पादुका वितरण एवं पादुका प्रदान समारोह २०१८

सभी श्रद्धावानों के लिए ‘अनिरुद्धपूर्णिमा’ यह कितना महत्त्वपूर्ण उत्सव है यह कहने की ज़रूरत नही है। हम सभी श्रद्धावान हमारे प्रिय परमपूज्य सद्गुरु अनिरुद्धजी का जन्मदिवस मनानेवाले इस उत्सव की बड़ी अधीरता से प्रतीक्षा करते हैं। इस उत्सव के बाद का दिन भी श्रद्धावानों के लिए महत्त्वपूर्ण है – ‘अनिरुद्धपूर्णिमा’ के दूसरे दिन सभी अधिकृत ‘अनिरुद्ध उपासना केन्द्रों’ को अगले सालभर के लिए नयीं पादुकाएँ प्रदान की जाती हैं। एक और कारण है, जिसके लिए इस पादुका वितरण समारोह की प्रतीक्षा की जाती है – इसी दिन, बापू की मान्यता से जिन प्रायोगिक उपासना केन्द्रों को ‘अधिकृत उपासना केन्द्र’ का दर्जा दिया गया है, उनके नाम भी घोषित किये जाते हैं।

पहले ‘अनिरुद्धपूर्णिमा’ के बाद के दो दिनों में आयोजित किये जानेवाले ‘अधिवेशन’ में बापू स्वयं उन नामों को घोषित करते थे। बाद में जब अधिवेशन बन्द हो गये, तब बापू ने मान्यता दिये हुए ‘अधिकृत उपासना केन्द्रों’ के नाम पादुकावितरण समारोह में घोषित किये जाने लगे। इस साल से सभी केन्द्रों तथा सभी श्रद्धावानों की सुविधा के लिए, पादुका वितरण और नए अधिकृत केंद्रोंके लिए पादुका प्रदान समारोह एक ही दिन याने रविवार, दिनांक २५ नवंबर २०१८ को (अनिरुद्धपूर्णिमा के दुसरे दिन) श्रीहरिगुरुग्राम में होगा । इस साल बापू ने मान्यता दिये हुए ‘अधिकृत उपासना केन्द्रों’ के नाम आगे दर्शायेनुसार हैं –

http://images.aniruddhafriend-samirsinh.com/wp-content/uploads/2018/11/All_CCCC_New_Adhikrut_Kendras_2018.pdf

Related Post

Leave a Reply