Announcements

Aniruddha TV

हरि ॐ, आखाती देशों में स्थित श्रद्धावानों की विनती को मद्देनज़र रखते हुए, इसके बाद “अनिरुद्ध टी.व्ही.” तथा मेरे फेसबुक के माध्यम से हर शनिवार प्रक्षेपित होनेवाली उपासना, शाम ७.३० के बजाय अन्य दिनों की तरह ही रात ८.०० बजे प्रक्षेपित होगी। यानी इसके बाद, हफ़्ते के सातों दिन उपासना का प्रक्षेपण रात ८.०० बजे ही होगा, इसपर सभी श्रद्धावान ग़ौर करें। —————————————————————– हरि ॐ, आखाती देशांमधील श्रद्धावानांची विनंती लक्षात

सुंदरकाण्ड पाठ और चैत्र पूर्णिमा (हनुमान पूर्णिमा) संबंधी सूचना

  हरि ॐ, सुंदरकाण्ड पाठ का होनेवाला प्रक्षेपण: सभी श्रद्धावान जानते ही हैं कि इन दिनों शुरू चैत्र नवरात्रि (शुभंकरा नवरात्रि) में, हररोज़ शाम को अनिरुद्ध टी.व्ही. तथा मेरे फेसबुक पेज के माध्यम से, नित्य उपासना के बाद “सुंदरकाण्ड पाठ” का प्रक्षेपण किया जाता है। फिलहाल कोरोना वायरस, “कोविद – १९” ने पूरी दुनिया में ही निर्माण की हुई तनाव की परिस्थिति में, इस सुंदरकाण्ड के पाठ के कारण बहुत

Aniruddha TV

हरि ॐ, आज श्री रामनवमी असल्याच्या निमित्ताने अनेक श्रद्धावानांकडून, संस्थेतर्फे मागील काही वर्षांमध्ये साजर्‍या झालेल्या श्री रामनवमी उत्सवाची काही निवडक क्षणचित्रे पुन्हा पहावयास मिळतील का, अशी मागणी आली होती. यासाठी आज आपण सकाळी ११:१५ वाजल्यापासून या उत्सवाच्या काही व्हिडीओ क्लिपींग्स aniruddha.tv या वेबसाईट व अ‍ॅपच्या माध्यमातून दाखवणार आहोत. ह्या क्लिपींग्सचा कालावधी साधारण दीड तासाचा असेल. त्याचप्रमाणे, दुपारी १:३० वाजल्यापासून ते संध्याकाळच्या नित्य उपासनेच्या वेळेपर्यंत, म्हणजेच ८:०० वाजेपर्यंत इंटरनेट रेडिओद्वारे आपण

'प्रत्यक्ष' मधील निवडक महत्वाच्या बातम्या तात्पुरत्या स्वरूपात वेबसाईटवर

हरि ॐ, सध्या पसरत असलेल्या कोरोना वायरस, “कोविद – १९” च्या अनुषंगाने अनेक ठिकाणी वृत्तपत्र वितरण ३१ मार्च २०२० पर्यंत स्थगित करण्यात आले आहे. जोपर्यंत ही स्थिती पूर्ववत होत नाही, तोपर्यंत वाचकांच्या सोयीसाठी तात्पुरत्या स्वरूपात (on temporary basis) आपल्या दैनिक ‘प्रत्यक्ष’ मधील काही निवडक महत्वाच्या बातम्या मराठी भाषेत ’Newscast Pratyaksha’ या आपल्या वेबसाईटवर वाचायला मिळतील. या मराठी वेबसाईटची URL खालील प्रमाणे आहे. URL – http://newscast-pratyaksha.com/marathi आपण आधीपासूनच अशा निवडक महत्वाच्या

श्रद्धावानों की सुविधा के लिए उपासना इंटरनेट रेडिओ के द्वारा सुनने की व्यवस्था

हरि ॐ, आज से शुभंकरा नवरात्रि यानी चैत्र नवरात्रि की शुरुआत हुई है। इसीलिए हम हररोज़ उपासना होने के बाद २ मिनट का ब्रेक लेकर उसके बाद सुंदरकांड पठण (साधारणत: १ घण्टा दस मिनट का पठण) aniruddha.tv इस वेबसाईट और अ‍ॅप के माध्यम से दिखाने जा रहे हैं। विद्यमान हालातों में Internet पर आनेवाले Extra Load को मद्देनज़र रखते हुए और इस उपासना के लिए श्रद्धावानों के बढ़ते प्रतिसाद को

