इस्रायल से जुडी खबरें

इस्रायली सेना की कार्रवाई में चार पैलेस्टिनी घुसपैठी ढेर – बडा आतंकी षडयंत्र उधेडने का इस्रायल ने किया दावा

Israel-related-news (इस्रायल )जेरूसलम – गाजापट्टी से इस्रायल की सीमा में घुसपैठ करनेवाले चार पैलेस्टिनी नागरिकों को इस्रायली सेना ने मार गिराया है| साथ ही उन्होंने रखा हथियारों का भंडार भी इस्रायली यंत्रणा ने बरामद किया है| इस कार्रवाई के साथ ही इस्रायल में बडे आतंकी हमलें को अंजाम देने के लिए बनाया षडयंत्र उधेडा गया है, यह दावा इस्रायल के लष्करी अधिकारीयों ने किया है| वही, इस्रायल के अत्याचारों की वजह से गाजा के युवकों पर यह नौबत गिरी है, यह दावा ‘हमास’ ने किया है| इस हमले के बाद इस्रायल ने गाजा के देर अल बलाह पर हवाई हमला किाय है, यह आरोप पैलेस्टिनी माध्यमों ने रखा है|

वर्ष २०१८ के मार्च महीने से गाजापट्टी के पैलेस्टिनी नागरिकों ने इस्रायल की सीमा पर जा टकराने के लिए बडी कोशिश शुरू की थी| इसके लिए हमास ने प्रदर्शन जारी रखकर इस्रायल पर बना दबाव बढाया है| लेकिन, इस्रायल ने कडी कार्रवाई करके इन पैलेस्टिनी प्रदर्शनकारियों को रोक रखा था| साथ ही यह प्रदर्शन नही है, हमास का आतंकी होने का आरोप इस्रायल ने किय था| इस्रायल की कार्रवाई में मार्च २०१८ से अबतक कुल ३०१ पैलेस्टिनियों के मारे जाने की जानकारी प्राप्त हो रही है| फिर भी पैलेस्टिनीयों की इस्रायल में घुसपैठ करने की कोशिश बंद नही हुई है| 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/israeli-army-attack-palestine-intruders-killed/

पर्शियन खाडी में ईरान के विरोध में अमरिका की कार्रवाई में इस्रायल भी शामिल होगा – इस्रायली विदेशमंत्री कात्झ का ऐलान

Israel-related-news (इस्रायल )जेरूसलम: पर्शियन खाड़ी में ईरान का बढ़ता प्रभाव रोकने के लिए और इस समुद्री क्षेत्र की सुरक्षा के लिए अमरिका ने बनाए मित्र देशों के गठबंधन में इस्रायल भी शामिल होने वाला हैं| इस्रायल के विदेश मंत्री ‘यीस्रायल कात्झ’ ने यह घोषणा की हैं|

पिछले महीने में ईरान ने पर्शियन खाड़ी से यात्रा करने वाले ब्रिटन का ईंधन टैंकर कब्जे में किया था| पूरी पर्शियन खाड़ी पर ईरान की हुकूमत होने के कारण आगे भी इस समुद्री क्षेत्र से यात्रा करने वाले विदेशी टैंकर्स पर कार्रवाई करने की धमकी ईरान ने दी थी| ईरान की यह धमकी मतलब समुद्री डकैती होने का आरोप करते हुए अमरिका ने दुनिया भर के अपने मित्र देशों को प्रर्शियन खाड़ी में ईरान के विरोध में मोर्चा खोलने के लिए एक होने का आवाहन किया था| व्यापार की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण होने वाले इस समुद्री क्षेत्र में जहाजों की सुरक्षा के लिए जंगी जहाज रवाना करने की घोषणा अमरिका ने की थीं|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/israel-join-us-campaign-against-iran-persian-gulf/

आर्टिफिशल इंटेलिजन्स’ पर आधारित अतिप्रगत टैंक का इस्रायल ने किया परीक्षण

Israel-related-news (इस्रायल )इल्याकिम – लगभग महीने भर पहले पैरिस के ‘एयर शो’ में समय के आगे जानेवाले ड्रोन और इलेक्ट्रिक विमान दुनिया के सामने प्रदर्शित किए गए थे| उसके अनुसार इस्रायल ने लष्कर के लिए भी अत्याधुनिक युद्ध साहित्य का निर्माण करने की बात सामने आ रही है| आर्टिफिशल इंटेलिजेंस ने (एआई) से सज्जित और अचूक निशाना लगानेवाले अतिरिक्त टैंक का इस्रायल ने हालही में परीक्षण किया है| गाजापट्टी, लेबनॉन और सीरिया की सीमा पर तैनात मेरकावाज टैंक के बदले अति प्रगत टैंक तैनात करने की इस्रायल की गतिविधियां शुरू हुई है|

गाज़ा, लेबनॉन और सीरिया की सीमा रेखा पर तैनात अपने सैनिकों की जीवित हानी टालने के लिए इस्रायल ने बहुत बड़ी योजना बनाई थी| सीमा पर ‘रोबोट आर्मी’ तैनात करने के संकेत इस्रायल के लष्कर ने दिए थे| इसके लिए पिछले कई वर्षों से इस्रायल के लष्कर एवं रक्षा क्षेत्र की कंपनियों से जोरदार प्रयत्न शुरू थे| सीरिया के सीमा पर हमलावर और आत्मघाती ड्रोन की तैनाती करते हुए इस्रायल ने अपनी तैयारी दिखाई थी| जून महीने में पैरिस में हुए ‘एयर शो’ में इस्रायल ने अति प्रगत हमलावर ड्रोन प्रदर्शित करते हुए लष्करी तंत्रज्ञान का सामर्थ्य दिखाया था|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/israel-tests-ai-based-super-advanced-battle-tanks/

इस्रायल और इराक के बीच गोपनीय सहयोग होने से ईरान चिंता में – इस्रायली समाचार पत्र का दावा

Israel-related-news (इस्रायल )तेल अवीव – पीछले महीने में इराक के लष्करी अड्डे पर इस्रायल के लडाकू विमानों ने किए हमलें में ईरान के मिसाइलों को बडा भंडार नष्ट होने का दावा किया जा रहा है| इस हमलें को लेकर ईरान एवं इराक की संसद में बडी आलोचना हो रही है और ऐसे में इराक सरकार ने चुप्पी बनाकर रखी है| इस पृष्ठभूमि पर इस्रायल और इराक के बीच गोपनीय सहयोग होने की चिंता ईरान को सता रही है, यह जानकारी ‘हारेत्ज’ इस इस्रायली समाचार पत्र ने दी है|

जुलै १९ के दिन इराक के दियाला प्रांत में कैम्प अश्रफ इस लष्करी अड्डे पर बडे विस्फोट हुए थे| शुरू में इराक सरकार ने इस विस्फोटों के बारे में बोलने से दूरी रखी थी| लेकिन, इस्रायल के ‘एफ-३५’ लडाकू विमानों ने इराक में ईरान के लष्करी ठिकानों पर हमलें करने की जानकारी लंडन स्थित अरबी समाचार पत्र ने प्रसिद्ध करके खलबली मचाई थी| इस्रायल के इस हमलें में ईरान के ४० सैनिक ढेर हुए थे| लेकिन, इसके बाद भी इराक सरकार ने इस पर प्रतिक्रिया दर्ज नही की थी|

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/secret-cooperation-between-iraq-and-israel-worries-iran/

 

Related Post

Leave a Reply