Sadguru Aniruddha Bapu

Chanting of Hanuman Chalisa

A very joyful news for all Shraddhavans. Every year, the weeklong chanting (pathan) of Shree Hanuman Chalisa is held at Shree Aniruddha Gurukshetram. This year, Online pathan will be held from Monday, 21st September 2020 to Sunday, 27th September 2020. Keeping in mind the multiple constraints being faced this year due to the pandemic situation, it is not possible to have the pathan at Aniruddha Gurukshetram, therefore, it has been

"The Bapu that I have known" book now available on e-Aanjaneya website in Marathi, Hindi and English

Hari Om, The book “The Bapu that I have known” which was published in 2017 is available in Marathi, Hindi and English. We shraddhavans take immense pleasure in reading this book over and over again by getting to know various facets of the personality of Sadguru Bapu. I am happy to let you know that this book is now available on e-Aanjaneya website in the form of an e-book. Accordingly,

अनिरुद्धजी की ‘ईशा माँ’

॥ हरि ॐ ॥ कुन्दनिका कापडिया अर्थात् अनिरुद्धजी की ‘ईशा माँ’ का देह आज मूलतत्त्व में विलीन हो गया। आज दिनांक ३०/०४/२०२० को भोर के दो बजे उन्होंने देह त्याग दिया और सुबह ग्यारह बजकर चालीस मिनट पर उनका अन्तिम संस्कार नंदिग्राम में हुआ। अनिरुद्धजी के दुख में हम सभी श्रद्धावान सम्मिलित हैं। । हरि ॐ । श्रीराम । अंबज्ञ । । नाथसंविध्‌ ।      समीरसिंह दत्तोपाध्ये गुरुवार, दि.

Aniruddha's ‘Isha Ma’

|| Hari Om ||  Today, the body of Kundanika Kapadia, Shree Aniruddha’s ‘Isha Ma’ merged with the Supreme Principle.  At two o’clock, early morning today, 30th April 2020, she left her body and the last rites were conducted at 11.40 AM at Nandigram.  All of us shraddhaavaans earnestly share in the sorrow of Shree Aniruddha.  | Hari Om | ShriRam | Ambadnya | | Naathsanvidh |  – Samirsinh Dattopadhye Thursday,

अनिरुद्धांच्या ‘ईशा माँ’

॥ हरि ॐ ॥ कुन्दनिका कापडिया अर्थात अनिरुद्धांच्या ‘ईशा माँ’चा देह आज मूलतत्त्वात विलीन झाला. आज तारीख ३०/०४/२०२० रोजी पहाटे दोन वाजता त्यांनी देह सोडला आणि सकाळी अकरा वाजून चाळीस  मिनिटांनी त्यांचे अंत्यसंस्कार नंदिग्राम मध्ये झाले. अनिरुद्धांच्या दुःखात आम्ही सर्व श्रद्धावान सहभागी आहोत. । हरि ॐ । श्रीराम । अंबज्ञ । । नाथसंविध्‌ ।  समीरसिंह दत्तोपाध्ये गुरुवार, दि. ३० एप्रिल २०२०  ११ जानेवारी १९९३ – जगदंबेच्या मूर्तीची नंदिग्राममध्ये प्राणप्रतिष्ठा आधुनिक

Aniruddha Gurukshetram

हरि ॐ, शनिवार, दि. ०७ मार्च २०२० को संस्था ने, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९” के सिलसिले में श्रद्धावानों को एक महत्त्वपूर्ण सूचना भेजी थी; जिसमें सावधानता और जागरूकता के उपाय के रूप में, हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली और शनिवार को विभिन्न स्थानों पर उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय सूचित किया था। इसी

Aniruddha TV

हरि ॐ, जैसा कि पहले ही सूचित किया जा चुका है, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९”  संबंधित खबरों को मद्देनज़र रखते हुए और सावधानी तथा जागरूकता के उपाय के तौर पर, संस्था ने कुछ समय के लिए हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली नित्य उपासना और शनिवार को विभिन्न उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक अनिरुद्ध उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय

Sadguru Aniruddha Bapu

– Anita Gayakwad, Pune In the age of Kaliyug, does anyone have any time for others? Everyone is usually so engrossed in their lives that even when they witness another person in difficulty, they are not particularly inclined to extend a helping hand. In times of difficulties, those who are regarded as one’s well-wishers, tend to behave like strangers. However, the only one who comes rushing to extend a helping

अनिरुद्ध पूर्णिमा २०१९ में अधिकृत दर्जा प्राप्त हुए केंद्रों के नाम

हरि ॐ हर साल अनिरुद्ध पूर्णिमा के पश्चात् आयोजित किये जानेवाले पादुका प्रदान समारोह में, नये से अधिकृत घोषित हुए अनिरुद्ध उपासना केंद्रों को सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्धजी की पादुकाएँ प्रदान की जाती हैं। इस वर्ष, यानी सन २०१९ में जिन अनिरुद्ध उपासना केंद्रों को अधिकृत दर्जा प्राप्त हुआ है, उनके नाम इस प्रकार हैं –