इस्रायल के आक्रामक हमले

इस्राइल के आक्रामक हवाई हमले के बाद – गाजापट्टी में आतंकवादी गट से संघर्ष बंदी को मंजूरी

जेरूसलम: इस्राइल एवं हमास में सन २०१४ में हुए युद्ध के बाद गाजापट्टी में फिर एक बार नए संघर्ष का भड़का होने की आशंका जताई जा रही है। शनिवार को इस्राइल के गाजापट्टी पर किये आक्रामक हवाई हमले के बाद गाजापट्टी के हमास एवं इस्लामिक जिहाद इन दोनों आतंकवादी संगठनों ने इस्राइल के साथ संघर्षबंदी को मंजूरी दी है। तथा संघर्षबंदी के परिणाम वास्तव में जमीन पर दिखाई नहीं देते, तब तक इस्राइल की कार्रवाई शुरू रहेगी ऐसी चेतावनी इस्राइल के नेताओं ने दी है।

शुक्रवार की रात गाजापट्टी के हमास एवं अन्य आतंकवादी संगठनों ने इस्राइल में जोरदार रॉकेट हमले किए थे। गाजापट्टी तथा इस्राइल के यंत्रणा ने दिए जानकारी के अनुसार लगभग २०० रॉकेट हमले किए गए हैं। इन हमलों में लगभग ३० हमले इस्राइल के आयर्न डोम यंत्रणा ने नाकाम करने का दावा इस्राइल ने किया है। इन हमलों में इस्राइल के सदेरॉत शहर में ४ लोग जख्मी होने की बात कही जा रही है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/israel-air-attacks-gaza-strip-terrorist-groups-ceasefire/

स्राइल की तरफ से हमास की सुरंगें और प्रशिक्षण अड्डों पर जोरदार हवाई हमले; गाझा से हुए रॉकेट हमलों को प्रत्युत्तर

जेरुसलेम – शनिवार की सुबह इस्राइल के लड़ाकू विमानों ने गाझापट्टी में स्थित हमास की सुरंगों और प्रशिक्षण अड्डों पर जोरदार हवाई हमले किए। शुक्रवार को इस्राइल की सीमा के पास हुए प्रदर्शन और गाझापट्टी से हुए रॉकेट हमले इनको प्रत्युत्तर देने के लिए यह हमले किए गए हैं, ऐसा दावा इस्राइल के लष्कर ने किया है। हवाई हमलों में ‘काईट बम’ बनाने वाले केंद्र और प्रशिक्षण अड्डे लक्ष्य किए गए हैं और किसी भी प्रकार की जीवित हानी न होने की जानकारी भी इस्राइली रक्षा बलों ने दी है।

पिछले तीन महीनों से हमास के नेतृत्व में इस्राइल की सीमा के पास प्रदर्शन शुरू हैं। इन प्रदर्शनों के साथ साथ गाझा के पैलेस्टिनियों की तरफ से ‘काईट बम’ और ‘बलून बम’ के हमले बढ़ गए हैं। पिछले कुछ हफ़्तों से हमास ने इस्राइल में वापस रॉकेट हमले भी शुरू किए हैं|

शुक्रवार की रात इस्राइल के पाँच इलाकों में करीब ३१ से अधिक रॉकेट हमले किए गए हैं। इन हमलों में किसी भी तरह का जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है। कुछ रॉकेट हमले इस्राइल के ‘आयर्न डोम’ इस यंत्रणा की सहायता से नाकाम किए गए हैं, ऐसा दावा भी इस्राइल ने किया है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/strong-air-strikes-on-hamas-tunnels-and-training-bases/

इस्राइल ने सीरियन लष्कर का ड्रोन गिराया

जेरुसलेम – इस्राइल की कब्जे वाली गोलान पहाड़ियों में घुसपैठ करने वाले सीरियन लष्कर का ड्रोन गिराने का दावा इस्राइल के लष्कर ने किया है। ड्रोन की घुसपैठ की वजह से गोलान इलाके में तनाव निर्माण होने की वजह से यह कार्रवाई करनी पड़ी ऐसा इस्राइल के लष्कर ने कहा है।

