Home / Hindi / आईये, अपनी फेसबुक की जानकारी प्राप्त करें (इंटरफेस) – भाग २

आईये, अपनी फेसबुक की जानकारी प्राप्त करें (इंटरफेस) – भाग २

भाग १ भाग ३

अब तक हमनें देखा कि फेसबुक अकाऊंट कैसे खोला जाता है । अब हम देखेंगे कि फेसबुक का प्रयोग कैसे किया जाता है? जब हम फेसबुक पर लॉगीन करते है, तो हमें नीचे दर्शायी गयी विंडो दिखायी देती हैं । इसे होम पेज कहते हैं । अपने फेसबुक का होम पेज वैशिष्ट्यपूर्ण होता है ।

फेसबुक इंटरफेस - भाग २1) होम पेज पर सबसे ऊपर हमें सर्च बॉक्स दिखायी देता है । इस में हम फेसबुक पर उपलब्ध विविध जानकारियाँ ढूँढ़ सकते हैं ।

2) उसके बगल के आयकॉन में हमें आयी हुयी फ्रेन्ड रिक्वेस्ट दिखायी देती हैं । यानी कितने नये मित्रों ने हमें रिक्वेस्ट भेजी हैं, यह पता चलता है।

3) उसके बगल का आयकॉन मेसेज नोटीफिकेशन है । इससे हमें पता चलता है कि कितने नये मेसेज आये हैं ।

4) मेसेज नोटिफिकेशन की बगल में जनरल नोटिफिकेशन का बटन है । (‘नोटिफिकेशन’ अर्थात अपनी फेसबुक पर अपने से संबंधित विविध ऍक्टिव्हिटी के बारे में मुझे मिलनीवाली सूचनाएँ)

5) उसके बाजू हमें होम का बटन दिखायी देता है । उस पर क्लिक करने पर हम फिर से अपने होम स्क्रीन पर आ जाते हैं ।

6) अकाऊंट नया होने के कारण हमें दाहिने कोने में फाईंड फ्रेंड का पर्याय दिखायी देता है । इसका प्रयोग करके आप नये फ्रेन्डस जोड़ सकते हैं ।

अब हम फेसबुक के बाँयी ओर के बॉक्स देखेंगे । होम पेज पर सबसे पहले हमें न्यूजफीड दिखायी देता हैं ।

न्यूजफीड :फेसबुक इंटरफेस - भाग २फेसबुक पर हमारे फ्रेन्डस् द्वारा शेअर की गयी जानकारी जिस प्रमुख भाग में हमें दिखायी देती है उसे ‘न्यूजफीड’ कहते हैं । फ्रेन्डस् के बारे में लेटस्ट अपडेटस् चाहे वे किसी भी स्वरूप में हो (शब्द, फोटों, व्हिडिओ इत्यादि) वे सभी न्यूजफीड में दिखायी देते रहते हैं । फेसबुक ने इस संकल्पना में ‘न्यूज’ अर्थात ‘खबर’ शब्द का प्रयोग किया है । अर्थात यहाँ पर हमारे दोस्तों के बारे में छोटी-बड़ी खबरें मिलती रहती हैं ।

फेसबुक में प्रतिसाद को काफी महत्त्व है । प्रतिसाद देने के लिये फेसबुक में हमें लाईक, कमेन्ट, शेअर के पर्याय दिये हैं ।

फेसबुक इंटरफेस - भाग २* लाईक :

लाईक का सीधा-सादा अर्थ है – हमारी पसंदीदा बात । फेसबुक पर ‘लाईक’ करने का मतलब है कि आपको वो बात पसंद है, उसमें आपका इंटरेस्ट हैं, उस बात का आप समर्थन करते हैं । ‘लाईक’ का पर्याय प्रत्येक की गयी पोस्ट, फोटो और व्हिडिओ पर उपलब्ध रहता है । हम लाईक बटन पर क्लिक करके अपना इंटरेस्ट दिखा सकते हैं ।

* कमेन्ट :

कमेन्ट का अर्थ है किसी भी बात पर अपना मत प्रर्दशित करना । यह पर्याय भी हमें सभी प्रकार के पोस्टो के लिये उपलब्ध रहता है । अपनी पसंदीदा कोई भी बात जो लाईक से बढ़कर होती है उस पोस्ट पर कमेन्ट किया जाता है ।

* शेअर :

शेअर का संक्षेप में अर्थ है हमें ज्ञात जानकारी अथवा पसंदीदा बात को अन्य लोगों को बतलाना । यदि हमें कोई बात पसंद आ जाती है और हमें लगता है कि उसे अपने मित्रो-मैत्रिणियों को बताना है तो हम उस पोस्ट को ‘शेअर’ कर सकते हैं । शेअर का पर्याय भी सभी पोस्टों के लिये उपलब्ध होता है । लाईक और कमेन्टसे एक कदम आगे बढ़कर हम शेअर कर सकते हैं । इस शेअरिंग के फलस्वरूप यह पोस्ट हमारी टाईमलाईन्स पर झलक सकती है । (लाईक, कमेन्ट और शेअर करना, फेसबुक की बेसिक और सबसे महत्त्वपूर्ण गतिविधियाँ हैं । जब हम किसी पोस्ट को लाईक, कमेन्ट या शेअर करते है तो यह पोस्ट हमारे फ्रेन्डस् को भी दिखायी देती है ।)
होम पेज पर एक और फीचर दिखायी देता हैं – अपडेट स्टेटस् ऍन्ड अपडेट फोटोस् / व्हिडिओज्

