Home » Pravachans of Bapu » Hindi Pravachan » रिक्रिएशन का वास्तविक अर्थ (The real meaning of Recreation) – Aniruddha Bapu

रिक्रिएशन का वास्तविक अर्थ (The real meaning of Recreation) – Aniruddha Bapu

परमपूज्य सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने १४ जनवरी २०१६ के पितृवचनम् में ‘रिक्रिएशन के वास्तविक अर्थ’ के बारे में बताया।

Aniruddha Bapu told in his Pitruvachanam dated 14 Jan 2016 that, 'The real meaning of Recreation'

रिक्रिएशन का वास्तविक अर्थ (The real meaning of Recreation) – Aniruddha Bapu

अगर देखो तो आप ये शब्द उसके ट्रांस्लेशन में बहुत बार देख सकोगे, इडा। आप लोगों ने अगर सर्च किया कॉम्प्युटर में, मै देख चुका हूं तो इसका जो मतलब आता है Recreation meaning in Sanskrit, वहा मनोरंजन के साथ साथ इडा शब्द आता है and that is the perfect word. वही सबसे बेहतरीन शब्द है, इडा। हम लोग तो जानते हैं, इडा और पिंगला ये दो क्या हैं? नाडी है। इडा लेफ्टवाली है, पिंगला राईटवाली है। ये चंद्र नाडी है, ये सूर्य नाडी है, बीच में सुषुम्ना नाडी बहती है। पता है ना? ये तो सभी को पता होना चाहिये, मैंने बार बार कहा हुआ है, ग्रंथ में लिखा हुआ है।

So, यहां नाडी की बात बाद में करेंगे, पहले इडा शब्द का अर्थ क्या है? तो, मनोरंजनात्मक श्रमपरिहार and that is the real meaning of Recreation. हम लोग सोचते हैं कि इधर जाओ, कुछ पिकनिक के लिये जाओ, कुछ ये करो कुछ वो करो, वो ही सिर्फ Recreational Activity है। नही। और रिक्रियेशन बहुत आवश्यक है। क्योंकि हमारे वेदों ने, पहले से हमारे योगशास्त्र ने पहले से बताया है कि इडा और पिंगला इन दोनो नाडियों का बहना और उनका संतुलित अस्तित्व ही इन्सान के लिये बहुत आवश्यक है।

पिंगला नाडी जो है, वो हमे कार्य करने के लिये शक्ति प्रदान करती है क्योंकि वो सौर नाडी है। सूर्य नाडी है, सूर्य ताकद देता है, प्रकाश देता है, एनर्जी देता है, ऊर्जा देता है। तो ये पिंगला नाडी जो बहती है, वो पिंगला नाडी क्या करती है, हमें कार्य करने की ताकद देती है, हैसियत देती है। कार्य करने के लिये जो आवश्यक है, उसे आप तक लाने की कोशिश करती है। आपको यश के और नजदिक जाने के लिये जो स्टॅमिना चाहिये वो देने की कोशिश करती है| और काम करते वक्त जो आपको विश्राम चाहिये, रिफ्रेशमेंट चाहिये बुद्धि फ्रेश होने के लिये यानी जो उत्साह चाहिये ये सब पूरा करने का काम किसका होता है? इडा नाडी का, इस बारे में हमारे सद्गुरु अनिरुद्ध बापू ने पितृवचनम् में बताया, जो आप इस व्हिडिओ में देख सकते हैं।

॥ हरि ॐ ॥ ॥ श्रीराम ॥ ॥ अंबज्ञ ॥

My Twitter Handle

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Real Time Analytics