Home / Hindi / वस्त्र योजना : अब स्कूली छात्रों के जीवन में रंग भरेंगे बहुरंगी युनिफ़ॉर्म्स

वस्त्र योजना : अब स्कूली छात्रों के जीवन में रंग भरेंगे बहुरंगी युनिफ़ॉर्म्स

रि ॐ. सद्‍गुरु बापू ने ३ अक्तूबर २००२ को १३ कलमी कार्यक्रम की घोषणा करते समय “वस्त्र योजना” इस बहुत ही महत्त्वपूर्ण उपक्रम को कार्यान्वित किया था। इस “वस्त्र योजना” के उपलक्ष्य में बापू ने श्रद्धावानों के, भक्ति और सेवा इन दो मूलभूत अंगों को एकत्रित रूप में विकसित करनेवाले “चरखे से” सभी श्रद्धावानों को नये सिरे से परिचित कराया। भारत के दुर्गम इलाक़े में बसे गरीब, कष्टकरी समाज के विद्यार्थी वर्ग को आर्थिक अड़चनों के कारण युनिफ़ॉर्म ख़रीदना नहीं परवड़ता और ऐसे इलाकों में रहनेवाले स्कूलों छात्रों की अनियमित हाजिरी के पीछे यह एक प्रमुख कारण है, इस बात का एहसास सद्‍गुरु बापू ने अपने श्रद्धावान मित्रों को कराया। ऐसे छात्रों के जीवन का विकास थमकर उनकी प्रगति खण्डित हो जाती है और एक ज़िम्मेदार भारतीय नागरिक की भूमिका में से ऐसे छात्रों को आधार देना यह हर एक श्रद्धावान की नैतिक ज़िम्मेदारी है, यह जताकर बापू ने सभी श्रद्धावानों को सतर्क किया। बापू के कहेनुसार आज कई श्रद्धावान अपने घर में यह चरखा बहुत ही प्यार एवं भक्तिभाव के साथ पवित्र मंत्र के उच्चारण के साथ करते हैं और इस चरखे पर तैयार हुए धागे से संस्था की ओर से युनिफ़ॉर्म बनाये जाते हैं।

गत कई वर्षों से हर साल कोल्हापुर के नज़दीक पेंडाखळे गाँव में आयोजित किये जा रहे वैद्यकीय एवं स्वास्थ्य शिविर में इन युनिफ़ॉर्मों का मुख्य रूप से विनामूल्य वितरण किया जाता है। संस्था की ओर से गत १२ वर्षों से हर साल आयोजित किये जा रहे इस शिविर में पेंडाखळे और आसपास के दुर्गम इलाक़े के स्कूलों का और स्कूलों के छात्रों का स्थानिक कार्यकर्ताओं के माध्यम से सर्व्हे किया जाता है और उसके अनुसार ये युनिफ़ॉर्म शिविर के दिन वितरित किये जाते हैं। सन २०१५ में आयोजित किये गये शिविर में कुल मिलाकर ११३ स्कूलों के ६२५४ छात्रों को (लड़के और लड़कियाँ मिलाकर) प्रत्येक को २ इस मात्रा में १२,५०८ युनिफ़ॉर्म विनामूल्य दिये गये। “वस्त्र योजना” शुरू होने के बाद आजतक कुल मिलाकर २,२०,००० युनिफ़ॉर्मों का वितरण संस्था की ओर से किया गया है।

गत वर्ष तक स्कूलों की ज़रूरत के अनुसार ये युनिफ़ॉर्म संस्था की ओर से बनाये जाते थे (उदा. लड़कों के लिये सफ़ेद शर्ट और ख़ाकी पॅन्ट या नीला शर्ट और नीली पॅन्ट)। लेकिन मुझे बताने में बहुत खुशी हो रही है कि ज़िला परिषद की बदलती आवश्यकता के अनुसार, आनेवाले समय में ऐसे स्कूलों के छात्रों को बहुरंगी स्वरूप में (उदा. चेक्स पॅटर्न – नीचे दिये गये चित्र के अनुसार) युनिफ़ॉर्म्स की आपूर्ति करने का संस्था का विचार है और उस दिशा में संस्था के सदस्यों के अथक प्रयास जारी हैं। सन २०१७ के वैद्यकीय एवं स्वास्थ्य शिविर में इस प्रकार के युनिफ़ॉर्म्स की आपूर्ति करना संस्था के लिये यक़ीनन ही संभव होगा।

वस्त्र योजना - New Uniforms of Charkha Yojana

इस उपक्रम में सम्मिलित हुए, संस्था की चरखा समिति के सभी सदस्यों का और साथ ही, परमपूज्य बापू की सीख के अनुसार चरखा चलानेवाले सभी श्रद्धावानों का बापू को दिल से कौतुक है और ऐसे इस पवित्र परमेश्वरी कार्य के लिए सभी श्रद्धावानों को हार्दिक शुभकामनाएँ।

॥ हरि ॐ ॥ ॥ श्रीराम ॥ ॥ अंबज्ञ ॥

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*