एक्स्पोनेंट (अर्थदर्शक) जर्नल्स के ग्रूप से ई-जर्नल्स लॉन्च किए गए हैं।(Exponent group of journals launched)

।। हरि ॐ ।।
 
एक्स्पोनेंट जर्नल्स
 
 
में यह बताते हुए बड़ा ही हर्ष और गर्व महसूस कर रहा हूँ की कार्तिक पूर्णीमा (हिन्दू कैलेंडर के मुताबिक बापूजी का जन्मदिन) के शुभ अवसर पर, अर्थात २८ नवम्बर २०१२ के दिन हमने ई-जर्नल्स (विभिन्न निग्रहों/विषयों पर) के आरंभिक प्रकाशन लॉन्च किए हैं। आप ई-जर्नल्स निम्नलिखित यू.आर.एल. पर पढ़ सकते हैं: http://aanjaneyapublications.com/publications.faces

जिन सौभाग्यशाली लोगों ने मई २०१० के दिन श्रीहरिगुरुग्राम में बापूजी का रामराज पर आधारित प्रवचन सुना उनहोंने बापूजी को Exponent Group of Journals के लॉन्च का ऐलान करते हुए सुना होगा, जिसमें उन्होंने कहा था कि, रामराज के स्वागत हेतु उनकी यह भी एक परियोजना है। जो लोग उस दिन वहां नहीं आ पाए थे, उनहोंने बापूजी के उस प्रवचन का प्रकाशन पढ़ा होगा, यह मेरा विश्वास है।
 
ई-जर्नल को बापूजी के श्रद्धावान मित्रों के लिए प्रयोक्ता मैत्रीपूर्ण प्रारूप (user friendly format) में लाना हमारे लिए एक बड़ी उपलब्धि है। परन्तु, मैं यह भी कहना चाहूँगा कि, यह कार्य रातोरात संपन्न नहीं हुआ है। बापूजी की सीख के सही क्रियान्वयन के मुताबिक, हम ने छोटे छोटे मगर सही दिशा में कदम बढाए, और हर बात को अच्छी तरह से परखने के बाद ही अगला कदम बढाया। कई बार हमें अपने क्रम, दिशाएं बदलनी पड़ीं, मगर वह सबकुछ इस कार्य का अंग था जिसकी वजह से हम आगे बढ़ पाए।   
 
अपरिचित क्षेत्र में निडरता से कदम रखकर तथा यह अनुपम भेंट देकर हमारी श्री अनिरुद्ध उपासना फौन्देशन की आय.टी. टीम ने हमें गौरवान्वित किया है। निम्नलिखित इ-जर्नल्स अपलोड किए जायेंगे: 
 
१.  एम.बी.ए.के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
२.  व्यवसायीक औषधि के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
३.  स्वास्थ्य एवं स्वास्थ्य सेवाओं की जानकारी के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
४.  चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
५.  शेयर तथा स्टॉक मार्केट के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
६.  सामान्य इंजीनियरिंग के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
७.  इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
८.  इलेक्ट्रॉनिक्स के लिए एक्स्पोनेंट जर्नल्स्‌
 
जो पाठक उपरोक्त ई-जर्नल्स में से कोई भी जर्नल खरीदना चाहते हैं वे हमारी वेबसाईट पर जाकर पेमेंट गेटवे के जरिये जर्नल्स के लिए रक्म अदा कर सकते हैं।  
 
जो कोई अपनी रुचि अनुसार उपरोक्त क्षेत्रों में अपना ज्ञान बढ़ाना चाहते हैं, उन सभी के लिए यह ई-जर्नल्स उपलब्ध हैं। जैसे की, चार्टर्ड एकाउंटेंट्स के लिए जो ई-जर्नल है वह नॉन-सी.ए. की जानकारी हेतु जरूरतें पूरी कर सकता है, जो कि, अपने ज्ञान एवं अनुभव द्वारा एक सी.ए. की जिम्मेदारियां निभा रहे हैं। तथा यह उनके के लिए भी काम आएगा जो सी.ए. का कोर्स करके सी.ए. बनना चाहते हैं। 
 
आपसे अनुरोध है कि, इस पर आप मुझे अपने फीडबैक और सुझाव भेजें, जिससे हमारी यह पूरी कोशिश रहेगी कि हम अपने आपको अधिक बेहतर बनायें ताकि बापूजी की दूरदर्शिता को सफल बनाने में हम अपना योगदान दे सकें
 
।। हरि ॐ ।।  

Related Post

Leave a Reply