फेसबुक इंटरफेस - भाग २अपडेट स्टेटस् :

फेसबुक हमसे एक प्रश्न पुछता है, व्हॉटस् इन युअर माईंड? (तुम्हारे मन में क्या चल रहा है?) इसका उत्तर देना ही स्टेटस् अपडेट करना है । फिर उत्तर शब्द, फोटो और व्हिडिओ किसी भी स्वरूप में हो सकता है ।

जैसे ही हम पोस्ट शेअर करते है, वो तुरंत हमारे फ्रेन्डस् की न्यूजफीड में दिखायी देने लगता है । पोस्ट लिखने के लिये शब्दों की कोई सीमा नहीं होती । पोस्ट शेअर करने के लिये पोस्ट लिखकर पूरा हो जाने के बाद पोस्ट की बटन पर क्लिक करें ।
बायें ओर के कॉलम में न्यूजफीड़ के नीचे फेसबुक के मेसेजेस् फीचर दिखायी देता है ।

मेसेजेस् :फेसबुक इंटरफेस - भाग २

फेसबुक पर हम पोस्ट के साथ-साथ मेसेजेस् भी भेज सकते हैं, मेसेज पोस्ट की तरह सभी को नहीं दिखायी देता। जिस व्यक्ति को हम मेसेज भेजेंगे उसी व्यक्ति को मेसेज दिखायी देता रहता है । अत: किसी भी प्रकार की व्यक्तिगत जानकारी शेअर करने के लिये हम इसका उपयोग कर सकते हैं।

अब हम देखेंगे कि मेसेज कैसे भेजा जाता है?

फेसबुक इंटरफेस - भाग २अपने किसी भी मित्र-मैत्रिणी को मेसेज करने के लिये New Message पर क्लिक करें । तब हमें नीचे दर्शायी गयी विन्डो दिखायी देगी ।

उपरोक्त चित्र के अनुसार हम अपना मेसेज टाईप करके भेज सकते हैं । जैसे हम ई-मेल भेजते हैं वैसे ही मेसेज भेजना होता है ।

1) To : यहाँ पर जिसको भी मेसेज भेजना है उसका नाम अथवा ई-मेल लिखें ।

2) Compose Box : जो भी मेसेज आपको भेजना है वो इस बॉक्स में लिखें ।

3) Smiley : मेसेज में स्माईली ऍड करने की एक नई स्टाईल आयी है । आप अपनी भावनाओं को स्माईल के माध्यम से व्यक्त कर सकते हैं । स्माईली का ताप्तर्य है, विविध भाव वाले छोटे-छोटे कार्टून जैसे आयकॉन्स । इसका प्रयोग लगभग सभी प्रकार की सोशल मिडियाओं में होता है ।

4) Add Files : यदि मेसेज के अलावा भी कोई जानकारी भेजनी हो तो उसे हम यहाँ पर जोड़ सकते हैं । इस में किसी भी प्रकार की फाईल्स (word, excel, jpeg, mp3 etc) ऍड कर सकते हैं ।

5) Add Photos : फोटो फाईल अथवा कोई भी स्कॅन की हुई इमेज हम यहाँ पर जोड़ सकते हैं ।

6) Send : मेसेज पूरा होने पर इस बटन पर क्लिक करें । हम एक ही मेसेज एक साथ अनेक लोगों को भी भेज सकते हैं । हमारे जो मित्र फेसबुक पर नहीं हैं , उन्हें भी उनका ई-मेल ऍड्रेस डा़लकर उन्हें भी मेसेज भेज़ सकते हैं ।

इस मेसेज में यदि हमें किसी को ब्लॉक अर्थात हमसे संपर्क करने से रोकना हो तो ऍक्शन्स् पर जाकर ब्लॉक ऑप्शन पर क्लिक करें ।

इव्हेंटस् :फेसबुक इंटरफेस - भाग २इव्हेंटस् अर्थात कार्यक्रम । हम फेसबुक पर किसी कार्यक्रम अथवा मीटिंग का निमंत्रण भेज सकते हैं तथा इनव्हिटेशन (आमंत्रण) ऍक्सेप्ट भी कर सकते हैं ।
इनव्हिटेशन ऍक्सेप्ट करने के लिए 3 पर्याय होते हैं : Join, May be, Decline इन में से हम कोई भी एक पर्याय चुन सकते हैं ।

ग्रुप्स :

