श्रीत्रिविक्रम स्थापना दिन

हरि ॐ, नाथसंविध्‌। श्रद्धावानों के लिए ‘श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌’ यह अत्यन्त प्रेममय एवं भक्ति का विषय है। इस गुरुक्षेत्रम्‌ के विविध श्रद्धावानों के साथ श्रद्धावानों की नाड़ी मानों नाजुक प्रेम के धागे से जुड़ गई है। इस गुरुक्षेत्रम्‌ के श्रद्धावानों के बहुत ही पसंदीदा दैव है ‘त्रिविक्रम’, जिनका प्रतीकात्मक स्वरूप ‘त्रिविक्रम लिंग’ यहाँ पर अधिष्ठित है। २६ मार्च २०१० ‘हनुमानपूर्णिमा’ के पवित्र दिन गुरुक्षेत्रम्‌ में, ‘गुरुक्षेत्रम्‌ मंत्र के गजर के साथ