भारत द्वारा रक्षाविषयक सिद्धता के लिए महत्वपूर्ण कदम

वायुसेना ने किया ‘आकाश’ और ‘इग्ला’ का परीक्षण

मुंबई – भारतीय वायुसेना ने आंध्र प्रदेश के सूर्यालंका एअरफोर्स स्टेशन से स्वदेशी ‘आकाश’ और रशियन निर्माण के ‘इग्ला’ मिसाइलों का परीक्षण किया। वायुसेना के अड्डे पर २३ नवंबर से २ दिसंबर के दौरान युद्धाभ्यास का आयोजन हुआ। इस दौरान इन मिसाइलों का परीक्षण किए जाने की बात कही जा रही है। इन मिसाइलों के परीक्षण के समय उप-वायुसेना प्रमुख एअर मार्शल हरजीत सिंह अरोरा भी उपस्थित थे।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/air-force-tests-akash-and-igla/

विध्वंसक विरोधी ‘सुपरसोनिक ब्रह्मोस’ का सफल परीक्षण

नई दिल्ली – भारत की ‘रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन’ (डीआरडीओ) ने ‘ब्रह्मोस’ मिसाइल के अलग अलग आवृत्ति का लगातार परीक्षण करना शुरू किया हैं। मंगलवार के दिन अंडमान-निकोबार द्विप के समुद्री क्षेत्र में सुपरसोनिक ब्रह्मोस मिसाइल का परीक्षण किया गया। ‘आयएनएस रणविजय’ नामक युद्धपोत से प्रक्षेपित किए विध्वंसक विरोधी इस मिसाइल ने बंगाल कीखाड़ी में निर्धारित लक्ष्य को सटिकता के साथ निशाना किया। 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/successful-testing-of-the-destructive-supersonic-brahmos/

विमान वाहक युद्धपोत ‘विक्रांत’ की हुई ‘बेसिन ट्रायल’

कोचि – भारत की पहली स्वदेशी विमान वाहक युद्धपोत ‘आयएनएस विक्रांत’ का ‘बेसिन ट्रायल’ यानी उथले पानी में किया गया परीक्षण कामयाब हुआ हैं। वर्ष २०२१ केशुरू से ‘विक्रांत’ का समुद्री परीक्षण शुरू होगा, यह जानकारी रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने साझा की हैं। भारतीय नौसेना विमान वाहक युद्धपोत ‘आयएनए विक्रमादित्य’ से सज्जित हैं और ‘विक्रांत’ का समावेश होने से भारत की समुद्री सुरक्षा अधिक मज़बूत होगी।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/basin-trial-of-aircraft-carrier-vikrant/

लद्दाख की ‘एलएसी’ पर नौसेना के ‘मार्कोस’ की तैनाती

नई दिल्ली – ‘स्पेशल फोर्सेस’ के साथ सेना के ‘पैरा’ वायुसेना के ‘गरूड़’ और अब भारतीय नौसेना का ‘मार्कोस’ दल की भी लद्दाख की ‘एलएसी’ पर तैनाती की गई हैं। पैन्गॉन्ग त्सो के इलाके में ‘मार्कोस’ का यह दल गश्‍त करेगा और उनके लिए आवश्‍यक विशेष बोट भी वहां पर जल्द पहुँचाए जा रहे हैं। इस वजह से लद्दाख की एलएसी पर तीनों रक्षाबलों के कमांडोज्‌ के दल अब चीन की साज़िशें नाकाम करने के लिए तैयार हुए दिख रहे हैं।

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/deployment-of-navy-marcos-on-ladakh-lac/

नौसेना के लिए युद्धपोत और पनडुब्बियाँ खरीदने के लिए ५१ अरब डॉलर्स खर्च करेंगे – रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक

नई दिल्ली – भारतीय समुद्री सीमा की सुरक्षा कर रही नौसेना को अधिक ताकतवर बनाने के लिए अगले दस वर्षों में भारत सरकार ३.५ लाख करोड़ रुपये (५१ अरब डॉलर्स) खर्च करेगी। नौसेना के लिए नए युद्धपोत, पनडुब्बियां और अन्य प्रगत सामान की खरीद इससे की जाएगी, यह ऐलान रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक ने किया है। 

आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/51-billion-dollars-for-purchasing-warships-and-submarines-by-navy/

Related Post

Leave a Reply