Hindi

Pipasa 4

हरि ॐ, सर्व श्रद्धावानांना हे माहीत असेलच की ‘पिपासा’ अभंगमालिकेतील पुढील अभंगसंग्रह ‘पिपासा-४’ येत्या गुरुवारी म्हणजे दि. १४ फेब्रुवारी २०१९ रोजी प्रकाशित होणार आहे. ह्या संग्रहातील निवडक अभंग श्रीहरिगुरुग्राम येथे प्रत्यक्ष परमपूज्य सद्‍गुरु अनिरुद्धांच्या (बापूंच्या) उपस्थितीत स्टेजवरून वाद्यवृंदाच्या साथीने गायले जाणार आहेत. ह्या प्रकाशन सोहळ्यानंतर हा अभंगसंग्रह सर्व श्रद्धावानांकरिता उपलब्ध होईल, जो ‘अनिरुद्ध भजन म्युझीक’ ॲपच्या माध्यमातून श्रद्धावान खरेदी करू शकतात. लिंक – https://play.google.com/store/apps/details?id=com.aniruddhabhajanmusic ‘पिपासा-४’ हा म्युझिक अल्बम आज रविवार

सोने से जुडी खबरें

वर्ष २०१८ में विश्‍व के केंद्रीय बैंको ने की ६५१ टन सोने की खरीद लंदन/मास्को: अंतरराष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में हो रही बडी उथल पुथल के चलते विश्‍व के कई केंद्रीय बैंक अमरिकी डॉलर के बदले सोने की खरीद करने पर जोर देते दिखाई दे रहे है| वर्ष २०१८ में विश्‍व के केंद्रीय बैंकों ने कुल ६५१.५ टन सोने की खरीद की है, यह जानकारी ‘वर्ल्ड गोल्ड कौन्सिल’ ने दी है| वर्ष

भारत की ओर से रक्षाविषयक तैय्यारी पर जोर

स्वदेशी सेंसर्स देश की लष्करी तकनीक में बदलाव करेंगे – ‘डीआरडीओ’ प्रमुख नई दिल्ली: पाकिस्तान के सैनिक और आतंकियों की सीमा क्षेत्र में बढ रही घुसपैठ एवं लद्दाख से अरूणाचल के सीमा तक चीन की लष्करी गतिविधियों में बढोतरी होने की पृष्ठभुमि पर भारत ने अपने रक्षा बल को आधुनिक और अद्ययावत करने के लिए विशेष महत्व दिया है| इस के लिए भारतीय रक्षा बल सीमा पर ‘लेझर फेंसिंग’ का

Sadguru Shree Aniruddha's Pitruvachan (Part 1) - 31st January 2019

हरि ॐ. श्रीराम. अंबज्ञ. नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌, नाथसंविध्‌    आज 10th और 12th के बहुत स्टुडंट्स आये हुए हैं….मस्त। Exam मे कोई फिक्र नहीं करना, Exams तो आती रहती हैं, जाती रहती हैं।    कितने लोग क्रिकेट खेले हुए हैं यहाँ? कितने लोगों ने क्रिकेट देखा हुआ है? व्हेरी गुड….एक्सलन्ट। यह हमारी ज़िंदगी भी एक क्रिकेट का खेल है। क्रिकेट जैसी ही चलती है। लेकिन यहाँ प्रॉब्लेम क्या है ना….Routine cricket

पिपासा - ४ प्रकाशन सोहळा

हरि ॐ, नुकताच, गुरुवार दि. २५-१०-२०१८ रोजी श्रीहरिगुरुग्राम येथे ‘पिपासा-३’ अभंगसंग्रह प्रकाशित झाला व सर्व श्रद्धावान समूह अनिरुद्ध भक्तिभाव चैतन्यात न्हाऊन निघाला. त्याचप्रमाणे आता गुरुवार, दि.१४-०२-२०१९ रोजी श्रीहरिगुरुग्राम येथे ‘पिपासा-४’ अभंगसंग्रह प्रकाशित होईल, ज्यामध्ये ह्या संग्रहातील १० निवडक अभंग प्रत्यक्ष परमपूज्य अनिरुद्धांच्या उपस्थितीत स्टेजवरून संपूर्ण वाद्यवृंदाच्या साथीने गायले जातील. ‘पिपासा-३’ प्रमाणेच ‘पिपासा-४’ अल्बम सर्व श्रद्धावानांसाठी “अनिरुद्ध भजन म्युझिक” ऍपच्या माध्यमातून त्याच दिवशी उपलब्ध करून देण्याचा आमचा मानस आहे. पिपासा-३ अभंगसंग्रहाच्या

