Current Affairs

Military Coup in Mali; Lithuania pulls out of China’s ’17+1′ bloc; China wants a port on Africa's Atlantic coast

Military Coup in Mali Mali, a country in the Sahel region of Africa, is facing a military coup. The military has detained President Bah Ndaw, Prime Minister Moctar Ouane and Defence Minister Souleymane Doucoure after two military officers lost their positions in the government reshuffle. International organizations including the UN, AU, EU, ECOWAS have criticised the takeover. Although the military has hold elections in 2022, the interim government under pressure

News from last week that sparked curiosity

US weekly claims that Pentagon runs Secret Army of 60,000 agents for its clandestine campaigns Washington: US intelligence agency ‘CIA’ is infamous for its secret operations abroad. The network of CIA agents is the most extensive compared to other nations. However, reports reveal that US Defense Headquarters, the Pentagon, has the world’s largest Secret Army. The Pentagon has a secret army of 60,000 soldiers to protect US interests within its

तौक्ते चक्रवात

तौक्ते चक्रवात से भटका ‘ओएनजीसी’ का बार्ज डूबा ९६ लापता, नौसेना ने ३१४ को सुरक्षित बाहर निकाला पीपावाव के करीब ‘ओएनजीसी’ के अन्य दो जहाज़ों पर ३०० लोग फंसे हैं और भारतीय नौसेना एवं तटरक्षक बल द्वारा राहतकार्य जारी है मुंबई – तौक्ते चक्रवात अब शांत हुआ है फिर भी इस तूफान ने पहुँचाए नुकसान के निशान केरल से लेकर गुजरात तक के तटीय क्षेत्र पर दिखाई दे रहे हैं। इसी तौक्ते चक्रवात

इस्राइल-पैलेस्टिनियों के बीच संघर्ष

गाज़ा से इस्राइल के प्रमुख शहरों पर हुए हमले – तीन दिनों के संघर्ष के दौरान ५९ की मौत गाझा/जेरूसलेम – इस्राइल की आर्थिक राजधानी समझी जा रहे तेल अवीव के साथ अश्‍खेलॉन, अश्‍दोद और लॉड शहर पर हमास ने रॉकेट्स की भीषण बौछार शुरू की है। बीते ३८ घंटों के दौरान इस्राइल पर १,०५० से अधिक रॉकेट्स दागकर हमास ने युद्ध में जीत हासिल करने के लिए हम तैयार

अमरीका और चीन के बीच बढता तनाव

अमरीका-चीन के बीच जारी तनाव के कारण नया शीतयुद्ध शुरू होगा – अमरिकी कुटनीतिज्ञ हेन्री किसिंजर वॉशिंग्टन – अमरीका और चीन के बीच निर्माण हुआ तनाव विश्‍व की सबसे बड़ी समस्या साबित होती है। इस समस्या का हल निकालना संभव नहीं हुआ तो इससे पूरे विश्‍व के लिए खतरा निर्माण होगा। क्योंकि, यह तनाव कम करने में नाकामी हासिल हुई तो अमरीका और चीन के बीच अलग तरह का शीतयुद्ध

इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में सैनिकी गतिविधियां तेज

अमरीका इंडो-पैसिफिक की तैनाती बरकरार रखेगी – राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन का ऐलान वॉशिंग्टन – इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में की गई तैनाती अमरीका बरकरार रखेगी। यह तैनाती इस क्षेत्र के संघर्ष के लिए नहीं है, बल्कि संघर्ष टालने के लिए है। ऐसा ऐलान अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष ज्यो बायडेन ने किया। चीन के राष्ट्राध्यक्ष जिनपिंग को हमने अमरीका की इस नीति की पूरी जानकारी प्रदान की है, यह बात बायडेन ने स्पष्ट की।

अमरीका की अफगाणिस्तान से सेनावापसी की घोषणा और भारत

अफ़गानिस्तान में उद्देश्‍य पूरा होने का बयान करके अमरीका के राष्ट्राध्यक्ष ने किया सेना की वापसी का ऐलान वॉशिंग्टन/काबुल – ‘अफ़गानिस्तान की एकजुट के लिए अमरीका ने अपने सैनिक इस देश में तैनात नहीं किए थे। ओसामा बिन लादेन को खत्म करना और अफ़गानिस्तान में स्थित आतंकियों के आश्रय स्थान नष्ट करना, इन दोनों उद्देश्‍यों के लिए अमरीका की सेना ने अफ़गानिस्तान में कदम रखा था। यह दोनों उद्देश्‍य प्राप्त

ईरान और इस्रायल के बीच अघोषित युद्ध की तीव्रता बढ़ रही है

ईरान-इस्रायल के बीच अघोषित युद्ध की तीव्रता बढ़ रही है – आन्तर्राष्ट्रीय माध्यमों की चिंता दुबई – पाँच दिन पहले ‘रेड सी’ के क्षेत्र में ईरान के रिव्होल्युशनरी गार्ड्स का तैरता अड्डा होनेवाले ‘एमव्ही साविझ’ जहाज पर हमला हुआ। इस एक घटना के कारण, पिछले कुछ सालों से खाड़ी क्षेत्र में ईरान और इस्रायल के बीच जारी अघोषित छुपा युद्ध अब भड़कने लगा है। आनेवाले समय में इन दोनों देशों

International Community comes together to resist China's aggression

Japan-Indonesia sign defence agreement due to increasing Chinese threat The Japanese foreign ministry said, ‘The consistent efforts to make changes unilaterally, in the South China Sea by using force, has become a cause for major concern. The concerns felt by Japan and Indonesia are identical.’ The Japanese foreign ministry underlined the Chinese threat without directly taking names during the two-plus-two talks between the Foreign and Defence Minister of both the

चीन की आक्रामकता के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय सक्रिय

चीन का खतरा बढ़ते समय, जापान-इंडोनेशिया रक्षा सहयोग समझौता ‘साऊथ चायना सी क्षेत्र मे ताकत का इस्तेमाल करके एकतरफ़ा बदलाव करने के लिए लगातार जारी कोशिशें चिंताजनक साबित होती हैं। जापान और इंडोनेशिया इन दोनों देशों को इस मामले में प्रतीत हो रही चिंता एकसमान है’, ऐसा जापान के विदेश मंत्रालय ने कहा है। दोनों देशों के विदेश मंत्री और रक्षा मंत्रियों में हुई ‘टू प्लस टू’ चर्चा के दौरान,