Sadguru Aniruddha Bapu

Aniruddha Gurukshetram

हरि ॐ, शनिवार, दि. ०७ मार्च २०२० को संस्था ने, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९” के सिलसिले में श्रद्धावानों को एक महत्त्वपूर्ण सूचना भेजी थी; जिसमें सावधानता और जागरूकता के उपाय के रूप में, हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली और शनिवार को विभिन्न स्थानों पर उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय सूचित किया था। इसी

Aniruddha TV

हरि ॐ, जैसा कि पहले ही सूचित किया जा चुका है, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९”  संबंधित खबरों को मद्देनज़र रखते हुए और सावधानी तथा जागरूकता के उपाय के तौर पर, संस्था ने कुछ समय के लिए हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली नित्य उपासना और शनिवार को विभिन्न उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक अनिरुद्ध उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय

Sadguru Aniruddha Bapu

– Anita Gayakwad, Pune In the age of Kaliyug, does anyone have any time for others? Everyone is usually so engrossed in their lives that even when they witness another person in difficulty, they are not particularly inclined to extend a helping hand. In times of difficulties, those who are regarded as one’s well-wishers, tend to behave like strangers. However, the only one who comes rushing to extend a helping

अनिरुद्ध पूर्णिमा २०१९ में अधिकृत दर्जा प्राप्त हुए केंद्रों के नाम

हरि ॐ हर साल अनिरुद्ध पूर्णिमा के पश्चात् आयोजित किये जानेवाले पादुका प्रदान समारोह में, नये से अधिकृत घोषित हुए अनिरुद्ध उपासना केंद्रों को सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्धजी की पादुकाएँ प्रदान की जाती हैं। इस वर्ष, यानी सन २०१९ में जिन अनिरुद्ध उपासना केंद्रों को अधिकृत दर्जा प्राप्त हुआ है, उनके नाम इस प्रकार हैं –

Old is Gold project

On 3rd October 2002, Sadguru Shree Aniruddha introduced to us the ‘Thirteen Points Programme’ – a solution to many of the problems that be; may the problem be faced by people at the community level or an individual level. One of the projects included ‘Juney Tey Soney’, which translates to ‘Old is Gold’. The Juney Tey Soney project has become a channel for Shraddhavans enabling them to help the deprived

​भूमाता को प्रणाम करते समय की प्रार्थना

हरि ॐ दिनांक २७ जून २०१९ के गुरुवार के पितृवचन में सद्‌गुरु श्रीअनिरुद्ध बापु ने, भूमाता को प्रणाम करने का महत्त्व हम सबको बताया। ”यह भूमाता विष्णुजी की शक्ति है ऐसी हमारी धारणा है, यह हमारी संस्कृति है। सुबह जाग जाने पर ज़मीन पर कदम रखने से पहले भूमाता को प्रणाम करने से, दिन की शुरुआत मंगलमयी तथा पवित्रता से, अंबज्ञता से भरी होती है।” ऐसा बापु ने कहा। भूमाता

Bapu Always Protects His Children

– Baldeep (Ginny) Lamba While living our lives, many of us experience good as well as bad things. These are the results of our Karma from the previous birth. We, therefore, ought to endure it as no one can circumvent the associated sufferings. Only our Sadguru can save us from such misery, and it is him and him alone who helps us to alleviate them. I had a similar life-threatening