Bhaktibhav Chaitanya

    ‘अल्फा टू ओमेगा’ न्युजलेटर – हिन्दी संस्करण   जनवरी २०१९ संपादक की कलम से   हरि ॐ श्रद्धावान सिंह / वीरा,   सभी श्रद्धावान नवम्बर और दिसम्बर महीने का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे क्योंकि यह महीने अपने साथ श्री अनिरुद्ध पूर्णिमा और सच्चिदानन्द उत्सव लेकर आए जोकि सभी श्रद्धावानों के लिए हर्षोल्लास के शिखर हैं। श्री ‘सच्चिदानन्द उत्सव’ श्रद्धावानों के लिए “भक्तिभाव” का प्रतीक है जो

Aniruddha Gurukshetram

हरि ॐ, शुक्रवार दिनांक १ फेब्रुवारी २०१९ ते शुक्रवार दिनांक १५ फेब्रुवारी २०१९  ह्या कालावधीत वार्षिक मेन्टेनन्सच्या कामानिमित्ताने श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌ दर्शन, जलाभिषेक, पंचोपचार पूजन, श्रीरुद्र सेवा, श्रीदत्तकैवल्य याग सेवा, श्रीरामरसायन पठण इ. सर्व विधी व उपचारांसाठी बंद राहील, ह्याची सर्व श्रद्धावानांनी कृपया नोंद घ्यावी. ———————————————————————————- हरि ॐ , शुक्रवार दि. १ फरवरी २०१९ से शुक्रवार दि. १५ फरवरी २०१९ इस अवधी में, वार्षिक मेन्टेनन्स कार्य के कारण श्रीअनिरुद्ध गुरुक्षेत्रम्‌ दर्शन,

रशिया से जुडी महत्वपूर्ण गतिविधियां

सबसे अधिक सोने का भंडार रखने वाले देशों की सूची में रशिया की पांचवे स्थान पर छलांग – २,१०० टन सोने के साथ चीन को भी पीछे छोडा मॉस्को: अमरिका और युरोपीय देशों के प्रतिबंधों का सामना कर रहे रशिया ने पिछले वर्ष में ऐतिहासिक ‘सुनहरा’ मुकाम दर्ज किया है| वर्ष २०१८ में रशिया के सोने का भंडार २,१०० टन तक जा पहुंचा है| विदेशी मुद्रा भंडार में इस सोने

sedentary lifestyle

॥ हरि ॐ ॥ श्रीराम ॥ अंबज्ञ॥ नाथसंविध्‌ नाथसंविध्‌ नाथसंविध्‌      जीवन में किसी को यह चाहिए, किसी को वह चाहिए, एक ही इन्सान के जीवन में, सुबह में यह चाहिए, तो दोपहर में दूसरा कुछ चाहिए, शाम को तीसरी चीज़ चाहिए, रात को चौथी चाहिए, सपने में पाँचवी चीज़। Right? चलते ही रहता है। उसमें कोई बुराई नहीं हैं, it happens. होता है। लेकिन अभी समझो, हम लोग कोई

  स्वास्थ्य (निवारक, प्रोत्साहक, रोगनिवारक, पुनर्वास) ग्रामिण/नगरीय/सामुदायिक/आदिवासी विकास पर केन्द्रित भारत आज दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में से एक है। परंतु तेज़ी से प्रगति करती अर्थव्यवस्था के बावजूद, कुछ समस्याएं देश के कई हिस्सों में अब तक पनप रही हैं और उन क्षेत्रों पर मंडरा रही हैं। गरीबी, एक ऐसी ही समस्या है, जो विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में समाज को असक्षम बना देती है और प्रगति में बड़ी