Featured Posts

और देवता चित्त न धरई। (Aur devata chitta na dharai)

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘और देवता चित्त न धरई’ इस बारे में बताया।   हमें एक करोड़ जप करने के बाद ही भगवान कृपा करेंगे ऐसा नहीं हैं। हमने जन्म में कभी भी नाम नहीं लिया है, पहली बार लिया, फिर भी वह काम करने वाला है, यह जान लो। लेकिन थोड़ी सी सबूरी रखना आवश्यक है ना! भगवान ने कभी ऐसा किया है,

कुलभूषण जाधव मामले में भारत की राजनीतिक जीत

कुलभूषण जाधव की फांसी पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की रोक नई दिल्ली: पाकिस्तान ने जासूसी और आतंकी हरकतों का आरोप लगाकर सुनवाई फांसी की सजा का अपराधी बने कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में बडी अवहेलना का सामना करना पडा है| पाकिस्तान के लष्करी न्यायालय ने कुलभूषण जाधव को सुनवाई फांसी की सजा पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने रोक लगाई है| साथ ही जाधव को वकिलों की सहायता

आपके हृदय में भक्ति का होना यह आपके लिए आवश्यक है - भाग २

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘आपके हृदय में भक्ति का होना यह आपके लिए आवश्यक है- भाग २’ इस बारे में बताया।   आप टिफीन लेके जा रहे हैं अपनी बॅग में, राईट, उस बॅग में समझो नीचे ऐसी बॅग होती है राईट, तो पीछे ऐसी बॅग है, यहाँ नीचे यहाँ टिफीन रखा हुआ है, ये जो पार्ट है वो अगर समझो टूट गया रास्ते

Alpha to Omega Newsletter - July 2019

  July 2019 From the Editor’s Desk   Hari Om Friend, ‘Shri Gurucharanamas’, the holy period of one month begins on the full moon day when Vata Pournima is celebrated during the third month of Vedic calendar namely Jyeshta Maas and concludes on the full moon day when GuruPournima is celebrated during the fourth Vedic month, the Ashadha Maas. Shree Gurucharanamas is considered as a period of festivity. This period

आपके हृदय में भक्ति का होना यह आपके लिए आवश्यक है

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘आपके हृदय में भक्ति का होना यह आपके लिए आवश्यक है’ इस बारे में बताया।   मैं आपको एक चीज़ आज बोलना चाहता हूँ, हम बहोत सारे लोगों के मन में बचपन से बैठा हुआ है ये विचार, हमें बार-बार बोला भी जाता है। आप भक्ति नहीं करोगे तो भगवान कैसे प्रसन्न होगा? गलत। भगवान को आप की भक्ति की

सीरिया से जुडी खबरें

सीरिया में रशिया ने की कार्रवाई में ५४४ लोगों की मौत – मानवाधिकार संगठनों का आरोप दमास्कस: रशिया और सीरियन लष्कर ने इदलिब एवं आसपास के हिस्सों में की हुई कार्रवाई में लगभग ५४४ नागरिकों की जान गई है, जिसमें १३३ बच्चों का समावेश है| रशिया एवं सीरियन लड़ाकू विमान रियासी क्षेत्र एवं वैद्यकीय सेवा को लक्ष्य कर रहे है, यह आलोचना मानवाधिकार संगठन ने की है| तथा सीरिया में

रामभरोसे इस शब्द का अर्थ (The Meaning of the word Ramabharose)

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘रामभरोसे इस शब्द के अर्थ’ के बारे में बताया। अभी आप बहोत सारे बच्चे एक्झाम में जाने वाले हैं, अरे बापरे! कौनसा क्वेश्चन (Question) आयेगा मालूम नहीं, क्या होगा मालूम नहीं? डरने की ज़रूरत नहीं। राम का नाम लीजिये, नहीं तो आपका अगर गुरु साईनाथ है, आप साईनाथ को मानते हैं, स्वामीसमर्थ को मानते हैं, उनका नाम लीजिये और बिनधास्त

