Featured Posts

कोरियन क्षेत्र में तनाव बढ़ा

कोरियन देशों की समुद्री सीमा पर गोलीबारी – कोरियन क्षेत्र में तनाव सेऊल – विवादित समुद्री सीमा का उल्लंघन करने का एक-दूसरें पर आरोप लगाकर उत्तर और दक्षिण कोरियन देशों की नौसेना ने गोलियां बरसायी। १२ साल पहले दोनों कोरियन देशों की नौसेना की इसी क्षेत्र में आमना-सामना होने के बाद गोलियाँ चली थी। इसके बाद दक्षिण कोरिया की नौसेना का जहाज डुबा था। इससे ४६ नाविक मारे गए थे।

revenge

In this discourse, Sadguru Aniruddha (Bapu) explains why we should never keep a feeling of revenge or hatred in life. इस हिंदी प्रवचन में सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापू हमे जीवन में कभी भी बदला या द्वेष की भावना क्यो नही रखनी चाहिए इस बारे में मार्गदर्शन कर रहे हैं। Discourse date: 29th December 2005  || हरि: ॐ || ||श्रीराम || || अंबज्ञ ||  

भारतीय अर्थव्यवस्था

भारत पांच सालों में 475 अरब डॉलर्स निवेष आकर्षित करेगा – ‘सीआईआई-ईवाई’ की रपट का अनुमान नई दिल्ली – भारत अगले पांच सालों में करीबन 475 अरब डॉलर्स डायरेक्ट विदेशी निवेष आकर्षित कर सकता है, ऐसा अनुमान ‘सीआईआई’ (कान्फडरेशन ऑफ इंडियन इंडस्ट्री) और ‘ईवाई’ द्वारा जारी रपट में दर्ज है। मौजूदा समय में भू-राजनीतिक तनाव की पृष्ठभूमि पर भी भारत में हो रहे डायरेक्ट विदेशी निवेष पर खास असर नहीं

forgiveness (क्षमा)

In the Hindi discourse from 29th December 2005, Sadguru Aniruddha (Bapu) tells us, How Bhagwati Radhaji always forgives unconditionally. Also, Bapu explains to us about the connection between forgiveness (क्षमा) and our growth and future development. २९ दिसंबर २००५ के हिंदी प्रवचन में सद्गुरु श्रीअनिरुद्धबापू हमें, भगवती राधाजी कैसे हमेशा अकारण क्षमा प्रदान करती हैं, यह बता रहे हैं| साथ ही, यह क्षमा, हमारी उन्नति और हमारा भविष्यकालीन विकास, किस

Mothi Aai

– Dr Shreemayi Dalvi I am Dr Shreemayiveera Dalvi, an MBBS graduate. I had always aspired to do my post-graduation in obstetrics and gynaecology, and for the same, I attempted NEET–PG exam as per the guidance of Suchit Dada. The results of NEET–PG were declared in January. I secured a rank of 14,120 at the all-India level. I was very disheartened at this rank, as going by the trend of

circumstances

– Amita Chogale, Borivali Once a Shraddhavan faces difficulties, relatives question them about Bapu. They ask about the benefits of attending his discourse. However, a real Shraddhavan is capable of answering these people directly. They have a firm belief that their Bapu is much mightier than their difficulties. In the nick of time, Bapu provides the much-needed support and helps pull the Shraddhavan from the direst circumstances.   Once a

क्षमा

In the Hindi discourse from 29th December 2005, Sadguru Aniruddha (Bapu) explains to us the true meaning of Kshama (क्षमा/ forgiveness) in a lucid manner. Besides, he clarifies upon the difference between माफी and क्षमा. २९ दिसंबर २००५ के हिंदी प्रवचन में सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापू हमें क्षमा का सही अर्थ बड़ी सरलता से बताते है| साथ ही में ‘माफ़ करना’ एवं ‘क्षमा करना’, इन दोनों में क्या अंतर है,

Making of Ambadnya Ishtika (brick) For Navratri Poojan at home

As Ashwin Navratri approaches, every Shraddhavan truly wishes to welcome and worship Aadimata Jagdamba at home. From Ashwin Shuddha Pratipada to Vijayadashami, every Shraddhavan sincerely performs poojan and aarti of various forms of Mother Durga, along with the recitation of her Grantha. For that, we, too, can make the Ambadnya Ishtika at home as a symbolic representation of the Aadimata. This video gives detailed information on how to make this