रवचन व्हीडिओ में दिन के २४ घंटो में सें सिर्फ २४ मिनट भगवान का नाम सुमीरन

नैन्सी पेलोसी

हमारी ताइवान यात्रा की वजह से चीन के राष्ट्राध्यक्ष असुरक्षित हुए हैं – नैन्सी पेलोसी की फटकार  वॉशिंग्टन – ‘हमारी ताइवान यात्रा के बाद चीन ने ताइवान के इर्दगिर्द शुरू किए युद्धाभ्यास चीन के राष्ट्राध्यक्ष शी जिनपिंग असुरक्षित होने की बात दिखा रहे हैं। राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग की स्थिति कमज़ोर हुई हैं, यह हम महसूस करते हैं’, ऐसी फटकार अमरिकी सभापति नैन्सी पेलोसी ने लगाई। साथ ही अवसर मिला तो हम

overcome Boredom

In this discourse, Sadguru Shree Aniruddha Bapu explains practical ways in which one can overcome boredom, irritation, and also quarrels with loved ones. Sadguru Bapu explains the importance of devoting 24 minutes a day to God and also enlists simple practices which can help us restrain negative thoughts. २९ सितम्बर २००५ के अपने प्रवचन में, सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापू, उदासी, चिढ़चिढ़ापन, प्रियजनों के साथ झगड़े जैसी समस्याओं को दूर करने

परमाणु संघर्ष का बढ़ता खतरा

परमाणु युद्ध में किसी की भी जीत नहीं होगी – रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन  संयुक्त राष्ट्र – परमाणु युद्ध कभी भी छिड़ना नहीं चाहिये, क्योंकि इस युद्ध में किसी की भी जीत नहीं होगी, इसका अहसास रशिया के राष्ट्राध्यक्ष व्लादिमीर पुतिन ने कराया। सोमवार से न्यूयॉर्क में शुरू हुए परमाणु हथियारों के प्रसार बंदी समझौते संबंधित बैठक की पृष्ठभूमि पर पुतिन ने एक खत जारी किया। इसमें उन्होंने परमाणु

Help

– Yogeshsinh Kamble, Miraj Once a person hands over the reins of one’s life to Sadguru Aniruddha Bapu, he takes over. He looks after them during difficult times. All Bapu devotees can vouch for the fact that he not only gives advance intimation but also gets one to be in a state of preparedness, be it financial, emotional, physical or otherwise. One prepares for it even without knowing it. My

Ideas and Imagination

In his discourse on 29 September 2005, Sadguru Shree Aniruddha Bapu explains the difference between ideas and imagination. At the same time, Bapu also clarifies by giving relevant examples of what harm we do by just imagining things. Based on this, Bapu also explains to us, how and why ‘Godess Radha ji’ lives in the forest of our imaginations and thoughts and what is her role in our life.  २९