फेसबुक इंटरफेस - भाग २ग्रुप फेसबुक का एक प्रभावी व वेगवान माध्यम है । एक ही समय पर ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुँचने के लिये हम इसका अच्छी तरह उपयोग कर सकते हैं । फेसबुक में बाँयी ओर के कॉलम में ग्रुप्स का फीचर दिखायी देता है । इस में हम जितने भी ग्रुप्स के मेंबर होते हैं उनकी लिस्ट दिखायी देती हैं ।

इसका अतिमहत्त्वपूर्ण फायदा यह है कि हम यहाँ पर एक ही साथ ज्यादा से ज्यादा मित्रों-मैत्रिणियों के साथ कम्युनिकेशन अथवा जानकारी शेअर कर सकते हैं । अपने पुराने स्कूल के मित्रो-मैत्रिणियों, कॉलेज का मित्र-मंडल, रिश्तेदारों के अलग-अलग ग्रुप्स बनाकर उनके संपर्क में रह सकते हैं ।
ग्रुप में सदस्यों की कोई भी सीमा नहीं होती । अत: ग्रुप में कितने भी मेंबर्स मिलाये जा सकते हैं ।

कोई भी ग्रुप ओपन करने पर हमें सर्वप्रथम उस में शेअर की गयी सभी पोस्ट दिखायी देती है । ग्रुप के मेंबर्स की प्रोफाईल हम देख सकते हैं । यदि ग्रुप में कुछ इव्हेंटस् ऍड किये गये होंगे तो हमें वे इव्हेंटस् में दिखायी देंगे । ग्रुप में शेअर किये गये सभी फोटो अथवा अन्य डॉक्युमेन्टस् हमें फोटोज् और फाईल्स में दिखायी देते हैं ।

जिस प्रकार हम अपने अकाऊंट पर पोस्ट शेअर करते हैं उसी तरह हम पोस्ट ग्रुप में अपलोड कर सकते हैं । फोटो, व्हिडिओ अथवा डॉक्युमेन्टस् भी ऍड कर सकते हैं । किसी भी पोस्ट को ‘लाईक’, ‘कमेन्ट’ कर शेअर कर सकते हैं ।

यदि हमें नया ग्रुप बनाना हो तो दाँयी ओर सबसे नीचे ‘क्रिएट ग्रुप’ का पर्याय होता है । इस पर क्लिक करके हम नया ग्रुप बना सकते हैं ।

फेसबुक इंटरफेस - भाग २‘क्रिएट ग्रुप’ पर क्लिक करने पर नीचे दर्शायी गयी विन्डो हमें दिखायी देती है । इस में हमें ग्रुप का जो नाम रखना है वो नाम टाईप करें । फिर जिन सदस्यों को इस ग्रुप में शामिल करना है उन्हें ऍड कर लें ।

फ्रेंडस् :

फेसबुकपर फ्रेंडस् यह संकल्पना हमने पहलेही देखी है । हमें फेसबुकपर फ्रेंडस् बनाने पडतें है । फ्रेंड सजेशन अपने आपही मिलते है पर फ्रेंड रिक्वेस्ट हमें ही अक्सेप्ट करनी पडती है । हमें फ्रेंड रिक्वेस्ट ऊपर के नेव्हीगेशन बार पर आती हैं और हम वहाँ से हम रिक्वेस्ट अक्सेप्ट तथा इगनोर कर सहते है । जब हम फ्रेंड रिक्वेस्ट अक्सेप्ट करते हैं तब उस फ्रेंड को उसका नोटीफिकेशन मिलता हैं परन्तु रिक्वेस्ट इगनोर करने पर कोई नोटीफिकेशन नहीं मिलता ।
किसी को भी फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजने के लिये उसके प्रोफाईलपर जाकर ऍड फ्रेंड पर क्लिक करें ।

फेसबुक इंटरफेस - भाग २

फेसबुक इंटरफेस - भाग २

टिकर और विविध अपडेटस् :

दाहिनी ओर के कॉलम में टिकर में हमें हमारे फ्रेन्डस् के रिअल टाईम अपडेटस् मिलते रहते हैं ।

उसके बगल में बाँयी ओर बर्थ डे अथवा गेम्स की रिक्वेस्ट दिखायी देती हैं । साथ ही साथ उसके नीचे नये ग्रुप्स अथवा नयी मित्र-मैत्रिणियों के सुझाव मिलते हैं तथा फेसबुक पर आनेवाली ऍडस् दिखायी देती हैं । दाहिनी ओर के कॉलम लगातार बदलता रहता है ।

फेसबुक इंटरफेस - भाग २

​अब हमनें फेसबुक का अकाऊंट कैसे शुरू करना है वह जाना और  फेसबुक का उपयोग कैसे करना है वह देखा। अब हम सक्रिय रूप से फेसबुक का परिपूर्ण एवं परिपक्व उपयोग जरूरू करेंगे।
।। हरि ॐ।। श्रीराम।। अंबज्ञ।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*