‘साउथ चाइना सी’ क्षेत्र में चीन फिर से आक्रामक मोड पर

अमेरीका पर हमला करने के लिए चीन द्वारा वैमानिकों को प्रशिक्षण – अमेरीकी रक्षा मुख्यालय ‘पेंटॅगॉन’ का आरोप

 

वॉशिंग्टन/बीजिंग – ‘विवादास्पद सागरी क्षेत्र का कब्जा लेने के लिए चीन अपनी सेना को तैयार कर रहा है| साथही अमेरीका पर हमले करने के लिए चीन अपने वैमानिकों को प्रशिक्षित कर रहा है’, ऐसा आरोप अमेरीका का रक्षा मुख्यालय पेंटॅगॉन ने अपने रिपोर्ट में किया| लेकिन पेंटॅगॉन का ये रिपोर्ट तुर्क पर आधारीत होने की आलोचना करते हुए चीन ने उसे ठूकरा दिया| इससे पहले ही अमेरीका और चीन में व्यापार युद्ध के कारण काफी तनाव निर्माण हो चूका है, जिसमें अब नई बात जूड गई है|

अमेरीका के पेंटॅगॉन ने वर्ष २०१७ में चीन की सैनिकी गतिविधियों पर आधारीत सालाना रिपोर्ट तैयार किया है| पेंटॅगॉन ने ये रिपोर्ट अमेरीकी कॉंग्रेस के सामने रखते हुए चीन द्वारा अमेरीका साथही अमेरीका के हितसंबंधों को खतरा होने की बात कही है| इसलिए पेंटॅगॉन ने पिछले कई वर्षों से चली आ रही चीन की सैनिकी गतिविधियों का दाखिला दिया| पेंटॅगॉन के रिपोर्ट में आरोप किया गया है कि, ‘बिते तीन वर्षों में चीन के ‘पिपल्स लिबरेशन आर्मी’ने समुद्री क्षेत्र पर बॉम्बर विमानों की गश्ती बढ़ाई है| चीन के बॉम्बर विमानों की ये गश्ती विवादास्पद समुद्री क्षेत्र में चिंता बढ़ाने वाली घटना है| इस समुद्री क्षेत्र का कब्जा करने के लिए साथही अमेरीका और अमेरीका के दोस्त देशों पर हमला चढ़ाने के लिए चीन अपने बॉम्बर विमानों को प्रशिक्षण दे रहा है|’

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/training-to-the-pilots-by-china-to-attack-america/

‘साउथ चाइना सी’ में फिलिपाईन्स की आपत्तियों पर चीन की चेतावनी

 

बीजिंग: साउथ चाइना सी में चीन के कृत्रिम द्वीपों के निर्माण पर आपत्ति जताते हुए चीन अपनी समुद्री आक्रामकता पर लगाम लगाए, ऐसी सलाह देने वाले फिलिपाईन्स को चीन ने चेतावनी दी है। साउथ चाइना सी में प्रवेश करने वाले विमानों और जहाजों को हटाना चीन का अधिकार है और फिलिपाईन्स इसमें दखल न दे, ऐसी चेतावनी चीन के विदेश मंत्रालय ने दी है।

दौरान, चीन ने फिलिपाईन्स को दी धमकी को कुछ घंटे भी नहीं बीते हैं, ऐसे में अमरिका ने फिलिपाईन्स की भूमिका का समर्थन किया है। साथ ही चीन ने साउथ चाइना सी में हमला किया तो अमरिका फिलिपाईन्स का भरोसेमंद देश साबित होगा, ऐसा आश्वासन अमरिका ने दिया है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/china-warns-philippines-for-objections-raised-regarding-south-china-sea/

साउथ चाइना सी में अमरिकी बॉम्बर के गश्ती के बाद – चीन के विध्वंसक से मिसाइल का परीक्षण

 

बीजिंग – पिछले हफ्ते में साउथ चाइना सी के हवाई सीमा से गश्ती करनेवाले अमरिका के बी-५२ बॉम्बर विमान को चीन ने छह बार चेतावनी देकर वापसी करने के लिए कहा था। चीन के इन चेतावनी के बाद भी अमरिका के बॉम्बर ने गश्ती शुरू रखी। पर अमरिकी बॉम्बर के वापसी के बाद चीन ने अपने विध्वंसक से मिसाइल प्रक्षेपित करके अमरिका को चेतावनी देने की बात उजागर हुई है। साथ ही इस सागरी क्षेत्र में अमरिका एवं जापान के मिसाइल हमलो को प्रत्युत्तर देने के लिए चीन ने बड़ा युद्धाभ्यास का आयोजन किया है।

पीपल्स लिबरेशन आर्मी ने अपने नौसेना के लगभग १० विध्वंसक को साउथ चाइना सी में रवाना किया है। इस दौरान हवाई हमलों का मुकाबला करने का युद्धाभ्यास हुआ है, ऐसा चीन के वृत्तपत्र में प्रसिद्ध किया है। यह विध्वंसक विमानभेदी तथा विध्वंसक भेदी मिसाइलों से सज्ज होने का दावा किया जाता है। चीन के पड़ोसी खतरनाक गतिविधियां बढ़ाते समय इन मिसाइलों के परीक्षण होना आवश्यक था, ऐसा चीन में लष्करी विश्लेषक सॉन्ग झौंगपिंग ने चीन के सरकारी मुखपत्र से बोलते हुए स्पष्ट किया है।

साथ ही चीन के नौदल ने ईस्ट चाइना सी के सागरी क्षेत्र में बड़े युद्धाभ्यास का आयोजन किया है। अमरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया इन देशों की अपनी सागर क्षेत्र में गतिविधियां खतरनाक रूप से बढ़ने का दावा करके चीन ने इस युद्धाभ्यास का आयोजन करने की जानकारी सामने आ रही है। पिछले महीने में इन तीनो देशो के साथ युद्ध भड़का तो उनके मिसाइल हमलो को जवाब देने के लिए यह युद्धाभ्यास का आयोजन किया है और इसमें शत्रु के विध्वंसक को जल समाधि देने का अभ्यास किया जाएगा। इसके लिए जमीन के साथ हवा से तथा सागरी मार्ग से हमला किया जाएगा ऐसी जानकारी चीन के मुखपत्र ने दी है।

आगे पढे: http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/chinese-destroyers-test-fire-missiles/

Related Post

Leave a Reply