Home / Hindi / फ़ायरचॅट

फ़ायरचॅट

Open Garden FireChat Logoज अगर कोई हमसे ये कहे कि बिना इंटरनेट का इस्तेमाल किये या फ़िर बिना मोबाइल नेटवर्क का इस्तेमाल किये हम लोग अपने मोबाइल फ़ोन से कम्युनिकेट कर सकते हैं, मेसेजेस भेज सकते हैं! तो हमे क्या लगेगा? हमे इस बात बिलकुल विश्वास नही होगा| लेकिन आज हमे एक ऐसा ऍप देखना हैं, जो कि बिना इंटरनेट के और बिना मोबाइल फ़ोन नेटवर्क कव्हरेज के भी चलता रहता हैं, और हमे कनेक्टेड रखता हैं| इस ऍप का नाम हैं फ़ायरचॅट!!

एसएमएस और फ़ोन कॉल से भी ज्यादा आजकल सब लोग सोशल मिडिया ऍप के जरिये ही (जैसे कि फ़ेसबुक, व्हॉट्सऍप, व्टिटर ई|) एक दुसरे के साथ आसानी से जुडे (कनेक्टेड) रहते है| लेकिन इन सोशल मिडिया ऍप के लिये हमे सबसे ज्यादा जरुरत होती हैं डाटा पॅक या फ़िर इंटरनेट की| इंटरनेट के बिना हम इसमें से कोई भी ऍप का इस्तेमाल नही कर पायेंगे|

लेकिन फ़ायरचॅट एक ऐसा अनोखा ऍप हैं, कि जो इंटरनेट उपलब्ध ना होते हुये भी या फ़िर मोबाइल फ़ोन सिग्नल जॅम होने पर भी बिना किसी दिक्कत के चलता रहता हैं, और हम इसके जरिये संदेश (टेक्स्ट मेसेजेस तथा फ़ोटो) भेज सकते हैं!

फ़ायरचॅट के फ़िचर्स:

१| फ़ायरचॅट एक मेसेजिंग ऍप (चॅटिंग ऍप्लिकेशन) हैं, इससे हम हमारे दोस्तों से तथा फ़ॅमिली मेम्बर्स के साथ चॅट कर सकते हैं तथा photos भेज सकते हैं|

२| फ़ायरचॅट से हम लोग पब्लिक और प्रायव्हेट दोनो तरह के मेसेजेस भेज सकते हैं| पब्लिक मेसेज हम लोग “चॅट रुम्स” मे डाल सकते हैं, इसमे भेजे गये मेसेजेस कोई भी फ़ायरचॅट युजर पढ सकता हैं, यह चॅट रुम्स अलग अलग टॉपिक पर रहते हैं, और हर एक चॅट रुम का टॉपिक हॅश टॅग से संबोधित होता हैं|
हम एक दुसरे को Private मेसेज (one-to-one message) भी कर सकते हैं, यह मेसेजेस कोइ और पढ नही सकता| बिलकुल एस.एम.एस. की तरह यह फ़िचर काम करता हैं!
फ़ायरचॅट ऐसा पहला ऍप हैं जो कि प्रायव्हेट मेसेजेस के लिये एंड-टू-एंड एन्क्रिप्शन (end-to-end encryption) इस्तेमाल करता हैं|

३| युझर्स इसमे एक दुसरे को फ़ोलो (Follow) भी कर सकते हैं|

४| फ़ायरचॅट इन्टरनेट के साथ भी चलता हैं, जब मोबाइल मे इंटरनेट उपलब्ध हो, तब वह इंटरनेट के जरिये मेसेजेस भेजता हैं, और जब इंटरनेट उपलब्ध ना हो, तो फ़ायरचॅट एक अलग तरीके का इस्तेमाल करता हैं!

internet

५| जब इंटरनेट उपलब्ध ना हो तब हमारे फ़ोन मे मौजूद ब्लुटुथ तथा वाय फ़ाय टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके एक दुसरे से लगभग २०० फ़ीट के दूरी वाले फ़ायरचॅट युजर्स को यह ऍप अपने आप कनेक्ट कर लेता हैं| इस प्रकार से युजर्स को एक दुसरे के साथ कनेक्ट करके फ़ायरचॅट अपने आप मे ही एक नेटवर्क बना लेता हैं (निम्न दर्शित चित्र के अनुसार) (Illustration) | तकनिकी भाषा मे इसे मेश नेटवर्क (Mesh Network) कहते हैं| इस प्रकार से सैकडों तथा हजारो युजर्स एक दुसरे के साथ जुड सकते हैं| इसी नेटवर्क का इस्तेमाल करके मेसेजेस तथा फ़ोटो भेजे जाते हैं, इसलिये मोबाइल नेटवर्क डाउन भी हो जाये, तब भी फ़ायरचॅट के बनाये इस नेटवर्क पर कोइ असर नही पडता|

६| जितने ज्यादा लोग इसे युज करेंगे उतनाही बडा नेटवर्क यह बना लेता हैं और उतनी ही आसानी से मेसेजेस भेजे जा सकते हैं| हालांकी सेलफ़ोन नेटवर्क मे, अगर ज्यादा लोग एक जगह पर इकट्ठे हो जाये, तो वो जॅम होने लगता हैं|

७| इन्ही फ़िचर के कारण यह ऍप जहॉं पर बहुत ज्यादा भीड हो, वहॉं पर एक दूसरे के साथ संपर्क बनाये रखने के लिये काम आता हैं|

अगर कोई आपत्ती (डिझास्टर) आ जाती हैं, तब तभी भी यह ऍप बहुत काम आता हैं, क्योंकि किसी भी बडी आपत्ती मे सबसे पहले मोबाइल नेटवर्क डाउन हो जाते हैं, ऐसी आपदा के परिस्थीती मे भी फ़ायरचॅट हमे जोडें रखता हैं। जीस मोबाईल पर यह ऍप इंस्टॉल किया गया हैं; ऎसा हर एक मोबाईल रिले स्टेशन का काम करता हैं। अर्थात यह किसी भी बाहर के नेटवर्क पर डिपेंड (Depend) नही होता|

८| यह ऍप ऍण्ड्रोईड Android तथा iOS पर फ़्री मे उपलब्ध है ! हम लोग प्ले स्टोअर तथा ऍप स्टोअर मे जा कर इस ऎप को अपने मोबाइल या तो फ़िर टॅब्लेट पर डाऊनलोड कर सकते है !

वर्तमान में फ़ायरचॅट के दुनियाभर मे लगभग ६० लाख युजर्स हैं, जिनमे से १० लाख युजर्स सिर्फ़ हिन्दुस्थान मे ही हैं, पिछले साल जब चेन्नई में भारी वर्षा और पुर परिस्थिति के दौरान फायरचॅट युज करनेवाले लोगो ने #ChennaiRains, #ChennaiFlooded, #ChennaiFloods जैसे चॅट रुम्स स्थापित करके एक दूसरे के साथ संपर्क बनाये रखा था| यह एक उदाहरण ही फ़ायरचॅट के महत्त्व को अधोरेखित करता हैं|

FireChat FAQ

My Twitter Handle

2 comments

  1. Hari Om Dada,

    Ambadnya for explaining about this useful application.

  2. nikhilbhalwankar

    Ambadnya for the vital information Dada. This app will be very useful.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*