Current Affairs

The US-Iran Crisis

Killing Soleimani intended to avert a war, claims US President Washington: Iran claims that the killing of Major General Soleimani amounts to a declaration of war against Iran by the United States. Some other countries too echo the opinion. But as per US President Donald Trump, Soleimani was killed not to start, but to avert a war. President Trump justified his actions saying that Soleimani was responsible for bloodshed right

भारत के रक्षा क्षेत्र से जुडी गतिविधियां

सीडीएस जनरल रावत ने दिए ‘एअर डिफेन्स कमांड’ का प्लैन तैयार करने के आदेश नई दिल्ली – देश की हवाई सुरक्षा अधिक मजबूत करने के लिए ‘सीडीएस’ जनरल बिपीन रावत ने ‘एअर डिफेन्स कमांड’ का निर्माण करने के लिए प्लैन तय करने के आदेश जारी किए है| ३० जून तक यह प्लैन तैयार करने की सूचना जनरल रावत ने की है और ‘सीडीएस’ पद पर नियुक्त होने के बाद उन्होंने

The Middle East on the verge of major and wide conflict

Iran will have to pay a heavy price for the US embassy attack in Iraq: US President Donald Trump Washington/Baghdad/Tehran: ‘Previously, Iran killed a US contractor and the United States retaliated strongly against the attack. Now, Iran manoeuvred an attack on the US embassy in Iraq. Iran is entirely responsible for the attack and will have to pay a heavy price for it. This is not a warning but a

आफ्रिका से जुडी खबरें

नायजर में हुए आतंकी हमले में १४ सैनिक मारे गए निआमे: पश्‍चिमी अफ्रीका के नायजर में आतंकी संगठन ने किए हमले में १४ सैनिक मारे गए है| नायजर सेना का दल चुनावी यंत्रणा को सुरक्षा प्रदान करने के लिए तैनात किया गया था| इस दल पर आतंकियों ने हमला किया| नायजर की सेना पर इसी महीने हुआ यह दुसरा आतंकी हमला है| अफ्रीका के ‘साहेल’ क्षेत्र कहे जा रहे देशों

Syria war and involvement of Turkey

24 killed in Syrian and Russian airstrikes on Idlib Damascus: 24 people were killed in the airstrikes carried out by Syria and Russia in the rebel dominated Idlib province. The Syrian human rights organisation criticised that the dead include many children. This is the second major strike by Syria and Russia in this region. More than 12,000 people have migrated from Idlib because of these attacks. Scrapping the ceasefire imposed

भारत-अमरिका सहयोग नये मोड़ पर

अमरिकी प्रतिबंधों से ‘चाबहार’ को सहुलियत – भारत ने किया निर्णय का स्वागत वॉशिंग्टन – भारत से विकसित हो रहे ईरान के चाबहार बंदरगाह को अमरिका ने अपने प्रतिबंधों से सहुलियत प्रदान की है| अफगानिस्तान को ईंधन एवं अन्य जरूरी सामान की आपुर्ति करने के लिए यह बंदरगाह उपयोगी साबित हो रहा है और इसी कारण यह सहुलियत देने की जानकारी अमरिका के वरिष्ठ अफसरों ने साझा की है| पर,

खाड़ी क्षेत्र में तुर्की का आक्रामक रुख

लीबिया को लष्करी सहायता प्रदान होगा – तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष रेसेप एर्दोगन का ऐलान वॉशिंग्टन – ‘लीबियन हितसंबंधों की सुरक्षा के लिए लीबिया की संयुक्त सरकार को सभी तरह से लष्करी सहायता प्रदान करने के लिए तुर्की तैयार है’, यह ऐलान तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष रेसेप एर्दोगन ने किया है| लीबिया की संयुक्त सरकार के प्रधानमंत्री ‘फएझ अल सराज’ से भेंट करने के बाद तुर्की के राष्ट्राध्यक्ष ने यह ऐलान किया|

Chinese espionage

Chinese spy movements rise in Belgium, China attempts to grow influence in Europe   Brussels: Following the reports of interference in the internal matters of the United States and Australia, Chinese espionage is being exposed now, even in Europe. The Belgian intelligence agency has confirmed the report, saying that the number of spies in Europe currently is more than during the Cold War and also that their numbers are far more than those

सीरिया पर होनेवाले हमलें बढे

सीरिया-इराक सीमा पर ईरान ने किए हथियारों के भंडारों पर जोरदार हवाई हमलें – ईरान से जुडे हथियारी गुटों के सैनिक ढेर दमास्कस – सीरिया के पूर्वीय हिस्से के ‘अल बुकमल’ क्षेत्र में हुए भीषण हवाई हमलों में हथियारों के तीन भंडार राख हुए है| इस हमले में सीरिया के ईरान से जुडे हथियारी गुट के पांच सैनिक मारे जाने का दावा हो रहा है| पर, हमलें की तीव्रता देखे

हॉंगकॉंग आंदोलन के मसले पर तनाव बढ़ा

अमरिकी युद्धपोतों को हॉंगकॉंग में प्रवेश नही मिलेगा – अमरिका ने पारित किए ‘हॉंगकॉंग एक्ट’ पर चीन का जवाब बीजिंग/वॉशिंग्टन: अमरिका ने पारित किए हुए ‘हॉंगकॉंग ह्युमन राईटस् एण्ड डेमोक्रसी एक्ट’ को जवाब देने के लिए चीन ने तेजी गतिविधियां शुरू की है| इसी के पहले स्तर पर अमरिकी युद्धपोतों को हॉंगकॉंग में प्रवेश देने से इन्कार किया गया है और हॉंगकॉंग में आने की कोशिश कर रही अमरिकी स्वयंसेवी