जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान तेज

जम्मू-कश्मीर में हुई मुठभेड़ में – ‘लष्कर’ के कमांडर के साथ साथ दो आतंकवादी ढेर

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान तेजमुंबई: जम्मू-कश्मीर के ‘लष्कर-ए-तोएबा’ का कमांडर ‘शकूर दार’ और उसके साथियों को सुरक्षा बालों ने ढेर कर दिया है। इस दौरान हुई मुठभेड़ में एक आतंकवादी ने सरेंडर किया है। पिछले एक हफ्ते में जम्मू-कश्मीर में हुई यह चौथी बड़ी मुठभेड़ है। दो दिनों पहले ही जम्मू-कश्मीर के ‘आईएस’ संलग्न आतंकवादी संगठन के चार आतंकवादियों को मारा गया था। जम्मू-कश्मीर में इन दिनों ढाई सौ आतंकवादी कार्यरत हैं और राज्य से आतंकवादियों के उच्चाटन के लिए रक्षा बलों ने व्यापक कार्रवाई शुरू की है।

आठ दिनों पहले जम्मू-कश्मीर की संघर्षबंदी खत्म हुई थी। उसके बाद दो दिनों में ही इस राज्य में राज्यपाल शासन लागू हुआ है और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई तीव्र हुई है। एक हफ्ते में चार बड़ी मुठभेड़ हुईं हैं और इसमें १३ आतंकवादी मारे गए हैं। रविवार को हुई मुठभेड़ में ‘लश्कर’ कमांडर शकूर मारा गया है। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में छेदार गाँव में यह मुठभेड़ हुई है।

आगे पढें: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/jammu-kashmir-encounter-two-terrorists-stack/

जम्मू-कश्मीर में हुई मुठभेड़ में ‘आईएसजेके’ के आतंकवादी ढेर – राज्य से संघर्षबंदी हटाने के बाद पहली बड़ी सफलता

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान तेजमुंबई: जम्मू-कश्मीर से संघर्षबंदी हटाने के बाद सुरक्षादलों की आतंकवाद के खिलाफ की मुहीम को पहली बड़ी सफलता मिली है| इराक और सीरिया में धूम मचाने वाले ‘आईएस’ आतंकवादी संगठन से संलग्न ‘इस्लामिक स्टेट जम्मू एंड कश्मीर’ (आईएसजेके) के चार आतंकवादियों को सुरक्षा दलों ने मुठभेड़ में मार दिया है| इसमें ‘आईएसजेके’ का प्रमुख दावूद का समावेश है| इस मुठभेड़ में एक पुलिस जवान भी शहीद हुआ है|

जम्मू-कश्मीर में रमझान महीने के लिए लागू की गई संघर्षबंदी पॉंच दिनों पहले हटाई गई थी और फिरसे आतंकवाद के खिलाफ ऑपरेशन आलआउट शुरू किया गया था| इसके बाद दूसरे ही दिन चार आतंकवादी मुठभेड़ में मारे गए और बुधवार को और तीन आतंकवादियों को मौत के घाट उतारा गया था| शुक्रवार को सुरक्षा दल और आतंकवादियों के बीच और एक बड़ी मुठभेड़ हुई्|

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले के श्रीगुफवारा गॉंव में कुछ आतंकवादियों के छिपने की जानकारी सुरक्षा दलों को मिली थी| उसके बाद पुलिस और लष्कर ने संयुक्त कार्रवाई शुरू की और इस इलाके को घेर लिया था|

आगे पढें: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/isjk-terrorist-stacks-encounter-in-jammu-kashmir/

जम्मू कश्मीर में संघर्ष विराम वापस लेने के बाद ४ आतंकवादी ढेर

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान तेजजम्मू – सरकार ने जम्मू-कश्मीर में संघर्ष विराम वापस लेने की घोषणा करने के बाद दूसरे ही दिन सेना ने चार आतंकवादियों को ढेर किया है। राज्य के बांदीपुरा जिले में यह कार्रवाई की गई है। शहीद जवान औरंगजेब कि आतंकवादियों ने हत्या की थी, उसका बदला लेने की मांग जम्मू कश्मीर की जनता कर रही है। इस पृष्ठभूमि पर सेना ने यह कार्रवाई करके उस का महत्व बढ़ाया है।

इस्लाम धर्मियों लोगों का पवित्र रमजान महीना में जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के विरोध में शुरू ऑपरेशन ऑलआउट रोका गया था। पर ऑपरेशन ऑलआउट फिर से जोरदार शुरू हुआ है। संघर्षबंदी पीछे लेने की घोषणा होते ही कुछ ही घंटों में सेना ने चार आतंकवादियों को ढेर करके आतंकवादी संगठन को कड़ी चेतावनी दी है।

आगे पढें: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/after-withdrawing-the-ceasefire-in-jammu-and-kashmir/

जम्मू-कश्मीर में फिर से ‘ऑपरेशन ऑलआउट’

जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद विरोधी अभियान तेजनई दिल्ली: पिछले महीने से जम्मू-कश्मीर में रोके गए आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन ऑलआउट फिर से शुरू किया गया है। इस राज्य को आतंकवाद और हिंसाचार से मुक्त करने के लिए आतंकवाद विरोधी कठोर कार्रवाई की जाए, ऐसे आदेश सुरक्षा दल को दिए गए हैं, ऐसा कहकर केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने यह घोषणा की है। कई दिनों पहले राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवल ने जल्द ही आतंकवादियों के विरोध में कार्यवाही शुरु होगी ऐसा घोषित किया था।

इस्लाम धर्मयों के पवित्र रमजान महीने के दौरान आतंकवाद विरोधी ऑपरेशन रोका गया था। स्थानीय लोगों को दिलासा देने के लिए यह निर्णय लिया गया था। लष्कर ने घोषित किए संघर्षबंदी के अच्छे परिणाम दिखाई दे रहे हैं। तथा संघर्षबंदी के कालखंड भी बढ़ाया जायेगा ऐसे संकेत सरकार ने दिए थे। पर पिछले महीने में आतंकवादियों ने और विद्रोहियों ने कार्रवाई बढ़ी है। १७ मई से १३ जून के कार्यकाल में आतंकवादियों के ६६ कार्यवाहियाँ दर्ज हुई है। संघर्षबंदी का फायदा लेकर आतंकवादी सुरक्षादल के जवानों को लक्ष्य करते उजागर हुए हैं और विद्रोहियों से किए जानेवाले पत्थर फेंक की घटनाएं भी इस समय में बढ़ी थी।

आगे पढें: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/operation-allout-again-in-jammu-kashmir/

Newscast-Pratyaksha Twitter Handle

Related Post

Leave a Reply