सद्‌गुरु अनिरुध्द बापूजी ने लिखे ग्रंथों की किंडल आवृत्ति उपलब्ध

हरि ॐ, आज से मोठी आई (मां चण्डिका) के उत्सव का यानी चैत्र नवरात्री का आरंभ हुआ है। श्रद्धावानो की सुविधा के लिए, बापूजी ने लिखे ग्रंथों की किंडल (Amazon Kindle) आवृत्ति की  लिंक्स आगे दे रहे हैं – १) मातृवात्सल्यविन्दानम्‌ अर्थात् मातरैश्वर्यवेद: (मराठी आवृत्ति) – https://www.amazon.in/dp/B07ZTSL47V/ref=cm_sw_r_apa_i_rGXEEbHAS2WC5 २) मातृवात्सल्यविन्दानम्‌ अर्थात् मातरैश्वर्यवेद: (इंग्लिश आवृत्ति) – https://www.amazon.in/dp/B07YG8L1VG/ref=cm_sw_r_apa_i_E8XEEb2BG48KY ३) श्रीरामरसायन (अंग्रेजी भाषा में) – https://www.amazon.in/dp/B07VLN38NZ/ref=cm_sw_r_apa_i_l9XEEb66XAR4S ————————————————————————– हरि ॐ, आजपासून मोठ्या आईचा उत्सव म्हणजेच

Aniruddha TV

हरि ॐ, आज दुनिया के सामने खड़े हुए करोना वायरस, “कोविद – १९” के जागतिक संकट की पार्श्वभूमि पर माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी देश को संबोधित करनेवाले हैं और सभी देशवासियों के लिए उसे सुनना उचित होगा । इस बात को मद्देनज़र रखते हुए अनिरुद्ध टी.व्ही. पर प्रसारित होनेवाली विभिन्न स्तोत्र एवं उपासना आज रात ८.०० के बजाय ९.०० बजे होगी, इसपर सभी श्रद्धावान ग़ौर करें । ——————————————————– हरि ॐ,

इस साल के चैत्र नवरात्रि उत्सव के बारे में सूचना

कोरोना वायरस, “कोविद – १९” की व्यापकता दुनिया भर में बढ़ी होने का चित्र फिलहाल विशेष रूप से महसूस हो रहा है। सद्‍गुरु अनिरुद्ध बापुजी के मार्गदर्शन में श्रद्धावान इस मामले में सतर्क होकर, शासन / प्रशासन द्वारा जारी की गयीं सूचनाओं तथा नियमों का भी यथाशक्ति मनःपूर्वक पालन कर रहे हैं। इस पार्श्वभूमि पर, सद्‍गुरु बापुजी के कहेनुसार, श्रद्धावान इस साल चैत्र नवरात्रि उत्सव (शुभंकरा नवरात्रि उत्सव) में “अंबज्ञ

शताक्षी प्रसादम्‌ के साथ ही एक कप हल्दीमिश्रित दूध का सेवन करना श्रद्धावानों के लिए यक़ीनन ही श्रेयस्कर

गुरुवार, दि. ६ मे २०१० रोजी श्रीहरिगुरुग्राम येथे “रामराज्य” ह्या विषयावर झालेल्या प्रवचनात सद्‍गुरु श्रीअनिरुद्ध बापूंनी “शताक्षी प्रसादम्‌” हा अतिशय महत्त्वाचा मुद्दा मांडला होता व ‘हा प्रसाद प्रत्येकाने नित्य प्राशन करावा’ असे सुचविले होते. हळद (हरिद्रा), मध, एक चतुर्थांश लसणाची पाकळी व ठेचलेली सूंठ यापासून हा प्रसाद तयार करावयाचा होता (लसणाच्या पाकळी ऐवजी आल्याचा छोटा तुकडा वापरला तरी चालेल असे स्पष्टीकरण नंतर दिले होते). शताक्षी प्रसादम्‌चे महत्त्व विषद करताना, शताक्षी

कोरोना वायरस, "कोविद - १९" की पार्श्वभूमि पर प्रशासन द्वारा दी जानेवालीं सूचनाओं का पालन करके सहायता करना आवश्यक

हरि ॐ, फिलहाल दुनियाभर में तेज़ी से फैल रहे कोरोना वायरस, “कोविद – १९” की पार्श्वभूमि पर, सद्‍गुरु अनिरुद्ध बापुजी के मार्गदर्शन के अनुसार, संस्था के सभी ऑफिसेस हमने २ दिन पहले से ही बंद किये हैं, ताकि सरकार द्वारा किये गये आवाहन का अनुसरण कर सभी श्रद्धावान आने-जाने के प्रवास को टाल सकें और घर से बाहर निकलने की ज़रूरत कम से कम रहें। उसीके साथ हॅपी होम, खार