इस्राइल के लष्कर ने दी जानकारी के अनुसार, बुधवार दोपहर को एक ड्रोन ने गोलान पहाड़ियों की सीमा के अन्दर १० किलोमीटर तक घुसपैठ की थी। जॉर्डन की दरी पार करके घुसपैठ करने वाले इस ड्रोन ने गोलान इलाके में १६ मिनट तक पहरा दिया। लष्करी कार्रवाई करने से पहले यह ड्रोन रशिया का है या नहीं, इसकी जाँच करने के बाद ही इस्राइल ने ‘पैट्रियोट’ मिसाइल भेदी यंत्रणा की सहायता से ड्रोन को नीचे गिराया। गैलिली के समुन्दर में इस ड्रोन के टुकड़े गिरने की जानकारी लष्कर ने दी है।

इससे पहले रशियन ड्रोन ने इस्राइल की सीमारेखा के पास से उड़ान भरी थी। इस पर इस्राइल ने नाराजगी जताकर, इसके आगे अपने देश की सीमा में किसी भी देश ने घुसपैठ की तो कार्रवाई करने की चेतावनी इस्राइल ने दी थी। ऐसे में इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेत्यान्याहू रशिया के दौरे पर गए हैं। इस पृष्ठभूमि पर बुधवार को इस्राइल की सीमारेखा में घुसपैठ करने वाला ड्रोन रशिया का तो नहीं है, इसकी जाँच इस्राइल के लष्कर ने की।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/israel-drops-the-syrian-army-drone/

सीरिया स्थित ईरान के ‘टी-४’ अड्डे पर इस्रायल का और एक हवाई हमला – सीरियन मीडिया का इल्जाम

बैरुत/ दमास्कस  – सिरियन सेना एवं रशियन विमानों ने इस्रायल की सीमा के पास दारा भाग में कार्यवाही शुरु थी। उसी समय रविवार को सिरिया के होम्स प्रांत में  ईरान के टी-४ हवाई अड्डे पर जोरदार हमला हुआ । इस्रायल के लड़ाकू विमानों ने यह हमला करने का आरोप सिरियन माध्यम कर रहे हैं। पिछले ५ महीनों में टी-४ पर हुआ यह तिसरा  हमला हैं, ऐसा माध्यमों का कहना हैं ।सिरियन माध्यमों के इशारों पर इस्रायल ने प्रतिक्रिया नहीं दी है।

सिरिया के सरकारी वृत्त संस्था द्वारा दिए जानकारी के अनुसार रविवार को होम्स प्रांत के तियास में टी-४ हवाई अड्डे पर हमले हुए हैं। अब तक लेबनॉन के सीमा का उपयोग करके इस्रायल के लड़ाकू विमानों ने जॉर्डन के सीमा से यह हमले करने का दावा सिरियन वृत्त संस्था ने किया है। कुल मिलाकर ६ मिसाइल टी-४ हवाई अड्डे पर गिरने की जानकारी सामने आ रही है। तथा सिरियन सेना के हवाई सुरक्षा यंत्रणा ने कई मिसाइलों के हमले रोकने का दावा सिरियन माध्यम कर रहे हैं।

था इस्रायल के इस हमले में किसी भी प्रकार की जीवित हानि ना होने की बात सिरियन माध्यमों ने कही है। तथा इस हमले में टी-४ हवाई अड्डे पर तैनात ईरानी और सिरिया समर्थक जवान ढेर होने की आशंका ब्रिटन स्थित मानवाधिकार संगठनों ने व्यक्त की है। टी-४ हवाई अड्डे पर हुए हमले के बारे में सिरियन सेना ने तथा सिरियन माध्यमों के इशारों पर इस्रायल ने प्रतिक्रिया देने की बात टाली है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/another-air-strike-at-irans-t-4-base-by-israel/

Newscast-Pratyaksha Twitter Handle

Related Post

Leave a Reply