Home / Current Affairs / दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से ‘क्रिप्टोकरेंसी’ की ओर

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से ‘क्रिप्टोकरेंसी’ की ओर

सायबर हमलों द्वारा बिटकॉइन एवं अन्य क्रिप्टोकरेंसी की चोरी – रशियन कंपनी का इशारा

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरमॉस्को: पिछले कई महीनों में बिटकॉइन के साथ अन्य क्रिप्टोकरेंसी पर सायबर हमलो में बड़ी तादाद में बढ़त हुई है और यह चलन अब सायबर हमलों से सुरक्षित नहीं है। ऐसा इशारा रशिया की कैस्परर्स्की लैब इस सायबर सुरक्षा कंपनी ने दिया है। क्रिप्टो शफलर नामक मालवेअर की सहायता से क्रिप्टोकरेंसी पर हमले चढ़ाए जा रहे हैं और लगभग डेढ़ लाख डॉलर से अधिक मूल्य के बिटकॉइंस चुराने की जानकारी इस रशियन सायबर सुरक्षा कंपनी ने दी।

Read More : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/cyber-attacks-bitcoin-theft/

बिटकॉइन के मूल्य सात हजार डॉलर्स पर

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरवॉशिंगटन: बिटकॉइन इस क्रिप्टोकरेंसी के मूल्य गुरुवार को सात हजार डॉलर्स पर गए हैं। दुनिया के सबसे बड़े ‘ऑप्शंस एवं फ्यूचर्स’ एक्सचेंज होनेवाले अमरिका के सीएमई ग्रुप में इस वर्ष के आखिर तक बिटकॉइन फ्यूचर्स के व्यवहार शुरू होने के संकेत दिए थे। इस घोषणा ने बिटकॉइन के मूल्य में १ दिन में ७ प्रतिशत से अधिक बढ़त हुई है और ७ हजार डॉलर्सका स्तर पार किया। इस विक्रमी ऊंचाई पर पहुंचे हुए स्तर की वजह से बिटकॉइन के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मूल्य १००अब्ज डॉलर्स तक गया हैं। पिछले वर्षभर के कालखंड में बिटकॉइन के मूल्य में लगभग ६४० प्रतिशत बढ़त हुई है।

अमरिकी समय के अनुसार शुक्रवार को सुबह ७ के करीब बिटकॉइन के मूल्य ७४५४ डॉलर्स इस उच्चतम स्तर पर पहुंचे थे। कॉइनडेस्क इस वेबसाइट ने यह जानकारी दी है। २ दिनों की अवधि में बिटकॉइन के मूल्य में १० प्रतिशतसे अधिक बढ़त जताई गई है। पिछले महीने मे चीन के सत्ताधारी कम्युनिस्ट पक्ष की बैठक से पहले बिटकॉइन पर बंदी उठाने की चर्चा शुरू हुई थी। इस चर्चा के आधार पर बिटकॉइन के कीमतें ५८५६ डॉलर्स पर जाकर पहुंचे थी। उसके बाद लगातार बिटकॉइन के कीमतों में बड़ी तादाद में बढ़त होने की बात दिखाई दे रही है।

Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/bitcoin-value-hike-7k-dollars/

बिटकॉइन के बारे में जानकारों का इशारा

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरसिर्फ एक वर्ष के कालखंड में बिटकॉइन की कीमत में बड़ी तादाद में बढ़त हुई है और इस क्रिप्टोकरेंसी को भविष्य में अधिक महत्व होने की बात अर्थतज्ञ ने कही है, फिर भी उसके विरोध में जानकारोंने सतर्कता का इशारा दिया है। फिलहाल बिटकॉइन की कीमत में जिस प्रकार से उच्चतम स्तर दिखाई दे रहा है, वैसे ही प्रकार के पहले बिटकॉइन की कीमतें बढ़ी थी और कुछ समय के बाद यह कीमतें २५ से ३५ प्रतिशत से गिरे थे। इस पर कुछ लोग ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। दुनिया भर के निवेशकार इससे आकर्षित हो रहे हैं और निवेश बढ़ने की वजह से गिरावट होती है, इस पर कुछ अर्थतज्ञ तथा विश्लेषक उंगली दिखा रहे हैं।

दुनिया के अग्रणी विश्लेषक एवं अर्थतज्ञो से बिटकॉइन यह अत्यंत बड़ा आर्थिक बुलबुला ठहरेगा, इस स्वरूप का इशारा दिया गया है।‘गैलेक्सी इन्वेस्टमेंट पार्टनर्स’ के अर्थतज्ञ माइक नोवोग्राटझ ने पिछले महीने में,वर्तमान समय में बिटकॉइन यह सबसे बड़ा बुलबुला हो सकता है, ऐसा सूचित किया था।

