भक्तिभाव चैतन्यापर आधारित नये वेबसाईट का प्रकाशन

अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य वेबसाईट तथा अनिरुद्ध प्रेमसागरा – श्रद्धावान नेटवर्क

हरि ॐ,

सद्‌गुरु श्रीअनिरुद्ध ने भक्तिभाव चैतन्य से श्रद्धावानों को दैनिक प्रत्यक्ष के अग्रलेखों द्वारा तथा अपने पितृवचनों द्वारा परिचित कराया ही है। श्रद्धावान भी स्वयंभगवान श्रीत्रिविक्रम के सार्वभौम मंत्रगजर के साथ ही इस भक्तिभाव चैतन्य का आनंद ले रहे हैं।

सद्गुरु श्रीअनिरुद्ध से प्रेम से निरंतर जुडे (Connected) रहने की और उनके निरंतर संपर्क में (Communication) रहने की इच्छा हर एक श्रद्धावान के मन में होती है। साथ ही सद्गुरु श्रीअनिरुद्ध से प्रेम करने वाले अपने श्रद्धावान मित्रों से भी जुडे रहकर भक्तिभाव चैतन्य के एक-दूसरे के अनुभव जानने की इच्छा भी श्रद्धावानों के मन में होती है।

भक्तिभाव चैतन्य में अच्छे से समरस होने के लिए, साथ ही नये श्रद्धावान मित्रों को भक्तिभाव चैतन्य से परिचित कराने के लिए आज ‘रामनवमी’ के अत्यन्त पावन पर्व पर (१३-०४-२०१९) हम एक भक्तिभाव चैतन्यमय वेबसाईट लॉन्च कर रहे हैं। 

Link – www.aniruddha-devotionsentience.com

इस समय यह वेबसाईट अंग्रेजी, हिन्दी और मराठी भाषा में उपलब्ध होगी।

भक्तिभाव चैतन्य का खजाना खोलने वाली सर्वसमावेशक ऐसी यह अनोखी वेबसाईट है, जिसमें हम भक्तिभाव चैतन्य के बारे में जान सकते हैं, साथ ही फोटोज्‌, व्हिडीयोज्‌ एवं लेखों के माध्यम से सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्ध के विभिन्न पहलुओं को अनुभव कर सकते हैं और श्रद्धावानों के अनुभव पढ, देख और शेअर भी कर सकते हैं।

इस वेबसाईट की एक और खासियत है, हमारा अपना ‘अनिरुद्ध प्रेमसागरा – श्रद्धावान नेटवर्क’। इसमें हम श्रद्धावानों का सोशल नेटवर्क बना सकते हैं, जिससे कि प्रत्येक श्रद्धावान एक-दूसरे से जुड सकेगा।

जो भी सद्गुरुभक्ति के आश्रय से भक्तिभाव चैतन्य में रहकर अपना जीवनविकास करना चाहता है, उस हर एक को इस वेबसाईट के माध्यम से निश्चित रूप में आधार मिलता रहेगा। इस सोशल नेटवर्क पर श्रद्धावान अपने विचार प्रस्तुत कर सकते हैं, साथ ही अपने घर में संपन्न हो रहे सद्‍गुरु पादुकापूजन, सच्चिदानंदोत्सव, नवरात्रि पूजन इन जैसे भक्तिभाव चैतन्यमय प्रसंगों के फोटोज्‌ या व्हिडीयोज्‌ भी शेअर कर सकते हैं। 

। हरि ॐ । श्रीराम । अंबज्ञ ।

। नाथसंविध्‌ ।

समीरसिंह दत्तोपाध्ये

दिनांक – १३-०४-२०१९

मराठी English 

 

Related Post

Leave a Reply