परमात्मा अपने हर एक भक्त पर फोकस्ड रहता है। (Paramatma is focussed on His every Bhakta) – Aniruddha Bapu‬ Hindi‬ Discourse 08 Jan 2015

परमपूज्य सद्‍गुरू श्री अनिरुद्ध बापू ने अपने ०८ जनवरी २०१५ के हिंदी प्रवचन में ‘परमात्मा अपने हर एक भक्त पर फोकस्ड रहता है’ (Paramatma is focussed on His every Bhakta) इस बारे में बताया।

परमात्मा अपने हर भक्त पर फोकस्‍ड रहता है। परमात्मा इस सृष्टी के सभी जीवों का, भक्तों का भला चाहते हैं। भगवान, सद्‍गुरुतत्त्व अपने भक्तों की मदत करने के लिये जिस रुप की जरुरत है, वह रुप धारण करते है। बापु ने यह भी बताया कि जितने भक्त होते हैं उतने भक्तों के लिए आवश्यक रहनेवाले रूपों में सक्रिय रहने की क्षमता सद्‍गुरुतत्त्व में होती है। सद्‍गुरुतत्त्व के वे सारे रूप एक-दूसरे से अलग नहीं होते। परमात्मा की खासियत है की, वो हर श्रद्धावानको अपने ओर आकर्षित करता है। हर एक श्रद्धावान के अनुसार परमात्मा की आकर्षित करनेके शक्ति अलग होती है। वैसेही हर एक श्रद्धावान को उसके अभ्युदय के लिये आवश्यकता के अनुसार साईबाबा उन्ही गुणों को उसके जीवन में प्रगट करते हैं।

इसिलिए हर एक श्रद्धावान के लिए उसका अपना सद्‍गुरुस्वरूप अलग है और उसी समय सद्‍गुरुतत्त्व के सारे रूप एक ही हैं। सद्‍गुरुतत्त्व में ये कपासिटी है। इसिलिए हम अपने सद्‍गुरु के साथ अपना स्वतंत्र रिश्ता बना सकते है। मेरा साईबाबा सिर्फ मेरा है, मेरा भगवान सिर्फ मेरा है। इससे आप स्वार्थी नही बन सकते। बने तो अच्छा है, ऐसा स्वार्थ बहोत सुंदर है। ऐसे अपने लाडले अनिरुद्ध बापूने प्रवचनमें बताया, वो आप इस व्हिडिओ में देख सकते है।

॥ हरि ॐ ॥ ॥ श्रीराम ॥ ॥ अंबज्ञ ॥

Related Post

Leave a Reply