अफगानिस्तान से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियां

अफगानिस्तान की वायव्य सीमा पर तालिबान की कार्रवाईयों में बढोतरी – २२ अफगान सैनिक ढेर, १५० सैनिकों का अपहरण

अफगानिस्तान से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियांमझार-ए-शरिफ – अफगानिस्तान के भविष्य को लेकर अमरिका के साथ शुरू बातचीत में सफलता प्राप्त होने का दावा किया हो फिर भी तालिबान ने अपनी आतंकी गतिविधियां रोकी नही है| अफगानिस्तान के वायव्य दिशा में ‘बदघिस’ प्रांत में तालिबानीयों ने अफगानी सेना पर किए हमले में २२ सैनिकों की मौत हुई है और ५० लोगों का अपहरण किया गया है| इस हमले से बचने के लिए तुर्कमेनिस्तान की दिशा में भाग रहे कम से १०० अफगान सैनिकों को भी कब्जे में करने का दावा तालिबान ने किया है|

पिछले हफ्ते में ‘बदघिस’ प्रांत में अफगान सेना और तालिबानी दहशतगर्दों के बीच जोरदार संघर्ष शुरू होने की जानकारी अमरिका के प्रमुख समाचार पत्र ने प्रसिद्ध की| इश संघर्ष में तालिबानी दहशतगर्दों ने १९० अफगान सैनिकों का अपहरण करने का समाचार शनिवार के दिन सामने आया था| लेकिन, तालिबान का प्रवक्ता झबिउल्लाह मुजाहिद के हवाले से अमरिकी समाचार पत्र ने प्रसिद्ध की हुई जानकारी में इस संघर्ष में २२ अफगान सैनिकों की मौत हुई है और १५० अफगान सैनिकों का अपहरण करने की जानकारी तालिबान के प्रवक्ता ने दी है|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/increase-talibans-actions-northwestern-border-afghanistan/

अफगानिस्तान से जा रहे ‘बेल्ट ऍण्ड रोड’ परियोजना के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्रसंघ में अमरिका-चीन आमने-सामने

अफगानिस्तान से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियांन्यूयॉर्क: आशिया, अफ्रीका और सीधे यूरोप तक जोड़नेवाले चीन के महत्वाकांक्षी बेल्ट एंड रोड प्रोजेक्ट को लेकर संयुक्त राष्ट्रसंघ में अमरिका और चीन में बहस हुई है| अफगानिस्तान से जानेवाला चीन का यह प्रकल्प अफगानी जनता के हित में ना होकर, चीन अपने हितसंबंधों के लिए यह प्रकल्प कार्यान्वित करने का आरोप अमरिका ने किया है| तथा अमरिका के आरोप पूर्वगृहदूषित और अवास्तविक होने का आरोप चीन ने किया है|

अफगानिस्तान के राजनैतिक एवं आर्थिक व्यवस्था संभालने के लिए शुक्रवार को राष्ट्रसंघ की विशेष बैठक का आयोजन किया गया था| अफगानिस्तान के संघर्ष में तथा पुनःनिर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभानेवाले अमरिका ने वहां के राष्ट्रसंघ के विशेष दूतावास की अवधि बढ़ाने की मांग की है| यह दूतावास अफगानी जनता के लिए तथा वहां के पुन:र्निर्माण में शामिल विदेशी नागरिकों को सहायक होगा, ऐसा अमरिका का कहना था|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/us-china-faceoff-belt-road-scheme/

अमरिका के साथ हो रही बातचीत के बाद अफगान युद्ध की जल्द ही समाप्ति होगी – तालिबान का उप-प्रमुख मुल्लाह अब्दूल घनी बरादर ने किया दावा

अफगानिस्तान से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियांइस्लामाबाद – अमरिका के साथ हालही में हुई बातचीत को बहुत बड़ी सफलता प्राप्त हुई है और अफगानिस्तान में १८ वर्ष से शुरू युद्ध खत्म करने के लिए यह बातचीत सहायक होगी, ऐसी घोषणा अफगान तालिबान का उप प्रमुख मुल्लाह अब्दुल घनी बरादर ने की है| २ दिनों पहले अमरिका के विशेष दूत झाल्मे खलीलझाद ने तालिबान के साथ चर्चा पर समाधान व्यक्त किया था| पर अफगान तालिबान की इस चर्चा पर अफगानिस्तान में गनी सरकार ने आलोचना की है|

कतार की राजधानी दोहा में पिछले १६ दिनों से अमरिका और तालिबान में मैराथौन चर्चा हुई थी| अमरिका ने अफगानिस्तान में तालिबान के साथ बातचीत करने के लिए नियुक्त किए विशेष दूत खलिलझाद के नेतृत्व में अमरिका के प्रतिनिधि गट भी इस चर्चा में शामिल हुए थे| तथा अफगान तालिबान का राजनैतिक दलों के साथ पहली बार तालिबान के संस्थापकों में से एक और उप प्रमुख अब्दुल घनी बरादर भी इस बातीचत में शामिल हुआ था| तालिबान का वरिष्ठ नेता इस चर्चा में शामिल होने की वजह से इस से समाधान निकलेगा, ऐसी आशंका जताई जा रही थी|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/afghan-war-ends-soon/

अफगान सीमा पर पाकिस्तान ने शुरू किया तोंपों से हमला – अफगान नागरिक डर के साये में

अफगानिस्तान से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियांकाबुल – अफगानिस्तान के सीमा भाग में पाकिस्तानी लष्कर ने टैंक द्वारा हमला शुरू किया है| इसकी वजह से सीमा भाग में रहनेवाले अफ़गानी लोगों में दहशत फैल रही है| कुछ दिनों पहले पाकिस्तानी जवानों ने वहां के अफगानी बस्तियों में घुसकर नागरिकों को धमकाया था| जल्द ही यह जगह खाली करें, हम इसका कब्जा लेने वाले हैं, ऐसी चेतावनी पाकिस्तानी जवानों ने दी थी| रविवार को टैंक का हमला शुरू करके पाकिस्तानी लष्कर द्वारा अफगानिस्तान पर दबाव बढ़ाने का प्रयत्न होता दिखाई दे रहा है|

अफगानिस्तान में स्थिरता के लिए पाकिस्तान जिम्मेदार होने की बात फिर एक बार उजागर हो रही है| पिछले हफ्ते में अफ़ग़ानिस्तान के हेलमंड प्रांत में लष्करी अड्डे पर हुआ हमला पाकिस्तान के तालिबान और जैश ए मोहम्मद इन दोनों आतंकवादी संगठन ने किया था, ऐसा आरोप अफगानिस्तान के रक्षामंत्री असादुल्लाह खालिद ने किया है| तालिबान देश के १२ आत्मघाती आतंकवादियों ने यह हमला चढ़ाने का आरोप पिछले हफ्ते में रक्षामंत्री खालिद ने किया था|

अफगानी रक्षा मंत्री के इन आरोपों को कुछ ही घंटे हो रहे थे, कि पाकिस्तानी सैनिकों ने अफगानिस्तान के नानगरहार प्रांत में घुसपैठ करके स्थानीय लोगों को धमकाया है| 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/artillery-shelling-pakistan-afghan-border/

Related Post

Leave a Reply