वेनेजुएला से जुडी खबरें

रशिया ने किया वेनेजुएला समेत लष्करी और आर्थिक सहयोग बढाने का निर्णय

कैराकस: ‘वेनेजुएला का नेतृत्व, सार्वभूमता और अमरिका एवं सहयोगी देशों के प्रतिबंधों के विरोध में हो रहे संघर्ष को रशिया ने डटकर समर्थन प्रदान किया है| यह समर्थन आगे भी बरकरार रहेगा और प्रतिबंधों के बावजूद दोनों देशों ने इसके आगे आर्थिक, व्यापारी और निवेश से संबंधित सहयोग कायर रखने का निर्णय किया है’, इन शब्दों में रशिया के विदेशमंत्री सर्जेई लावरोव्ह ने ने वेनेजुएला समवेत सहयोग बढाने का भरोसा दिलाया|

रशिया के विदेशमंत्री सर्जेई लावरोव्ह रशियन शिष्टमंडल समेत लैटिन अमरिकी देशों की यात्रा कर रहे है| गुरुवार के दिन मेक्सिको को भेट देने के बाद विदेशमंत्री लावरोहव्ह समेत रशियन शिष्टमंडल वेनेजुएला पहुंचा है| शुक्रवार के दिन रशियन विदेशमंत्री ने वेनेजुएला के तानाशाह निकोलस मदुरो से भेंट की| इस दौरान उन्हों ने दोनों देशों के बीच सहयोग बरकरार रखने के संकेत दिए|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/russia-increase-military-economic-cooperation-venezuela/

वेनेजुएला की हुकूमत से सहयोग करनेवाली कंपनियों को अमरिका ने धमकाया

वॉशिंग्टन: वेनेजुएला में तानाशाह निकोलस मदुरो की हुकूमत की सहायता कर रही ईंधन कंपनियों पर प्रतिबंध लगाने का इशारा अमरिका ने दिया है| वेनेजुएला के अंतरिम राष्ट्राध्यक्ष जुआन गैदो फिलहाल अमरिका में है और उन्हें समर्थन देने के लिए अमरिका यह कदम उठा रही है, ऐसा समझा जा रहा है| कुछ दिन पहले ही अमरिका ने मदुरो की हुकूमत पर दबाव बनाने के लिए आक्रामक गतिविधियां शुरू करने की जानकारी सामने आयी थी|

वेनेजुएला में तानाशाह निकोलस मदुरो रशिया, चीन, क्युबा, तुर्की जैसे देशों की सहायता से अपनी सत्ता संभाल रहे है| साथ ही वेनेजुएला के ईंधन क्षेत्र में कार्यरत बहुराष्ट्रीय ईंधन कंपनियां मदुरो हुकूमत की आर्थिक सहायता कर रही है, यह दावा भी हो रहा है| इसमें अमरिका, रशिया समेत यूरोपिय एवं एशियाई देशों की कंपनियों का समावेश है|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/us-threatens-companies-supporting-venezuela-rule/

वेनेजुएला के समुद्री क्षेत्र के निकट अमरिकी युद्धपोत ने की गश्त

वॉशिंग्टन/कॅराकस: वेनेजुएला के आर्थिक और सामाजिक स्थिति अधिक से अधिक खराब हो रही है तभी अमरिका ने इस देश के तानाशाह निकोलस मदुरो पर दबाव बढाने की गतिविधि शुरू की है| कुछ दिन पहले अमरिका की प्रगत युद्धपोत ने वेनेजुवेला की समुद्री क्षेत्र में गश्त करके अहम और खुफिया जनकारी प्राप्त करने की बात सामने आयी है| उसी समय मदुरो के विरोध में जारी प्रदर्शनों का नेतृत्व कर रहे जुआन गैदौ ने यूरोप और अमरिका की यात्रा करके अपना स्थान और भी मजबूत करने की कोशिश की थी|

वेनेजुएला में अभी भी सियासी अस्थिरता कायम है और अर्थव्यवस्था काफी कमजोर हुई है| देश के लगभग ४० लाख से भी अधिक लोगों ने अन्य देशों में पनाह ली है| वेनेजुएला में अनाज, दंवाईयां एवं अन्य जरूरी सामान की किल्लत बनी है और यह देश अराजकता की राह पर होने के दावे विश्‍लेषक कर रहे है| पर, फिर भी वेनेजुएला के तानाशाह निकोलस मदुरो ने सत्ता छोडने से इन्कार किया है|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/us-warship-patrols-venezuelan-waters/

Related Post

Leave a Reply