Home / Hindi / व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग – भाग १

व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग – भाग १

मारे पडोस में रहने वाली चाची का लडका विगत कई वर्षो से विदेश में रहता है। जब वह विदेश गया था तो शुरआत का कुछ समय चाची के लिये काफी कठिन गुजरा। वहाँ पर उसका कौन खयाल रखेगा? वो क्या खाता होगा? इत्यादि इत्यादि अनेक चिंताओं ने चाची को घेर रखा था। इसीलिये विदेश से फोन आते ही वह उसपर प्रश्नों की झड़ी लगा दिया करती थी। उसके लिये वह रात-दिन उसके फोन का इंतजार किया करती थी। परंतु आजकल हमारी यह चाची बिल्कुल मस्त है। क्योंकि आजकल अपने लडके का ‘आंखों देखा हाल’ वह जिस समय चाहे देख सकती है और अपने बच्चे से गप-शप कर सकती है। इतना ही नही बलकी विदेश में अपनी बहू को रसोईघर में भोजन बनाने की विधी भी बता सकती है और उससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि अपने नाती-पोतोंको कहानियाँ भी सुना सकती है। यह सब भला, कैसे संभव हो सका?

वर्तमान में व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग सोशल मीडिया का सक्षम साधन बन गया है। कोई भी व्यक्ति चाहे जितनी दूरी पर हो, यदि उसके पास व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग की पर्याप्त साधन सामग्री उपलब्ध हो, तो सात समुद्र पार रहने वाले उसके मित्रों, शुभचिंतको, रिश्तेदारों को वह देख सकता है और उनसे बात चीत भी कर सकता है। अब हमारे-आपके जैसे सामान्य व्यक्तियों के मन मे यह प्रश्न उठेंगे कि, अरे ये जो व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग है उसका उपयोग हम कर सकते है क्या? इसके लिये कुछ Training लेनी पडेगी क्या? क्या इसके लिये इंग्लिश का पर्याप्त ज्ञान होना आवश्यक है? क्या इसके लिये कॉम्प्युटर का उपयोग अच्छी तरह आना जरुरी है? तो उपरोक्त सभी प्रश्नों का उत्तर है नही ….नही और बिल्कुल भी नहीं।

जैसा कि पहले बताया गया है कि जिस मनुष्य को कॉम्प्युटर की थोडी-बहुत जानकारी है और कॉप्युटर सिखने की इच्छा है तो वह व्यक्ति आसानी से व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग सीख सकता है। इतना ही नहीं बलकी वह उसका अच्छी तरह उपयोग भी कर सकता है। तो आइये अब हम, व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग कैसे करना हैं और यह करने के लिये कौन से साधनों की आवश्यकता होती है, इसकी जानकारी लेते है।

व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग के लिये
आवश्यक उपकरण
(Equipment required for Video Conferencing)

जिसप्रकार चावल बनाने के लिये सिर्फ चावल और शेंगडी (चुल्हा) ही पर्याप्त नही होते बलकी पकाने के लिये बर्तन का होना भी उतना ही आवश्यक होता है उसीतरह व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग के लिये सिर्फ कॉम्प्युटर और इंटरनेट ही पर्याप्त नहीं है, उसके साथ कुछ अन्य चीजे भी अत्यंत आवश्यक होती है।

व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग के लिये आवश्यक उपकरणों को दो भागों मे बांटा जा सकता है। सॉफ्टवेयर और हार्डवेअर। एकदम सरल भाषा मे कहना हो तो सॉफ्टवेयर का तात्पर्य है जो हमे कॉम्प्युटर के स्क्रीन पर दिखायी देता है। अर्थात थोडी देर में जिसपर अपने सगे संबधियों से अथवा शुभचिंतको को देखने वाले है वह भाग तथा हार्डवेअर अर्थात जिसका उपयोग करके हम उनके साथ बातचीत करेंगे वे साधन। उदाहरण देना हो तो स्काईप (Skype), गुगल हॅन्गआऊट (Google Hangout) इत्यादि सॉफ्टवेयर है और हेडफोन (Head phone), वेबकॅम (Webcam) जो एक प्रकार का कॅमेरा है तथा माईक (Mic) इत्यादी हार्डवेअर है।

VC-METHODS

व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग का उपयोग करके व्हिडिओ कॉल (Video call) करने के लिये हमें जिस हार्डवेअर की आवश्यकता होती है, वह है कॉम्प्युटर, वेबकॉम, माईक और स्पीकर। इनमें से माईक और स्पीकर अलग से लेने के बजाय हम माईक युक्त हेडफोन का भी उपयोग कर सकते है। ऐसा करने पर अलग से स्पीकर लेने की आवश्यकता नही पडती। ये सब साधन हमारे लिये मार्केट में सहजता से तथा सस्ते भावों मे उपलब्ध हैं।

अब बचे सॉफ्टवेयर। व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग के लिये लगने वाले सॉफ्टवेयर्स इंटरनेट पर मुफ्त व आसानी से उपलब्ध हैं। और उन्हे हम आसानी से डाऊनलोड कर सकते है। इंटरनेट पर उपलब्ध सॉफ्टवेयर्स मे स्काईप (Skype) तथा गुगल हॅगाआऊट (Google Hangout) बडी मात्रा में उपयोग किये जाने वाले और उपयोग के लिये बिल्कुल आसान सॉफ्टवेयर्स है। हमने व्हिडिओ कॉलिंग के लिये आवश्यक साधनों की जानकारी तो ली, अब हम देखेंगे कि इन दोंनो सॉफ्टवेयर्स का प्रयोग करके हम अपने ईष्ट – मित्रों से व्हिडिओ कॉल किस तरह कर सकते है।

