हमारी हर एक की अपनी अपनी क्षमता होती है (We All Have Our Own Abilities)

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ९ अक्तूबर २०१४ के प्रवचन में ‘हमारी हर एक की अपनी अपनी क्षमता होती है’ इस बारे में बताया।

 

हमारी हर एक की अपनी अपनी क्षमता होती है (We All Have Our Own Abilities)पहले inter science था, अभी तो उसके बाद में, बहुत सालों के बाद, १२वीं आयी, inter-science के बाद, मतलब १२वीं के बाद समझो, 12th के बाद, एक तो बच्चे मेडिकल में जायेंगे, engineering में जायेंगे तो सिर्फ कौन से, तो इलेक्ट्रिकल, mechanical, उसके बाद में सिव्हिल इंजिनियर्स, उसके बाद में इलेक्ट्रॉनिक्स, उसके बाद में कॉम्प्युटर इंजिनियर्स, बस! वो सौ लोग जहा जा रहे हैं झुंड में, उसके पीछे हम लोग जायेंगे। और उधर admission नही मिली, तो दूसरों में जायेंगे, दूसरे कोई रास्ते हैं ही नहीं हमारे लिये।

क्या सिर्फ डॉक्टर बनना, इंजिनियर बनना या चार्टर्ड अकाऊंटंट बनना, आज कल एक कंपनी सेक्रेटरी add हो गया है, उसके सिवा हम लोग सोचते ही नहीं। हर कोई कॉमर्स में जाता है, सोचता है कि मेरा बच्चा बस अभी CA बनेगा। बच्चा आठ बार फेल हो गया तो भी नहीं, CA ही बनेगा, वो B.com भी नहीं होता।

मैं उनकी खिल्ली नहीं उडा रहा हूं, उनको दोष नहीं दे रहा हूं, लेकिन हर की अपनी अपनी एक चाहत है, क्षमता अलग अलग होती है। हम बस, कॉमर्स गया तो CA बनना है। डॉक्टर बनना है, तो MS ही बनना है। इंजिनियर बनना है तो बस, कॉम्प्युटर इंजिनियर ही बनना है। क्या बाकी की शाखाओं को नोकरी नहीं मिल रही? उनको अच्छे जॉब नहीं मिल रहे? और इंजिनियर बनने के बाद जॉब क्या चाहिये, डेस्क जॉब चाहिये। साईट पर जॉब नहीं चाहिये जवान जवान बच्चों को और चाहते हैं कि हमें प्रमोशन मिले। और डेस्क पर का काम चाहिये, इसलिये हम कॉम्प्युटर इंजिनियर बनते हैं कि आराम से कुर्सी पर बैठो, टक – टक करो, शरीर को कोई तकलीफ नहीं। क्यो? जो सौ लोग करते है, हजार लोग करते हैं, वही हम लोग करेंगे। ढूंढने की भी कोशिश नहीं करेंगे।

हमारी हर एक की अपनी अपनी क्षमता होती है, इस बारे में हमारे सद्गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने प्रवचन में बताया, जो आप इस व्हिडिओ में देख सकते हैं।

॥ हरि ॐ ॥ ॥ श्रीराम ॥ ॥ अंबज्ञ ॥

Related Post

Leave a Reply