अमरिकी निवेशकार जॉर्डन बेलफोर्ट ने बिटकॉइन यह सबसे बड़ा घोटाला होने का इशारा दिया है और सऊदी अरेबिया की अब्जाधिश निवेशकार प्रिंस अलवालीद बिन तलाल ने बिटकॉइन की तुलना एनरोनइस दिवालीयाखोर अमरिकी ऊर्जा कंपनी से की है।

Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/economists-bitcoin-warning/

इस्लाम धर्म के अनुसार बिटकॉइन ‘हलाल’ साबित हो सकता है (?) – रशियन मुफ़्ती कौंसिल के अर्थशास्त्री का दावा

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरमॉस्को: बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी इस्लाम धर्म के अनुसार ‘हलाल’ साबित हो सकते हैं और ‘इस्लामिक बैंकिंग’ के लिए इसका इस्तेमाल किया जा सकता है, ऐसा रशिया में स्थित इस्लाम धर्मियों की ‘मुफ़्ती कौंसिल’ की आर्थिक सलाहकार ‘मदिना कलीमुलीना’ ने कहा है। इसके बारे में अभी तक निर्णय नहीं हुआ है, फिर भी इस पर चर्चा शुरू हुई है, ऐसा कलीमुलीना ने रशियन न्यूज़ चैनल से कहा है।

‘इन दिनों रशिया में क्रिप्टोकरेंसी पर जोरदार चर्चा च रही है। विशेष रूप से कोकेशक इलाके के इस्लाम धर्मी अर्थशास्त्रियों में इस पर गहरी चर्चा की जा रही है। इस्लाम धर्मियों के बहुसंख्या वाले रशिया के तार्तरस्थान प्रान्त की राजधानी कझान में पशुधन से संबंधित व्यवहार के सन्दर्भ में ‘मीट-कॉइन’ जैसे इसी स्वरुप के करेंसी का इस्तेमाल किया जाता है’, ऐसा कहकर आने वाले समय में इस्लाम धर्मियों में बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी को मान्यता मिल सकती है, ऐसा दावा कलीमुलीना ने किया है। इसीके साथ ही खाड़ी के प्रमुख इस्लाम धर्मीय देशों में भी बिटकॉइन का इस्तेमाल शुरू हुआ है, इस बात की तरफ कलीमुलीना ने ध्यान आकर्षित किया है।

Read More : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/islam-religion-botcoin-halal/

ऍमेझॉन ‘क्रिप्टोकरेंसी’ में उतरने की तैयारी में क्रिप्टोकरेंसी का ‘डोमेन’ दर्ज

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरवॉशिंगटन: १३६ अरब डॉलर्स वार्षिक राजस्व और निवल संपत्ति ८३ अरब डॉलर्स से अधिक वाली ‘ऍमेझॉन’ इस दुनिया की प्रमुख बहुराष्ट्रीय कंपनी ने ‘क्रिप्टोकरेंसी’ के क्षेत्र में उड़ान भरने के तैयारी की है। इलेक्ट्रॉनिक्स, ऑनलाइन शॉपिंग, क्लाउड कंप्यूटिंग और अन्य क्षेत्र में अग्रणी ऍमेझॉन ने क्रिप्टोकरेंसी के लिए तीन ‘डोमेन’ अर्थात ‘वेब एड्रेस’ दर्ज करने की खबर आई है। लेकिन अभी तक ‘ऍमेझॉन’ ने इस बारे में घोषणा नहीं की है।

कोई भी वेबसाइट लांच करने से पहले उसका रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है। इसके लिए आवश्यक शुल्क भरके हमें चाहिए जो वह ‘डोमेन’ अथवा ‘वेब एड्रेस’ अपने नाम पर किया जा सकता है। दुनिया भर के इन ‘डोमेन’ पर नजर रखने वाली एक वेबसाइट पर ‘ऍमेझॉन’ के ‘लीगल डिपार्टमेंट’ ने तीन डोमेन की खरीदारी करने की खबर प्रसिद्ध हुई है।

Read More : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/amazon-preparing-cryptocurrencies-buys-relevant-domain/

क्रिप्टोकरेंसी और ब्लॉकचेन पर नियंत्रण की आवश्यकता नहीं है- ‘रिज़र्व बैंक ऑफ़ ऑस्ट्रेलिया’ का दावा

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरकेनबेरा: ‘क्रिप्टोकरेंसी’ और उसका मूल ‘ब्लॉकचेन’ पर नियंत्रण रखने की आवश्यकता नहीं है, ऐसा दावा ऑस्ट्रेलिया का सेंट्रल बैंक ‘रिज़र्व बैंक ऑफ़ ऑस्ट्रेलिया’ ने किया है। पिछले महीने में ऑस्ट्रेलिया की संसद में हुई सुनवाई के दौरान यह जानकारी सामने आई है। ऑस्ट्रेलिया ने कुछ महीनों पहले ही ‘बिटकॉइन’ का अन्य मुद्रा की तरह इस्तेमाल कर सकेंगे, इस बात को स्पष्ट किया था। उसी समय ‘ऑस्ट्रेलियन कॉम्पिटिशन एंड कन्झ्युमर कमीशन’ ने अक्टूबर महीने में ‘बिटकॉइन’ सन्दर्भ में घोटाले की २४५ शिकायतें सामने आने की बात कही हैं।

