Hindi

Gulf-Region-America

इराक में हुए दोहरे आत्मघाती बम धमाके में ३२ की मौत बगदाद – इराक की राजधानी बगदाद में आतंकियों ने किए दोहरे आत्मघाती हमलों में कम से कम ३२ लोग मारे गए और करीब १०० घायल हुए हैं। इनमें से कुछ घायलों की स्थिति बड़ी खराब होने का दावा इराकी सुरक्षा यंत्रणा कर रही है। इसी बीच इस हमले में ‘आयएस’ के आतंकियों का हाथ होने की आशंका इराकी सेना

India-Defence

भारतीय सेना को होगी स्वदेशी ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ की आपूर्ति नई दिल्ली – रक्षा राज्यमंत्री श्रीपाद नाईक ने सेनाप्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे को एक लाख ‘बुलेट प्रूफ जैकेट’ प्रदान किए। यह सभी जैकेट स्वदेशी निर्माण के हैं और इन्हें ‘मेक इन इंडिया’ के तहत बनाया गया है। साथ ही निर्धारित समय से पहले ही इन ‘जैकेट्स’ की सेना को आपूर्ति की गई है। देश के सैनिकों की सुरक्षा के

Afghanistan

अफ़गान सेना की कार्रवाई में ४४ तालिबानी ढ़ेर काबुल – अफ़गान सेना ने नांगरहार और फराह प्रांत में कार्रवाई करके ४४ तालिबानी आतंकियों को मार गिराया है। कतार में अफ़गान सरकार और तालिबान की चर्चा शुरू होने के लिए महज़ कुछ ही दिन शेष हैं। ऐसी स्थिति में भी अफ़गान सेना और तालिबान के बीच जारी संघर्ष की तीव्रता बढ़ रही है। ऐसे में अफ़गान सेना की तालिबान के खिलाफ

Russia-aggression

‘वेस्टर्न सहारा’ से संबंधित अमरीका के निर्णय पर रशिया की आलोचना मॉस्को/अल्जिअर्स – ‘वेस्टर्न सहारा’ पर मोरोक्को की संप्रभुता को मंजूरी देने का अमरीका का निर्णय एकतरफा है। अमरीका का यह ऐलान अंतरराष्ट्रीय नियमों का उल्लंघन करनेवाला है, ऐसी आलोचना रशिया के उप-विदेशमंत्री मिखाईल बोग्दानोव ने की है। रशिया के बाद मोरोक्को के पड़ोसी देश अल्जेरिया ने भी अमरीका के इस निर्णय की आलोचना की है।  आगे पढे : http://www.newscast-pratyaksha.com/hindi/russia-criticism-of-america-decision-regarding-western-sahara/

China

चीन की शिकारी राजनीतिक नीति के खिलाफ़ अमरीका और युरोप एकजूट करें – युरोपिय महासंघ के राजदूत निकोलस शापूई बीजिंग/वॉशिंग्टन – ‘साऊथ चायना सी में चीन अपना रहे ‘वूल्फ वॉरियर डिप्लोमसी’ अर्थात् शिकारी राजनीतिक बीति के खिलाफ़ अमरीका और युरोपिय महासंघ ने एकसाथ आना आवश्यक है। साथ ही, ‘साऊथ चायना सी’ के इस क्षेत्र के देशों के साथ समन्वय बढ़ाकर चीन की ज़बरदस्ती रोकने के लिए प्रयास करने चाहिए’ ऐसा

Indian-Navy

वायुसेना ने किया ‘आकाश’ और ‘इग्ला’ का परीक्षण मुंबई – भारतीय वायुसेना ने आंध्र प्रदेश के सूर्यालंका एअरफोर्स स्टेशन से स्वदेशी ‘आकाश’ और रशियन निर्माण के ‘इग्ला’ मिसाइलों का परीक्षण किया। वायुसेना के अड्डे पर २३ नवंबर से २ दिसंबर के दौरान युद्धाभ्यास का आयोजन हुआ। इस दौरान इन मिसाइलों का परीक्षण किए जाने की बात कही जा रही है। इन मिसाइलों के परीक्षण के समय उप-वायुसेना प्रमुख एअर मार्शल