सामरिक और रक्षा क्षेत्र में भारत द्वारा उठाये गए महत्वपूर्ण कदम

भारतीय सेना को होगी स्वदेशी ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ की आपूर्ति

नई दिल्ली – रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक ने सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को एक लाख ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ प्रदान किए। यह सभी जैकेट स्वदेशी निर्माण के हैं और इन्हें ‘मेक इन इंडिया’ के तहत बनाया गया है। साथ ही निर्धारित समय से पहले ही इन ‘जैकेट्स’ की सेना को आपूर्ति की गई है। देश के सैनिकों की सुरक्षा के लिए सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/indigenous-bullet-proof-jackets-supply-to-indian-army/

फ्रान्स के साथ रक्षा सहयोग समझौता करने के लिए भारत की तैयारी

नई दिल्ली – दो महीने पहले ही भारत ने अमरीका के साथ ‘बेसिक एक्सचेंज ऐण्ड को-ऑपरेशन ऐग्रीमेंट-बेका’ समझौता करके अपने रक्षा सहयोग को नई ऊँचाई प्रदान की थी। अब भारत ने फ्रान्स के साथ भी इसी तरह का समझौता करने की तैयारी दर्शाई है। भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल और फ्रेंच राष्ट्राध्यक्ष के राजनीतिक सलाहकार इमैन्युअल बन की द्विपक्षीय बातचीत जारी है।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/india-france-to-sign-defence-deal/

भारत करेगा दक्षिण अमरिकी देशों से ‘लिथियम’ का आयात

नई दिल्ली – ‘लिथियम’ के लिए अब तक चीन पर निर्भर रहा भारत, अब अर्जेंटिना, चिली और बोलिविया जैसे दक्षिण अमरिकी देशों से लिथियम का आयात बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। ‘लिथियम’ प्राप्त करने के लिए चीन पर बनी निर्भरता पूरी तरह से कम करने के नज़रिये से ही भारत ‘लिथियम ट्रैंगल’ वाले देशों से सहयोग बढ़ा रहा है।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/india-ready-to-import-lithium-from-south-american-countries/

वैज्ञानिक ‘एआय’ तकनीक, अंतरिक्ष और सायबर सुरक्षा पर ध्यान केंद्रीत करें – ‘डीआरडीओ’ के प्रमुख सतीश रेड्डी

नई दिल्ली – अगली पीढ़ी की प्रगत तकनीक का विकास करने पर वैज्ञानिक ध्यान केंद्रीत करें, ऐसा निवेदन ‘डीआरडीओ’ के प्रमुख सतीश रेड्डी ने किया है। ‘डीआरडीओ’ के ६३ वें स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में रेड्डी बोल रहे थे।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/scientists-should-focus-on-ai-technology-space-and-cyber-security/

चीन के सबमरिन ड्रोन्स की तैनाती की पृष्ठभूमि पर भारत नौसेना के लिए ड्रोन्स की खरीद करने की तैयारी में

नई दिल्ली – हिंद महासागर क्षेत्र के नज़दीक चीन ने ‘सबमरिन ड्रोन्स’ तैनात किये होने की ख़बर हाल ही में जारी हुई थी। उस पृष्ठभूमि पर, भारत ने युद्धपोतों पर तैनात किये जानेवाले ड्रोन्स की खरीद की तैयारी शुरू की है। इन ड्रोन्स की ख़रीद का लगभग १३०० करोड़ रुपये का प्रस्ताव रक्षा मंत्रालय के सामने नौसेना ने रखा होकर, उसकी ‘फास्ट ट्रॅक’ कार्यवाही की जायेगी, ऐसी ख़बर है।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/india-prepares-buy-drones-navy-against-deployment-chinese-submarine-drones/

Related Post

Leave a Reply