Search results for “आनंद”

Ganpati

Describing ‘Brahmanaspati Ganapati’, Sadguru Sadguru Aniruddha says that ‘Brahmaspati Ganpati’ Or ‘Muladhara Ganesha’ is the original form of bliss (आनंद). Ganesh ji is the master of the ‘Muladhara Chakra’ present in the human body. Sadguru Bapu explains that Bhagwan Ganesh ji brings bliss or joy in everybody’s daily life, and the ones who enjoy this bliss and live a routine life with happiness are those who achieve happiness at the

bapu_PE

हरि ॐ इस गुरुवार को यानी दिनांक २२ जून २०१७ को बापू श्रीहरिगुरुग्राम में दर्शन के समय आये थे। लगभग ४ गुरुवारों के बाद बापू को दर्शन के समय आये देखकर श्रद्धावानों को बहुत ही आनंद हुआ। लेकिन उससे भी अधिक आनंद, बापू को चप्पल उतारकर स्टेज पर बैठे देखकर हुआ। साथ ही, बापू स्टेज पर बिना चप्पल के और बिना काठी का सहारा लिये चल रहे हैं, यह देखकर

Aniruddha Bapu told in Pitruvachanam 22 Oct 2015 that Aniruddha Bapu Pitruvachanam 22 Oct 2015

परमपूज्य सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने २२ अक्तूबर २०१५ के पितृवचनम् में ‘जब भी आनंदित होंगे, तब तब ‘ जय जगदंब जय दुर्गे ’ बोलिए’ इस बारे में बताया। अदितिमती याने काश्यपपत्नी। अदिति यानी आदिमाता का मूल स्वरूप, अदिति यानी जो कभी खंडित नहीं होती, खंडित होने देती ही नहीं। सबकुछ अखंडीत रखती है वो अदिति है राइट तो हम किसके भक्त हैं, दिति के या अदिति के? अदिति के

आनंदाचा महासागर - कोल्हापूर वैद्यकिय आणि आरोग्य शिबीर २०१३ Kolhapur Medical Camp 2013

ll हरि ॐ ll यावर्षी कोल्हापूर वैद्यकिय आणि आरोग्य शिबिरास गेलेल्या मस्कत उपासना केंद्राच्या वंदनावीरा नाईक यांचा शिबिराबद्दलचा हा अनुभव. रुद्ध ( बापू ) यांचे अकारण 

आनंदाचा उत्सव.. आत्मबल महोत्सव(The festival of Happiness Aatmabal Mahotsav)

ll हरि ॐ ll     बरोबर एक वर्षापूर्वी ५ व ६ नोव्हेंबर २०११ या दोन दिवशी श्रीहरिगुरूग्राम येथे दिवाळीचा जल्लोष साजरा होत होता. हा जल्लोष होता उत्सवाच्या आनंदाचा आणि आनंदाच्या उत्सवाचा… म्हणजेच २ दिवस चालणार्‍या आत्मबल महोत्सवाचा. ह्या महोत्सवाची संपुर्ण संकल्पना होती नंदाईची आणि त्याच बरोबर होते तीचे अविरत श्रम आणि तीच्या टीमची अतोनात मेहनत.   स्त्रियांचे आत्मबल विकास केंद्र हा उपक्रम बापू आणि नंदाई ह्यांच्या मार्गदर्शनाखाली १९९८ साली सुरू

कल दशहरा था। बापूजी खुद श्रीहरिगुरुग्राम में पधारे और सभी श्रद्धावानों को बापूजी के दर्शनों का लाभ मिला।  संपन्न हुए दशहरे के पावन पर्व की मेरे सभी मित्रों को शुभकामनाएं देते हुए मैं सदगुरु बापूजी के चरणों में यही प्रार्थना करता हूँ कि प्रत्येक श्रद्धावान का सदगुरु चरणों में “विश्वास” दृढ हो।  इस आश्विन नवरात्रि में हम सब ने कई घटनाएं देखीं। इस नवरात्रि के पहले दिन, अर्थात प्रतिपदा के दिन प्रभात समय श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम में

Shraddhavans enjoying Bapu’s presence during Pravachan आज दसरा. आज विजयोपासनेला बापू स्वत: श्रीहरिगुरुग्राम येथे हजर असतील व सर्व श्रद्धावानांना बापूंच्या दर्शनाचा लाभ होईल. माझ्या सर्व मित्रांना दसर्‍याच्या हार्दिक शुभेच्छा. दसर्‍याच्या निमित्ताने प्रत्येक श्रद्धावानाचा सद्‌गुरु चरणी “विश्वास” दृढ व्हावा हीच सदगुरु बापूचरणी प्रार्थना. या आश्र्विन नवरात्रीमध्ये आपण अनेक गोष्टी घडताना बघितल्या. या नवरात्रीच्या पहिल्या दिवशी, म्हणजेच प्रतिपदेला पहाटे श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम येथे श्रीशिवगंगागौरीच्या स्नानाचा सोहळा होवून नवरात्रीला सुरुवात झाली. अनेक श्रद्धावान या

Birth of Shree Krishna

In this clip from the Hindi discourse dated 7th October 2004, Sadguru Aniruddha (Bapu) explains “Yashoda-anand-patnyai” naam from the Radha Sahastranaam. Bapu first explains the simple meaning of this name of Radha ji i.e. wife (patni) of the one who gives ananda (happiness) to Yashoda (Shree Krishna’s mother). He further tells us how this name is associated with the birth of Shree Krishna and also tells us how the number

भारतीय अर्थव्यवस्था  से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियां

प्रधानमंत्री के हाथों १०० लाख करोड़ की ‘गतिशक्ति’ योजना का शुभारंभ – पूरे देश में राष्ट्रीय राजमार्ग और कनेक्टिविटी प्रकल्पों के माध्यम से अर्थव्यवस्था को बल प्रदान होगा देश में योजना बनाकर बुनियादी सुविधाओं का विकास करके कनेक्टिविटी बढ़ाने की १०० लाख करोड़ रुपए की योजना का शुभारंभ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार के दिन किया। ‘पीएम गतिशक्ति नैशनल मास्टर प्लैन’ के तहत देश में बुनियादी सुविधाओं का बड़ा नेटवर्क