अक्टूबर महीने में ऑस्ट्रेलियन संसद की समिति ने ‘एंटी मनी लौंडरिंग एंड काउंटर टेररिजम फाइनेंसिंग लॉ’ में सुधार के लिए कुछ महत्वपूर्ण सिफारिशें सुझाई हैं। इसमें ‘क्रिप्टोकरेंसी’ के व्यवहार करने वाले व्यावसायिकों पर नियंत्रण लाने का प्रावधान था। 

Read More : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/no-need-regulate-cryptocurrencies-blockchain/

देश के अंतर्गत व्यवहार के लिए ईरान बिटकॉइन का इस्तेमाल करेगा

दुनिया का प्रवास ’करन्सी’ से क्रिप्टोकरेंसी' की ओरतेहरान: ईरान में अंतर्गत व्यवहार के लिए बिटकॉइन का इस्तेमाल किया जाएगा। इसका गहरा अभ्यास किया जा रहा है, इसके लिए आवश्यक तैयारी भी की जा रही है, यह महत्वपूर्ण घोषणा ईरान के सुचना व संपर्क और प्रद्योगिकी विभाग के उपमंत्री ‘आमिर हुसैन दावी’ ने की है। अमरिका के आर्थिक प्रतिबंधों का सामना कर रहे ईरान की ओर से बिटकॉइन के इस्तेमाल के मामले में यह घोषणा जानकारों का ध्यान आकर्षित कर रही है।

‘रियाल’ यह ईरान की मुद्रा है और इस मुद्रा में ईरान के अंतर्गत व्यवहार किये जाते थे। विदेशी व्यवहारों के लिए डॉलर और अन्य विदेशी मुद्राओं का इस्तेमाल किया जा रहा था। लेकिन अमरिका ने ईरान पर लगाए प्रतिबंधों को प्रत्युत्तर देने के लिए ईरान ने रशिया और चीन देशों के साथ डॉलर का इस्तेमाल टालकर व्यवहार करने की पहल की थी। अब ईरान देश के अंतर्गत व्यवहार के लिए ‘बिटकॉइन’ का इस्तेमाल शुरू करने वाला है, यह जानकारी दावी ने एक दैनिक को दी है।

Read More : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/iran-use-bitcoin-domestic-transactions/

केंद्र सरकार के समिति की क्रिप्टोकरेंसी के डीलर्स पर कारवाई की सिफारिश

नई दिल्ली: भारत में क्रिप्टोकरेंसी की खरीद और बिक्री व्यवहार करनेवाले व्यवसाय एवं एक्सचेंज पर बंदी लाने की सिफारिश सरकारी समिति ने की है। बिटकॉइन या क्रिप्टोकरेंसी की कीमतें पिछले ७ हफ्ते में २०० प्रतिशत बढ़ी है और नई ऊंचाई पर पहुंची हैं। उस समय बिटकॉइन जैसे चलन में निवेश करने वाले भारतीयों की संख्या में बढ़त हुई है। इस पृष्ठभूमि पर सरकारने क्रिप्टोकरेंसी के व्यवहार पर नियंत्रण प्राप्त करने के लिए गतिविधियां शुरू करने की बात दिखाई दे रही है।

केंद्र सरकार, कारवाई, क्रिप्टोकरेंसी डीलर्स, बिटकॉइन, सिफारिश, भारत, आरबीआयपिछले महीने में चीन ने क्रिप्टोकरेंसी के खरीद एवं बिक्री पर बंदी लाई थी। उसके अनुसार १नवंबर से चीन में क्रिप्टोकरेंसी के व्यवहार बंद हुए हैं। ऐसी ही बंदी भारत में भी लाने की सिफारिश एक सरकारी समितिने की है। पर इस संदर्भ में अधिक जानकारी उजागर नहीं हुई है। बिटकॉइन की कीमतें शीघ्रगति से बढ़ रही हैं। ३ महीनों पहले १बिटकॉइन के १ लाख ७९ हजार रुपए इतना मूल्य गुरुवार को ४ लाख ५४ हजाररुपयों तक गए हैं। इस क्रिप्टोकरेंसी के बढ़ने वाले की कीमतों की वजह से कुछ भारतीय इसमें निवेश कर रहे हैं और यह निवेश करने वालों की संख्या शीघ्र गति से बढ़ रही है। इस पृष्ठभूमि पर समिति से सरकार को हुई सिफारिश का महत्व बढा है।

Read More : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/indian-govt-clampdown-cryptocurrency-dealers/

Newscast-Pratyaksha Twitter Handle

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*