Marathi

श्रद्धावानों के लिए सूचना

हरि ॐ, पहले सूचित कियेनुसार रविवार, दि. ०२ फ़रवरी २०२० से रविवार, दि. १६ फ़रवरी २०२० इस कालावधि में हालाँकि श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌ श्रद्धावानों के लिए दर्शन हेतु बंद रहनेवाला है, मग़र इस कालावधि में हॅपी होम की पहली मंज़िल पर स्थित ‘श्रीदत्तक्लिनिक’ हमेशा के कार्यकाल के अनुसार खुला रहेगा, इस बात पर सभी श्रद्धावान ग़ौर करें। ——————————————————————- हरि ॐ, आधी सूचित केल्याप्रमाणे रविवार, दि. ०२ फेब्रुवारी २०२० ते रविवार, दि.

मेरे सभी श्रद्धावान मित्रों के लिए एक सूचना

हरि ॐ, मैंने पहले सूचित कियेनुसार, सोमवार, दि. २० जनवरी से सोमवार, दि. २७ जनवरी २०२० इस कालावधि में मैं महत्त्वपूर्ण कामों में व्यस्त होने के कारण श्रद्धावानों की मुलाक़ातों के लिए उपलब्ध रहनेवाला नहीं था। लेकिन हाथ में लिए कामों की व्याप्ति को देखते हुए, मुझे यह कालावधि शुक्रवार, दि. ३१ जनवरी २०२० तक बढ़ानी पड़ रही है। उसके बाद मैं श्रद्धावानों की मुलाक़ातों के लिए (संस्था के अथवा

श्रद्धावान मित्रों के लिए एक सूचना

हरि ॐ, सोमवार, दि. २० जनवरी से सोमवार, दि. २७ जनवरी २०२० इस कालावधि में मैं महत्त्वपूर्ण कामों के लिए छुट्टी पर हूँ और किसी भी कारण के लिए (संस्था के अथवा व्यक्तिगत काम के सिलसिले में) मुलाक़ात के लिए मैं उपलब्ध नहीं रहूँगा, इस बात पर सभी श्रद्धावान कृपया ग़ौर करें। ——————————————————————— हरि ॐ, सोमवार, दि. २० जानेवारी ते सोमवार, दि. २७ जानेवारी २०२० ह्या कालावधीमध्ये मी महत्त्वाच्या कामांसाठी

श्री साईसच्चरित पंचशील परिक्षा – २०२० चा पारितोषिक वितरण समारंभ

श्री साईसच्चरित पंचशील परिक्षा – २०२० चा पारितोषिक वितरण समारंभ रविवार दि. १२ जानेवारी २०२० रोजी होणार आहे. दरवर्षी ह्या कार्यक्रमामध्ये पारितोषिक वितरण झाल्यावर दुसर्‍या सत्रामध्ये “अनिरुद्धाज् मेलोडीज्” च्या संगीताचा आनंद सर्व श्रद्धावान घेत असतात. यावर्षी दुसर्‍या सत्रामध्ये अनिरुद्धाज् मेलोडीज्‌च्या लाईव्ह वाद्यवृंदाच्या कार्यक्रमाऐवजी आधी झालेल्या कार्यक्रमांमधील रेकॉर्डेड गाणी तसेच काही निवडक अभंग LED  स्क्रिनवर दाखविण्यात येतील. दुसरे सत्र साधारण एक ते दीड तासाचे असेल. आपण सर्वांनी बक्षिस घेणार्‍या श्रद्धावानांना बक्षिस

Aniruddha Bhaktibhav Chaitanya

हरि ॐ, सभी श्रद्धावान यह जानते ही हैं कि मंगलवार, दि. ३१ दिसम्बर २०१९ के दिन, पद्मश्री डॉ. डी. वाय. पाटील स्टेडियम, नेरुळ, नयी मुंबई में “अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य” इस महासत्संग का आयोजन किया गया है। इस महासत्संग के लिए अन्य सभी श्रद्धावानों के साथ ही, “श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌”, “साईनिवास” तथा “गुरुकुल – जुईनगर” के अधिकांश श्रद्धावान कार्यकर्ता सेवक भी सम्मिलित होनेवाले हैं। इस कारण मंगलवार, दि. ३१ दिसम्बर २०१९ के

Aniruddha Bhaktibhav Chaitanya

डिसेंबर २०१९ संपादकीय हरि ॐ श्रद्धावान सिंह, वेळ हा चुटकी वाजवल्यासारखा क्षणात उडून जातो. आपण सर्वजण प्रत्यक्ष अनुभवणार असलेला अनिरुध्द भक्तिभाव चैतन्य हा महासत्संग सोहळा अगदी काही आठवड्यांवर येऊन ठेपला आहे. ह्या भव्य सोहळ्याची सर्व तयारी अत्यंत जोशात सुरु आहे. १८ नोव्हेंबर – म्हणजे आपल्या लाडक्या सदगुरु श्री अनिरुध्दांचा वाढदिवस! त्यामुळेच नोव्हेंबर महिना हा प्रत्येक श्रध्दावानासाठी अगदी विशेष महत्त्वाचा असतो. त्रिपुरारी पौर्णिमेच्या अत्यंत पवित्र दिवशी सद्गुरु श्री अनिरुध्दांचा जन्म झाला.

श्रीवर्धमान व्रताधिराज व्रतपुष्प के बारे में सूचना

हरि ॐ, सभी श्रद्धावान यह जानते ही हैं कि इस वर्ष बुधवार, दि.११ दिसम्बर २०१९ को, यानी दत्तजयंती के दिन वर्धमान व्रताधिराज का प्रारंभ हो रहा है। हर वर्ष की तरह, इस वर्ष के व्रतकाल में भी श्रद्धावान अपनी पसन्द के किसी भी स्तोत्र, जाप आदि को बतौर ‘व्रतपुष्प’ स्वेच्छापूर्वक चुन सकते हैं। इस व्रतकाल के लिए सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्धजी ने किसी भी एक स्तोत्र या जाप को ‘व्रतपुष्प’ के रूप