Birth of Shree Krishna and meaning of Yashoda/Devaki – Aniruddha Bapu

revealsIn this clip from the Hindi discourse dated 7th October 2004, Sadguru Aniruddha (Bapu) explains “Yashoda-anand-patnyai” naam from the Radha Sahastranaam.

Bapu first explains the simple meaning of this name of Radha ji i.e. wife (patni) of the one who gives ananda (happiness) to Yashoda (Shree Krishna’s mother). He further tells us how this name is associated with the birth of Shree Krishna and also tells us how the number 8 is associated with Krishna avatar (birth on Ashtami, 8th Avatar, 8th child of Devaki and so on).

७ अक्टूबर २००४ को किये हिन्दी प्रवचन की इस विडिओ क्लिप में सद्गुरु अनिरुद्ध (बापू) राधा सहस्त्रनाम के ‘यशोदाऽऽनंदपत्न्यै’ इस नाम को समझाकर बता रहे हैं।

बापू पहले राधाजी के इस नाम का सरलार्थ बताते हैं – ‘यशोदा (भगवान श्रीकृष्ण की माता) को आनंद प्रदान करनेवाले की पत्नी’। वे आगे बताते हैं कि कैसे यह नाम भगवान श्रीकृष्ण के जन्म के साथ जुड़ा है और किस तरह नंबर ‘८’ कृष्ण अवतार से संबंधित है (अष्टमी के दिन जन्म, आठवाँ अवतार, देवकी के आठवें पुत्र इत्यादि)

To watch more Pravachan clips in Hindi visit : https://youtube.com/playlist?list=PLBD0APAye6s0drXPsK7SrODzbjVc8Viej

|| हरि: ॐ || ||श्रीराम || || अंबज्ञ ||

॥ नाथसंविध् ॥

Related Post

Leave a Reply