भारत द्वारा रक्षाविषयक सिद्धता के लिए चल रहें प्रयासों में तेजी

परमाणु वाहक ‘शौर्य’ मिसाइल रक्षा बल में शामिल करने को मंजूरी

Shaurya-missileनई दिल्ली – परमाणु वाहक ‘शौर्य’ मिसाइल का सफल परीक्षण करने के बाद यह मिसाइल सेना के बेड़े में शामिल करने के लिए सरकार ने मंजूरी दी है। साथ ही इस मिसाइल की तैनाती करने की भी मंजूरी प्राप्त होने का समाचार है। यह मिसाइल जल्द ही नैशनल सिक्युरिटी कौन्सिल के निरीक्षण में ‘इंडियन स्ट्रैटेजिक फोर्स कमांड़’ ने चुने हुए ठिकानों पर तैनात किए जाएंगे। 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/approval-for-induction-of-nuclear-carrier-shaurya-missile-into-defense-force/

पनडुब्बी विरोधी युद्ध में ‘गेम चेंजर’ साबित होनेवाले ‘स्मार्ट’ का परीक्षण

नई दिल्ली – पनडुब्बी विरोधी युद्ध में ‘गेम चेंजर’ साबित होनेवाले ‘सुपरसोनिक मिसाइल असिस्टेड रिलिज ऑफ टोर्पेडो’ (स्मार्ट) यंत्रणा का ‘डीआरडीओ’ ने किया परीक्षण पूरी तरह से सफल रहा। ‘स्मार्ट’ की वजह से भारतीय नौसेना की क्षमता में बड़ी बढ़ोतरी होगी। चीन ने अपनी नौसेना की क्षमता लगातार बढ़ाई है। चीन की नौसेना के बेड़े में ७० से अधिक पनडुब्बियां मौजूद हैं और यह पनडुब्बियां ही चीनी नौसेना की ताकत समझी जा रही है।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/successful-test-of-smart-game-changer-in-anti-submarine-warfare/

प्रधानमंत्री के हाथों रणनीतिक नज़रिये से अहम ‘अटल टनेल’ का उद्घाटन

नई दिल्ली – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों आज विश्‍व के सबसे लंबे सुरंगी मार्ग ‘अटल टनेल’ का उद्घाटन किया गया। ‘अटल टनेल’ का उद्घाटन ऐतिहासिक क्षण है और यह सुरंगी मार्ग भारतीय अभियांत्रिकी आश्‍चर्य है, यह बयान प्रधानमंत्री मोदी ने किया। ‘अटल टनेल’ ने सरहदी क्षेत्र की बुनियादी सुविधाएं मज़बूत की हैं, यह बात प्रधानमंत्री ने रेखांकित की।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/inauguration-of-important-atal-tunnel-from-strategic-perspective-by-prime-minister/

सेना के लिए संपर्क प्रणाली के प्रकल्प को ‘सीसीएस’ की मंजूरी

नई दिल्ली – सेना की युद्ध तैयारी के लिए काफ़ी अहम साबित होनेवाले प्रकल्प को ‘कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्युरिटी’ (सीसीएस) ने मंजूरी दी है। ‘सीसीएस’ ने सेना के लिए सुरक्षित संपर्क प्रणाली का निर्माण करने के प्रकल्प को मंजूरी दी है। इस प्रकल्प के लिए ७,८०० करोड़ रुपयों की लागत होगी। इसके अलावा सेना के लिए १० लाख ग्रेनेड खरीदने की ऑर्डर भी ‘सीसीएस’ ने मंजूर की है।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/ccs-approves-liaison-system-project-for-army/

Related Post

Leave a Reply