रामनाम भय की नामोनिशानी मिटा देता है - भाग २

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘रामनाम भय की नामोनिशानी मिटा देता है’ इस बारे में बताया। और ये भी जान लीजिये, कोई भी भय जो है, जो शरीर के साथ जुड़ा है, उसका नाश किससे होता है? रामनाम लेने से होता है। मूलाधार चक्र, स्वाधिष्ठान चक्र और मणिपूर चक्र ये तीन चक्र प्रबल होने के कारण, सामर्थ्यवान होने के कारण इस भय का नाश होता

​भूमाता को प्रणाम करते समय की प्रार्थना

हरि ॐ दिनांक २७ जून २०१९ के गुरुवार के पितृवचन में सद्‌गुरु श्रीअनिरुद्ध बापु ने, भूमाता को प्रणाम करने का महत्त्व हम सबको बताया। ”यह भूमाता विष्णुजी की शक्ति है ऐसी हमारी धारणा है, यह हमारी संस्कृति है। सुबह जाग जाने पर ज़मीन पर कदम रखने से पहले भूमाता को प्रणाम करने से, दिन की शुरुआत मंगलमयी तथा पवित्रता से, अंबज्ञता से भरी होती है।” ऐसा बापु ने कहा। भूमाता

रामनाम भय की नामोनिशानी मिटा देता है

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘रामनाम भय की नामोनिशानी मिटा देता है (The Rama Naam erases the fear) ’ इस बारे में बताया। ये जो हनुमानजी हैं, हम लोग जानते है कि महाप्राण हैं। सो, मूलाधार चक्र से लेकर हमारे सहस्रार चक्र तक सभी चक्रों में इनका ही प्रवाह चलता हैं, यह तो हम लोगों ने श्रीश्वासम्‌ की पुस्तिका में लिखा हुआ है। राईट, पढ़ा हुआ

आफ्रिकी महाद्धीप में चल रहीं उलथपुलथ

नाइजेरिया में दो आतंकी हमलों में ५० लोगों की बलि अबुजा: ‘आईएस’ यह आतंकी संगठन अफ्रीका में मजबूत होने के संकेत प्राप्त हो रहे है| अफ्रीका में प्रमुख अर्थव्यवस्था में से एक के तौर पर पहचाने जा रहे नाइजेरिया में पिछले पांच दिनों में दो बडे आतंकी हमलें हुए है और इन हमलों में कम से कम ५० लोगों की बलि गई है| इन हमलों के पीछे ‘आईएस’ का हाथ

मूलाधार चक्र का लम् बीज और भक्तमाता जानकी - भाग २

सद्‍गुरु श्री अनिरुद्ध बापू ने ४ फरवरी २०१६ के प्रवचन में ‘मूलाधार चक्र का ‘लम्’ बीज और भक्तमाता जानकी’ इस बारे में बताया।   जानकी जो है, सीतामैया जो है, ये directly ‘लं’ बीज का आविष्कार है। ये वसुंधरा की कन्या होने के कारण, ये ‘लं’ बीज का मूर्तिमंत आविष्कार क्या है? तो ये ‘जानकी’ है। और उसकी शादी किसके साथ हो रही है? ‘राम’ के साथ – ‘श्रीराम’ के

अर्थजगत से जुडी खबरें

व्यापारयुद्ध की पृष्ठभूमि पर चीन ने लगातार छह महीने बडी तादाद में सोना खरीदा बीजिंग: देश के आरक्षित सोने के भंडार संबंधी अंतरराष्ट्रीय समुदाय को हमेशा अंधेरे में रखनेवाले चीन ने पिछले छह महीनों में लगातार सोने के भंडार संबंधी जानकारी प्रसिद्ध की है| इन छह महीनों में चीन ने सोने के आरक्षित भंडार में बढोतरी की है और मई महीने में भी करीबन १५.८६ टन सोना खरीदने की जानकारी

alpha-omega-newsletter-june-2019

  June 2019 From the Editor’s Desk   Hari Om Friend, Sadguru Shree Aniruddha in his discourse on the “Significance of Hanuman Chalisa in Shraddhavan’s Life” stated that a human, most of the times, becomes desperate and feels powerless. However, Mother Mahishasurmardini Chandika makes available, various ways for him to come out of this situation. One of the beautiful and the simplest way is Shree Hanuman Chalisa. Sadguru Shree Aniruddha