व्हिडिओ कॉलिंग सॉफ्टवेयर

१. स्काईप Skype 

SKYPE-TMस्काईप शब्द का व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग के इतिहास में एक अलग महत्व है। इसका सबसे महत्वपूर्ण कारण यह है कि जब अगस्त २००३ में स्काईप आया तो उसके आसान उपयोग के चलते वे इतना प्रसिध्द हो गया कि कार्पोरेट जगत में एक व्हिडिओ कॉन्फरन्सिंग=स्काईप यह संकल्पना अस्तित्व मे आयी। ‘अरे वो जरा स्काईप कर रे’ ऐसे वाक्यों का उपयोग नियमित रुप से होने लगा। इसका एक ही कारण है कि, उपयोग करने में आसान और डाऊनलोड (Download) करने के लिये सहज उपलब्ध। इसीलिये हमें स्काईप का प्रयोग करने और उसके बारे में जानकारी होना आवश्यक है।

१.१ स्काईप सॉफ्टवेयर डाऊनलोड व इन्स्टॉल कैसे करें
(How to download and install Skype set up)

१.  सबसे पहले यह देख ले कि इंटरनेट ठीक से चल रहा है या नहीं।

google search२. उसके बाद कोई भी ब्राऊझर (Browser) चालू करें। अपने कॉम्पुटर पर मोझिला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox), गुगल क्रोम (Google Chrome) और इंटरनेट एक्सप्लोरर (Internet Explorer) इत्यादि बाऊझर रहते है। उनमें से कोई भी एक ब्राऊझर खोलकर उस के ऍड्रेस बार में www.google.com टाईप करें। 

३. अब गुगल के सर्च बार में स्काईप (Skype) टाईप करें। इसके बाद स्काईप की अधिकृत वेबसाईट की लिंक दिखायी देगी। उस लिंक पर क्लिक करे।

SKYPE-SEARCH
४. थोडी ही देर में आपके ब्राऊझर पर एक पेज (Page) खुलेगा। उसमें ऊपर की ओर Download नाम का टॅब दिखेगा। उस टॅब पर क्लिक करें।

VC-Final-1
५. उसके बाद खुले हुये नये पेज पर नीचे की और Get Skype for windows desktop नामक हरे रंग का बटन दिखाई देगा।

get skype

06_Video-C-FINAL-11६. उस बटन पर क्लिक करने पर आपके ब्राऊझर में स्काईप सॉफ्टवेयर डाऊनलोड होना शुरु हो जायेगा। यह सॉफ्टवेयर डाऊनलोड हो रहा है या नही, यह आप आपके ब्राऊझर के डाऊनलोड भाग (Section) में देख सकते है |

FINAL-13इस प्रकार हमने स्काईप सॉफ्टवेयर अपने कॉम्पुटर पर डाऊनलोड कर लिया। डाऊनलोड हो चुके सॉफ्टवेयर को हम डाऊनलोड डिरेक्टरी (Download Directory) में देख सकते है। वो किसतरह दिखायी देगा, यह हमें बगल के चित्र में दिखाया गया है।

अब हम देखेंगे कि इस सॉफ्टवेयर को अपने कॉम्पुटर पर इन्स्टॉल कैसे किया जा सकता हैं।

१. हमें अपने डाऊनलोड डिरेक्टरी में उपरोक्त छायाचित्र मे दर्शाये गये प्रकार की तरह ‘SkypeSetup.exe’ नाम का आइकॉन (icon) दिखायी देगा। सॉफ्टवेयर इन्स्टॉल शुरु करने के लिये उस आइकॉन पर डबल क्लिक करें।
२. उसके बाद अपने कॉम्पुटर पर एक विंडो खुलेगी। उस विंडो में आपको नीचे की तरफ ‘I agree – Next’ नामक बटन दिखेगा। इस बटन पर क्लिक करें।

Video-Conferancing-FINAL-17
३. अगले दो स्क्रिनों पर हमें नीचे की तरफ ‘Continue’ नाम का बटन दिखाई देगा। उस पर क्लिक करें। साथ ही साथ बायी ओर के दोंनो चौकोनों पर टिकमार्क करें।

Skype-Installation-Screensh

४. इन्स्टॉल करने की उपरोक्त सारी प्रक्रिया पूरी हो जाने के बाद आपको स्क्रिन पर दिखाये गये चित्र के अनुसार, एक नयी विंडो दिखायी देगी। यदि यह विंडो दिखायी देती है तो इसका अर्थ है कि अपनी इन्स्टॉल की प्रक्रिया पूरी हो गयी है।

06_VConferancing-FINAL-22
हमने अपने कॉम्प्युटर पर स्काईप पूरी तरह इन्स्टॉल कर लिया है और अब हम व्हिडिओ कॉल करने के लिये पूरी तरह से तैयार हैं। स्काईप शुरु तो हो गया परंन्तु उसपर हमें अन्य लोग कैसे पहचानेंगे? तात्पर्य यह है कि स्काईप पर अपने नाम की पहचान होना आवश्यक है। साथ ही साथ स्काईप का उपयोग करने के लिये अपने पास युजरनेम (username) और पासवर्ड (Password) होना आवश्यक है।

क्रमश:

भाग २ भाग ३ भाग ४ भाग ५

My Twitter Handle

3 comments

  1. Akshata Acharekar

    Ambadnya a lot Samir Dada. The post is very much specific and informative. I followed it stepwise and opened my skype account. Feeling very happy. Eagerly waiting for next part. Ambadnya.

  2. Dr. Harshalee Lokhande

    Ambadnya. Very simplified and useful.

  3. amitsinha.salvi

    जय जगदंब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*