Africa

MENA

US imposes sanctions on Russian and Chinese companies that assist Iran Washington – The United States has imposed sanctions against Russian and Chinese companies for supplying sensitive technology, to the Iranian missile program. US Secretary of State, Mike Pompeo gave information regarding this on Friday.  Read More: http://www.newscast-pratyaksha.com/english/us-imposes-sanctions-on-russian-and-chinese-companies-that-assist-iran/ Iran should not hurry to retaliate against the attackers, appeals former CIA Chief John Brennan Washington: – Former CIA Chief John Brennan

तुर्की की गतिविधियों के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय समुदाय आक्रामक

तुर्की को रोकने के लिए ग्रीस और ‘युएई’ का रणनीतिक साझेदारी समझौता अथेन्स/अबुधाबी – तुर्की के बढ़ते वर्चस्ववादी क़ारनामें रोकने के लिए ग्रीस ने ज़ोरदार गतिविधियाँ शुरू की हैं। पिछले कुछ महीनों में ग्रीस ने, अमरीका के साथ फ्रान्स, इस्रायल, इजिप्ट एवं भारत के साथ सहयोग बढ़ाने के लिए पहल की थी। इसमें अब ‘संयुक्त अरब अमीरात’ (युएई) का इज़ाफा हुआ है और ग्रीस ने इस देश के साथ सीधे

आफ्रिका से जुडी खबरें

जिम्बाब्वे में सरकार विरोधी प्रदर्शन रोकने के लिए सेना की तैनाती हरारे/बुलावायो: ईंधन और जरूरी सामान की किंमतों में हुई बढोतरी और कैश की हो रही किल्तत के कारण जिम्बाब्वे में महंगाई सीधे १७५ प्रतिशत तक जा पहुंची है| इस महंगाई के लिए सरकार ने अपनाई गलत नीति जिम्मेदार होने का आरोप करके ‘मुव्हमेंट फॉर डेमॉक्रॅटिक चेंज’ इस दल ने आक्रामक प्रदर्शन शुरू करने की तैयारी की है| लेकिन, सरकार

आफ्रिकी महाद्धीप में चल रहीं उलथपुलथ

नाइजेरिया में दो आतंकी हमलों में ५० लोगों की बलि अबुजा: ‘आईएस’ यह आतंकी संगठन अफ्रीका में मजबूत होने के संकेत प्राप्त हो रहे है| अफ्रीका में प्रमुख अर्थव्यवस्था में से एक के तौर पर पहचाने जा रहे नाइजेरिया में पिछले पांच दिनों में दो बडे आतंकी हमलें हुए है और इन हमलों में कम से कम ५० लोगों की बलि गई है| इन हमलों के पीछे ‘आईएस’ का हाथ

Africa

Famine and starvation in Africa – the biggest humanitarian crisis since 1945, cautions UN Unites Nations : In the African continent, just four countries contribute to more than two million citizens suffering from famine and starvation. The UN has claimed that this has been the biggest humanitarian crisis since 1945. If the international community does not come together to mutually resolve this issue, there will be no other option but to