Marathi

पंतप्रधानांनी केलेल्या आवाहनाला प्रतिसाद देताना

पंतप्रधानांनी केलेल्या आवाहनाला प्रतिसाद देऊन कोरोना-व्हायरस वरील युद्धामध्ये अत्यावश्यक सेवा देत असलेल्यांना धन्यवाद व्यक्त करताना ‘हॅपी होम’ येथील दृश्य.        

शताक्षी प्रसादम्‌ के साथ ही एक कप हल्दीमिश्रित दूध का सेवन करना श्रद्धावानों के लिए यक़ीनन ही श्रेयस्कर

गुरुवार, दि. ६ मे २०१० रोजी श्रीहरिगुरुग्राम येथे “रामराज्य” ह्या विषयावर झालेल्या प्रवचनात सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्ध बापूंनी “शताक्षी प्रसादम्‌” हा अतिशय महत्त्वाचा मुद्दा मांडला होता व ‘हा प्रसाद प्रत्येकाने नित्य प्राशन करावा’ असे सुचविले होते. हळद (हरिद्रा), मध, एक चतुर्थांश लसणाची पाकळी व ठेचलेली सूंठ यापासून हा प्रसाद तयार करावयाचा होता (लसणाच्या पाकळी ऐवजी आल्याचा छोटा तुकडा वापरला तरी चालेल असे स्पष्टीकरण नंतर दिले होते). शताक्षी प्रसादम्‌चे महत्त्व विषद करताना, शताक्षी

कोरोना वायरस, "कोविद - १९" की पार्श्वभूमि पर प्रशासन द्वारा दी जानेवालीं सूचनाओं का पालन करके सहायता करना आवश्यक

हरि ॐ, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९” की पार्श्वभूमि पर, सद्‍गुरु अनिरुद्ध बापुजी के मार्गदर्शन के अनुसार, संस्था के सभी ऑफिसेस हमने २ दिन पहले से ही बंद किये हैं, ताकि सरकार द्वारा किये गये आवाहन का अनुसरण कर सभी श्रद्धावान आने-जाने के प्रवास को टाल सकें और घर से बाहर निकलने की ज़रूरत कम से कम रहें। उसीके साथ हॅपी होम, खार

अनिरुद्ध टी.व्ही. पर प्रसारित होनेवाली गुरुवार की नित्य उपासना के संदर्भ में सूचना

हरि ॐ, आज दुनिया के सामने खड़े हुए करोना वायरस, “कोविद – १९” के जागतिक संकट की पार्श्वभूमि पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी देश को संबोधित करनेवाले हैं और सभी देशवासियों के लिए उसे सुनना उचित होगा I इस बात को मद्देनज़र रखते हुए अनिरुद्ध टी.व्ही. पर प्रसारित होनेवाली गुरुवार की नित्य उपासना आज रात ८.०० के बजाय ९.०० बजे होगी, इसपर सभी श्रद्धावान ग़ौर करें I ———————————————————– हरि ॐ,

Aniruddha TV

हरि ॐ, हमने पहले भेजी हुई सूचना के अनुसार, हर गुरुवार शाम ८:०० बजे गुरुवार की नित्य उपासना, श्रीस्वस्तिक्षेम संवाद तथा आरती एवं दर्शन और हर शनिवार शाम ७:३० बजे अनिरुद्ध उपासना (मराठी, हिन्दी एवं अँग्रेज़ी भाषा में), श्रीस्वस्तिक्षेम संवाद तथा अभंग aniruddha.tv के माध्यम से हम दिखा ही रहे हैं। उसी के साथ, आज से गुरुवार एवं शनिवार के अलावा हर दिन शाम ८:०० बजे हम विभिन्न स्तोत्र एवं

संस्थेचे हेड ऑफिस (हॅपी होम व लिंक अपार्टमेंट) व इतर कार्यालये मंगळवार दि. ३१ मार्च २०२० पर्यंत बंद राहतील

शनिवार, दि. ०७ मार्च २०२० रोजी संस्थेने सध्या जगभर वेगात पसरत असलेल्या कोरोना वायरस, “कोविद – १९”च्या अनुषंगाने श्रद्धावानांना एक महत्त्वाची सूचना पाठविली होती ज्यामध्ये सावधानतेचा आणि जागरूकतेचा उपाय म्हणून दर गुरुवारी श्रीहरिगुरुग्राम येथे होणारी व शनिवारी ठिकठिकाणी उपासना केंद्रांवर होणारी सामूहिक उपासना पुढील सूचना मिळेपर्यंत बंद ठेवण्याचा निर्णय कळविला होता. तसेच दि. १२ मार्च २०२० रोजी संस्थेने सर्व तीर्थक्षेत्र दर्शनासाठी बंद ठेवण्याचा निर्णय कळविला होता. याचअनुषंगाने वेगाने बदलणारी परिस्थिती

Aniruddha Gurukshetram

हरि ॐ, शनिवार, दि. ०७ मार्च २०२० को संस्था ने, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९” के सिलसिले में श्रद्धावानों को एक महत्त्वपूर्ण सूचना भेजी थी; जिसमें सावधानता और जागरूकता के उपाय के रूप में, हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली और शनिवार को विभिन्न स्थानों पर उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय सूचित किया था। इसी

Aniruddha TV

हरि ॐ, जैसा कि पहले ही सूचित किया जा चुका है, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फ़ैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९”  संबंधित खबरों को मद्देनज़र रखते हुए और सावधानी तथा जागरूकता के उपाय के तौर पर, संस्था ने कुछ समय के लिए हर गुरुवार श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली नित्य उपासना और शनिवार को विभिन्न उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक अनिरुद्ध उपासना, अगली सूचना मिलने तक बंद रखने का निर्णय

गुरुवार को श्रीहरिगुरुग्राम में होनेवाली और शनिवार को विभिन्न स्थानों पर उपासना केंद्रों में होनेवाली सामूहिक उपासना अगली सूचना प्राप्त होने तक बंद रखने का निर्णय

हरि ॐ. फिलहाल दुनियाभर तेज़ी से फैलते जा रहे कोरोना व्हायरस – ‘कोविद-१९’ के बारे में हम सभी श्रद्धावान जानते ही हैं। भारत में भी इस विषय में जागरूकता है। कई स्वास्थ्यसंस्थाएँ तथा डॉक्टर्स् इस बीमारी के संक्रमण के संदर्भ में जो खबरदारी एवं सावधानता बरतना आवश्यक है, उसकी सूचनाएँ नागरिकों के लिए प्रसारित कर रहे हैं। इन सभी सूचनाओं में – ‘प्राय: भीड़ के स्थानों पर ना जायें’ अथवा

'अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य' महासत्संग समारोह के व्हिडीओज्‌ संबंधी सूचना

  हरि ॐ, अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्य – महासत्संग समारोह के पश्चात् श्रद्धावान आतुरता से प्रतीक्षा कर रहे थे, इस समारोह के व्हिडीओज्‌ की। श्रद्धावानों की इस माँग को मद्देनज़र रखते हुए ९ फ़रवरी को हमने महासत्संग के पहले सत्र (सेशन) के व्हिडीओज्‌ अपनी www.aniruddha-devotionsentience.com इस वेबसाईट पर उपलब्ध करा दिए हैं। ये व्हिडीओज्‌ सबके लिए खुले तथा विनामूल्य हैं। फिर भी, ऐसा ज्ञात हुआ है कि कुछ लोग ये व्हिडीओज्‌