Home / Current Affairs / ‘युरोप’ के सामने नई चुनौतियां

‘युरोप’ के सामने नई चुनौतियां

युरोपीय महासंघ ही युरोप के विनाश का जिम्मेदार – युरोपीय देशों के आक्रामक विचारधारा के नेताओं से टीका

Europeप्राग: युरोपिय महासंघ यह यूरोप खंड की सबसे बड़ी आपत्ती एवं खतरा होकर महासंघ यूरोप का विनाश करने के लिए जिम्मेदार है, ऐसी कड़ी आलोचना यूरोप में आक्रामक बाएँ विचारधारा के नेताओं ने की है। शनिवार को झेक रिपब्लिक की राजधानी पर प्राग में ‘मूवमेंट फॉर यूरोप ऑफ नेशंस एंड फ्रीडम स्टेट’ से आयोजित बैठक में यूरोपीय महासंघ, शरणार्थियों की समस्या इन मुद्दों पर चर्चा हुई है। शुक्रवार को ऑस्ट्रिया में बाएँ विचारधारा के ‘फ्रीडम पार्टी’ का समावेश होने वाले सरकार स्थापन करने की घोषणा की गई है। इस पृष्ठभूमि पर शनिवार की बैठक महत्वपूर्ण मानी जा रही है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/european-federation-responsible-for-europe-destruction

रशियन नौसेना के पास अमरिका और यूरोप के इन्टरनेट को तोड़ने की क्षमता – ब्रिटेन के रक्षा दल प्रमुख का इशारा

sir-stuart-peachलंडन: अपारंपरिक और जानकारी युद्ध में वर्चस्व प्राप्त रशिया, यूरोप और अमरिका के बिच के इन्टरनेट को तोड़कर दोनों महाद्वीपों के बिच का संपर्क साथ ही व्यापार खंडित कर सकता है, ऐसा सनसनीखेज इशारा ब्रिटेन के रक्षादल प्रमुख ने दिया है। रशियन नौसेना का अटलांटिक महासागर में दिखाई देना बढ़ गया है और रशियन जंगी जहाज और पनडुब्बियां समंदर के नीचे से जाने वाली ‘इन्टरनेट केबल्स’ तोड़कर दोनों महाद्वीपों के बिच व्यवहार रोक सकते हैं, ऐसा ब्रिटिश रक्षादल के प्रमुख एअरचीफ मार्शल सर स्टुअर्ट पीच ने अपने इशारे में कहा है। ब्रिटेन के ‘पालिसी एक्सचेंज’ इस अभ्यास समूह की नई रिपोर्ट में भी इस इशारे की पुष्टि की गई है और उसका उल्लेख ‘न्यू फेनोमेनन ऑफ़ वारफेयर’ ऐसा किया गया है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/british-defence-chief-warned-russian-navy-could-cut-internet-cables

शरणार्थीयों के मुद्दे पर युरोपीय देशों मे दरार

ब्रूसेल्स: यूरोप में आनेवाले अवैध शरणार्थियों के झुंड कम हुए हैं, फिर भी इस मुद्दे पर यूरोपियन देशों में होनेवाला तनाव प्रतिदिन बढ़ता चला जा रहा है। गुरुवार एवं शुक्रवार को ब्रुसेल्स में हुई बैठक में यूरोपीय महासंघ के बीच बढ़ती दरार स्पष्ट तौर पर सामने आई है। जर्मनी के चांसलर ने सदस्य देशों ने अब तक अपनी धारणा नहीं बदली है, इन शब्दों में शरणार्थियों के मुद्दे पर करार करने में असफलता प्राप्त होने की बात स्पष्ट की है।

refugees

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/european-countries-issue-refugees

शरणार्थीयों की समस्या पर युरोपीय महासंघ से पोलंड के ‘एक्झिट’ के संकेत

वार्सा / ब्रुसेल्स: गुरुवार को ब्रूसेल्स शहर में होनेवाले यूरोपीय महासंघ के बैठक की पृष्ठभूमि पर यूरोपीय देशों में शरणार्थियों की समस्या एवं सदस्य देशों से बढ़ता विरोध यह मुद्दा फिर एक बार सामने आ रहा है। और इस बारे में दबाव डालने पर महासंघ से एक्झिट लेने का इशारा दिया है। पिछले हफ्ते में यूरोपियन कमीशन ने झेक रिपब्लिक के साथ एवं हंगेरी इन देशों के विरोध में शरणार्थियों के मुद्दे पर कानूनी कारवाई की प्रक्रिया शुरु की थी। इसकी वजह से प्रॉब्लम से दिए गए एक्झिट के संकेत महासंघ में दोहरे गट की शुरुआत होगी, ऐसा कहा जा रहा है।

Syria_Poland

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/poland-indicates-exit-eu

Newscast-Pratyaksha Twitter Handle

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*